• विधायक व पार्षद ने किया सड़क का शिलान्यास

    मुख्य समाचार

    2016-12-20-3-ssp-sn-manishकानपुर, जन सामना ब्यूरो। बर्रा 7 चौराहे पर बहु प्रतीक्षित सड़क का निर्माण कार्य का शिलान्यास विधायक व क्षेत्रीय पार्षद के कर कमलों द्वारा किया गया। इस सड़क की लम्बाई लगभग 300मीटर है तथा इसकी निर्माण लागत 15 लाख 42 हजार रुपये बताई गई। बताते चलें कि इस कार्य को विधायक निधि से करवाया जायेगा, वहीं 9 लाख रूपये से नाली और फुटपाथ के कार्य कानपुर नगर निगम के द्वारा करवाये जायेंगे। शुभारम्भ के मौके पर क्षेत्रीय जनता ने सत्यदेव पचौरी व क्षेत्रीय पार्षद मनीष शर्मा का सम्मान किया। साथ ही ढोल नगाड़े के साथ मिठाई बांटी गई। वर्षों से विकास की टोह में प्रतीक्षारत सड़क का निर्माण कार्य का शिलान्यास होने से क्षेत्रीय निवासियों में हर्ष व्याप्त हो गया। इस मौके पर पार्षद मनीष शर्मा कहा कि इसे माडल रोड बनाया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए वृक्षारोपण किया जायेगा। क्षेत्रीय निवासियों के परिजनों और बच्चों के नाम से फूलदार पेंड़ लगाए जायेंगे। § Read_More....

  • धान खरीद की समीक्षा कर दिए आवश्यक निर्देश

    मुख्य समाचार

    2016-12-20-2-ssp-sn-comisnerकानपुर, जन सामना ब्यूरो। मण्डल के सभी जिलों में धान खरीद हेतु अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एजेंसियों एवं आढ़तियों की हर दूसरे दिन क्रय सम्बन्धी समीक्षा कि जाये और जो भी समस्या आये उसका निस्तारण किया जाये। प्रत्येक क्रय एजेंसी पर किसानों को भुगतान किये जाने के लिये कम से कम सात दिन तक के भुगतान का रुपया एवं धान रखने के बोरे उपलब्ध होने चाहिए, इस सम्बन्ध में जिन एजेंसियों पर पैसा कम आया हैं उनके एमडी को पत्र लिखा जाये और उसकी प्रति प्रमुख सचिव खाद्यान को भेजी जाये। अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि किसान को रुपये बैंकों से तुरन्त मिलने चाहिए। उक्त निर्देश मण्डलायुक्त मो. इफ्तेखारुद्दीन ने अपने शिविर कार्यालय में आयोजित धान खरीद की समीक्षा बैठक में दिये। उन्होंने आर एफ सी को निर्देशित किया कि जो अधिकारी बैठक में अनुपस्थित हैं उनके विरुद्ध कार्यवाही हेतु मुख्य सचिव को पत्र लिखा जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि हर स्तर से धान की खरीद की जाये और लक्ष्य प्राप्त किया जाये। जिन जनपदों में धान क्रय की प्रतिक्रिया में कोई कमी है उसको दो दिनों में पूरी कर लें।
    मण्डलायुक्त ने किसानों को राहत देने की आवश्यकता को बल देते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसानों के साथ सहानभूति रखें क्यों कि किसान की आय का श्रोत तो उसकी फसल ही हैं। खरीद के तुरन्त बाद यह भी सुनिश्चित होना चाहिए कि किसान को तुरन्त धनराशि उपलब्ध होने के साथ – साथ भुगतान प्राप्त करने हेतु बैंकों में उनको परेशान न होने पड़े। मण्डल में धान रखीद हेतु खाद्य विभाग पंचायत सहकारी समितियां, पी सी एफ, यू पी एग्रो, एस एफ सी कल्याण निगम के अतिरिक्त स्थानीय आढ़तियों को भी नामित किया गया हैं। § Read_More....

