Home » 2018 » July » 31

Daily Archives: 31st July 2018

नदी में डूबने से युवक की संदिग्ध परिस्थत में मौत

घाटमपुर, कानपुरः जन सामना संवाददाता। साथियों के साथ पिकनिक मना कर लौट रहा युवक रास्ते में नदी में नहाने लगा जहां डूबने से लापता युवक का दूसरे दिन शव बरामद हुआ है। स्थानीय पुलिस ने शव को परीक्षण के लिए कानपुर भेजा है। प्राप्त विवरण के अनुसार कानपुर बर्रा विश्व बैंक निवासी शैलेंद्र सचान का पुत्र हिमांशु सचान 23 वर्ष कार चालक था। हिमांशु मित्र मंडली के साथ चित्रकूट घूमने बोलेरो जीप से गया था। बताया जाता है सोमवार अपराहन बांदा से वापस कानपुर लौटते समय हिमांशु अपने ग्राम शिवराढ़ी निवासी साथी पिंटू को छोड़ने उसके गांव जा रहा था। रास्ते में बम्बुराहा गांव स्थित नोन नदी में करीब अपराहन 7रू00 बजे हिमांशु नहाने के लिए बोलेरो में कपड़े उतारकर नदी में नहानेचला गया। जहां नदी में नहाते समय हिमांशु डूबने लगा साथियों ने शोर मचाया। लेकिन हिमांशु पानी के अंदर लापता हो गया। सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस व प्रभारी निरीक्षक दिलीप कुमार बिंद ने हिमांशु की तलाश के लिए गोताखोरों को पानी में उतारा लेकिन उसका कहीं पता नहीं लगा। आज सुबह पुनः प्रभारी निरीक्षक दिलीप कुमार बिंद के नेतृत्व में पुलिस टीम बंम्बुराहा स्थित नदी पहुंची जहां थाने के सिपाही शाहबाज खान व बृजेश कुमार शाक्य ने पानी के अंदर उतरकर नदी में हिमांशु सचान की तलाश शुरू की कई घंटों की मशक्कत के बाद हिमांशु का शव घटनास्थल से करीब सौ मीटर की दूरी पर झाड़ियों में फंसा मिल गया। § Read_More....

Read More »

सरकार के आदेशों की शराब ठेकों पर उड़ रहीं धज्जियां

⇒आदेश का बना मजाक ठेकों में नियत समय के पहले और बाद में धड़ल्ले से बेची जाती है शराब
⇒भीड़ बढ़ते ही झोले में बोतले ला कर बाहर दी जाती हैं खरीदारो को
⇒सुबह पॉच बजे से शुरू हो जाती है शराब की बिक्री

कानपुरः अर्पण कश्यप। सरकार के आदेशों की धज्जियां शराब ठेकों पर उड़ती देखी जा सकती हैं। लालच के चक्कर में शराब ठेकों पर चोरी छिपे भी शराब बेचनें के नजारे आ रहे हैं और नियमावली को ताक पर रखा जा रहा है। शराब बिक्री का समय निर्धारित होने के चलते शराब बिक्री पर काफी असर पड़ा था जिस नुकसान की पूर्ति करने के लिये ज्यादातर ठेका संचालकों ने नया तरीका निकाला निकाल लिया है और सरकारी आदेश को लात मारते हुये दीवार में सेंध कर सुविधा शुल्क के साथ धड़ल्ले से बेंची जा रही शराब की बोतलें। गोविन्द नगर, बर्रा, जनता नगर व आसपास के सभी ठेकों का यही हाल है समय से पहले या बाद में अगर बोतल चाहिये तो सुविघा शुल्क भरिये और शराब की बोतल लीजिये। जानकारी करने पर ठेका कर्मी से जवाब मिला कि पुलिस और आबकारी विभाग के मिली भगत से ही शराब बिक्री हो रही है। नियमावली के चलते घाटा हो रहा है और इसी की भरपाई करने के लिए सबकुछ करना पड़ता है। § Read_More....

Read More »