Sunday, November 18, 2018
Home » मुख्य समाचार » विप्र समाज के लोग मिले पुलिस कप्तान सेः आरोप

विप्र समाज के लोग मिले पुलिस कप्तान सेः आरोप

दबंग डरा धमका रहे पीड़ित परिवार कोः मांग
हाथरस, नीरज चक्रपाणि। ब्राह्मण समाज के तमाम लोग आज पुलिस कप्तान से तहसील सदर पर आयोजित तहसील दिवस के दौरान मिले और उन्हें एक ज्ञापन सौंपा तथा एक प्रधान संगठन के नेता व एक विद्यालय संचालक पर धमकाने व अवैध कार्य कराने को दबाब डाले जाने की शिकायत की।
पुलिस कप्तान सुशील घुले से मिलकर ब्राह्मण समाज के तमाम लोगों ने उन्हें एक ज्ञापन सौंपा और कहा कि कस्बा मुरसान में एक विद्यालय में विप्र समाज की एक शिक्षिका पढाती थी। आरोप है कि विद्यालय संचालक व उसकी पत्नी तथा भाई के सहयोग से शिक्षिका को अपने साले के चंगुल में फंसवा दिया और प्यार का नाटक कर लडकी अपने पक्ष में कर लिया तथा घटना की रिपोर्ट थाना मुरसान में दर्ज करायी गई और लडकी कानूनी कार्यवाही के तहत मेडीकल हेतु जिला अस्पताल में परीक्षण हेतु लाया गया था।
ज्ञापन में आरोप लगाते हुए कहा गया है कि गांव ताजपुर के प्रधान दबंग हैं तथा गत दिनों लडकी को मेडीकल हेतु लाया गया तो उक्त प्रधान ने अपने साथियों सहित वहां पर आकर लडकी को धमकाया और लडकी के भाई के साथ मारपीट भी की जिसकी सूचना थाना हाथरस गेट पुलिस को दी गई थी।
विप्र समाज के लोगों ने पुलिस कप्तान से शिकायत करते हुए कहा है कि आरोपी लोग पीडित लडकी पक्ष को डरा धमका रहे हैं और पैसों की डिमाण्ड कर रहे हैं और उन्होंने पुलिस कप्तान से मांग की है कि पीडित परिवार के जानमाल की रक्षा की जाये और आरोपियों पर कडी कार्यवाही की जाये।
पुलिस कप्तान से मिलने वालों में ब्राह्मण एकता परिषद अध्यक्ष रामनिवास रावत, सुरेन्द्र शर्मा कबाडी बाबा, हरी शर्मा, दिनेश शर्मा, योगेन्द्र कुमार शर्मा, के.के. दीक्षित, पूर्व अध्यक्ष प्रशांत शर्मा, गिर्राज किशोर शर्मा, कृष्ण कुमार, सुरेशचन्द्र, देवेन्द्र शर्मा, मृदुल, मुकेश कुमार, पवन कुमार रावत, कन्हैया शर्मा, शान्तनू कौशिक, डेविड, बंटी रावत, रामकिशन, गिरीश, उमेश तिवारी, गिरीश शर्मा, मोनू शर्मा आदि तमाम लोग प्रमुख थे।