  • साहित्यकारों का हुआ सम्मान

    मुख्य समाचार

    2016-12-20-1-ssp-sn-sahityकानपुर, जन सामना ब्यूरो। हिंदी केवल भाषा नहीं, वरन सम्पूर्ण भारती संस्कृति का प्रतिनिधत्व करती है और यही कारण है कि आज दुनिया के कई देश हिंदी सीखने के लिए भारत आ रहे हैं। यह विचार दिल्ली से आए विख्यात हिंदी सेवी तथा गांधी शांति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष कुमार प्रशांत ने साहित्य सृजन संस्था की हिंदी भाषा एवं साहित्य प्रतियोगिता तथा कृति विमर्श एवं लोकार्पण के अवसर पर व्यक्त किया। संस्था सचिव डा0 दया दीक्षत ने कहा हिंदी भाषा एवं साहित्य से युवाओं को जोड़ने तथा रूचि उत्पन्न करने के लिए इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। डा0 राजीव रंजन पाण्डे ने कहा कि आज हिंदी भारत में नहीं वरन विश्व में भी रोजगार दिलाने की सामथ्र्य में आ चुकी है। इस मौके पर कुमार प्रशांत, राजेन्द्र राव तथा सचिव दया ने प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किया। कथाकार महेन्द्र भीष्म को ‘साहित्य सृजन सम्मान-2016’ के अंतर्गत प्रशस्ति पत्र, अंगवस्त्र व प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया। पदमश्री गिरिराज किशोर की कृति बा पर कुमार ने कहा कि इस कृति के शब्द बहुत विशिष्ट है। § Read_More....

  • 2 दिन में ही कर लिया लाख का आंकड़ा पार!

    मनोरंजन

    राज महाजन के ‘मजबूरियां’ ने तोड़ा मोक्ष म्युजिक का रिकाॅर्ड
    आईएस अधिकारी ने गाया है चर्चित हो रहा यह गाना
    उत्तर प्रदेश के आईएस अधिकारी डा. हरिओम ने गाया है संगीतकार राज महाजन का ‘मजबूरियाँ’
    दिल्ली,जन सामना ब्यूरो। इंतजार हुआ खत्म। आपके सामने आ गया है मोक्ष म्युजिक का चर्चित गाना “कैसी हैं मजबूरियां”। आपको जानकर हैरानी होगी इस गाने ने मोक्ष म्युजिक के पिछले सभी गानों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है। ‘रिलीज के 2 दिन के भीतर ही इसने पार कर लिया एक लाख का जादुई आंकड़ा’। सबसे तेजी से इस आंकड़े को पार करने वाला गानाबन गया है ‘कैसी हैं मजबूरियां”।
    ‘मजबूरियां’ जिसे अपनी आवाज से सजाया है आईएस अधिकारी डाॅ. हरिओम ने. आपको बता दें हरीओम इससे पहले भी मोक्ष म्युजिक के कई गानों में अपनी आवाज दे चुके हैं। डा. हरिओम उत्तर प्रदेश के संस्कृति विभाग के सचिव हैं। संगीतकार राज महाजन ने बड़ी ही संजीदगी से इसका संगीत दिया है। इस गाने से राज दिली तौर पर जुड़े हैं। उनका मानना है कि ‘इस गाने में उनके जीवन की भी झलक देखने को मिलेगी. आगे राज कहते हैं यह गाना उन सभी के लिए है जो अपने जीवन में करना तो बहुत कुछ चाहते हैं लेकिन कर नहीं पाते। इंसान के आस-पास कितनी मजबूरियां हो सकती हैं, ये गाना उनकी बानगी भर है। उम्मीद करता हूँ आप इस गाने से खुद को कनेक्टेड महसूस करेंगे। एक आदमी जिंदगी में किस हद तक लाचार हो सकता है। बस इसी मानसिक जद्दोजहद के बारे में है गाना ‘मजबूरियां’। इस गाने में मजबूरी के हालातों से जूझते नजर आये हैं साधनाटीवी डांसिंग वार फेम अमित (दा रोबो) और अंजू टिकू। § Read_More....

..प्रकाशकः श्याम सिंह पंवार
कार्यालयः 804, वरुण विहार थाना-बर्रा जिला-कानपुर-27 (उ0 प्र0) भारत
सम्पर्क सूत्रः 09455970804
jansaamna@gmail.com ..

Search

Back to Top