Home » मुख्य समाचार » भारत को गौरवान्वित करने का दिवस, 21 जून अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस

भारत को गौरवान्वित करने का दिवस, 21 जून अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस

मीरजापुर, संदीप कुमार श्रीवास्तव। स्थानीय नारघाट स्थित, शहीद उद्यान में चल रहे योग शिविर के समापन समारोह के अवसर पर, समाज सेवी, उधोगपति एवं संस्था के अध्यक्ष सी0पी0 गुप्त ने नगर के वरिष्ठ योगाचार्य प्रमोद अग्रवाल जो कि मनसाराम गुप्त योग समिति के भी योगाचार्य हैं। को मल्यार्पण कर केवल योगाचार्य को ही सम्मानित नही किया बल्कि योग को सम्मानित किया। समारोह संचालक डा0 गणेश अवस्थी ने योग के विषय मे यह बताया कि योगाभ्यास के द्वारा व्यक्ति किसी भी कार्य को कुशलतापूर्वक कर सकता है और योग की परिभाषा ’योगसु कर्म कौशलम’ को चरितार्थ कर सकता है।    योगाचार्य प्रमोद जी ने कहा कि आज का दिन कितना महान है और यह दिन समस्त भारतवासियों के लिए गौरव का दिन है। पूरे विश्व ने बहुमत से हमारे देश की संस्कृति, एवं प्राचीन सभ्यता की देन योग को, उसके लाभ को जानकर मान्यता प्रदान किया और इस 21 जून को पूरे विश्व में योग दिवस मनाने का निश्चय किया। यह हम भारतवासियों के लिए कितना गौरव का विषय है और हम क्यों न गौरवान्तित समझें। इस योग को वैश्विक स्तर पर मान्यता दिलाने में हमारे देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री मोदी का प्रयास प्रसंशनीय एवं सराहनीय है। योगाचार्य ने बताया कि योग से अनुशासन में रह कर अपने अन्दर शान्ति स्थापित कर सकता है। मानसिक विकृति को दूर कर पूरे विश्व में सद्भाव व सहयोग की भावना पैदा कर शान्ति स्थापित कर सकता है। उन्होंने आयुष विभाग द्वारा निर्धारित सभी आसनों, प्राणायाम कपालभाँति व ध्यान के बारे में विधिवत ज्ञान देकर उनके लाभ व सावधानियों पर प्रकाश डाला। शिथलीकरण के अभ्यास, ग्रीवाचालन, स्कंध-चालन, कटि चालन, घुटना चालन के साथ योगासनों में ताड़ासन, वृक्षासन, पाद हस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन, भद्रासन, वज्रासन, अर्ध-उष्ट्रासन, उष्ट्रासन, शशांकासन, वक्रासन, मकरासन, भुजंगासन, शलमासन, सेतुबन्धासन, उत्तानपाद आसन अर्ध-हलासन, पवन मुक्तासन, शवासन, इत्यादि का अभ्यास कराया। शिविर में सैकड़ों की संख्या में पुरूष व महिला, सम्मिलित हुये। अभ्यास का सत्र बड़ा ही अनुशासन के साथ शान्तिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुआ। उक्त अवसर पर, डा0 गणेश अवस्थी, सी0पी0 गुप्ता, कैलाश महेश्वरी, गोविन्द सेठ, उदय टण्डन, रोशन लाल, गोपाल जी कांस्यकार, सोमेश्वर मिश्र एड0, सचेन्द्र सिसोदिया, राजेश गुप्ता, बैकुण्ठ गुप्ता, सुभास गुप्ता, पप्पू तिवारी, माया मिश्रा, अंजू श्रीवास्तव, अमोली, सलोनी श्रीवास्तव, नव्या, अनुष्का, ऊषा शुक्ला, प्रियंका तिवारी एवं गीता बरनवाल इत्यादि प्रमुख थे।