Wednesday, October 17, 2018
Home » मुख्य समाचार » गांव में पसरा रहा सन्नाटा, मौत के बाद नहीं जले चूल्हे

गांव में पसरा रहा सन्नाटा, मौत के बाद नहीं जले चूल्हे

मृतक के घर में लगा रहा आने-जाने वालों का तांता
अस्पताल में भर्ती घायलों को देखने पहुंचे लोग
टूंडला, जन सामना ब्यूरो। सिलेंडर में लगी आग से जलकर हुई युवक की मौत के दूूसरे दिन गांव में चूल्हे नहीं सुलगे। मृतक के घर आने-जाने वालों का तांता लगा रहा। अस्पताल में भर्ती घायलों को देखने भी लोग पहुंचे।
शुक्रवार शाम सुभाष चैराहा पर वीरेन्द्र स्वीट काॅर्नर के गोदाम में लगी भीषण आग में नगला छैंकुर अनवारा निवासी कृष्ण मुरारी पुत्र अमर सिंह बघेल की मौके पर मौत हो गई थी। सुखदेव, गिर्राज निवासीगण गढ़ी भक्ति, राकेश, संतोष, बंटी निवासीगण नगला छैंकुर आग में झुलस गए थे। झुलसे हुए लोगों को एफएच मेडिकल काॅलेज में भर्ती कराया गया था। जहां उनका उपचार चल रहा है। हादसे के दूसरे दिन गांव में मातमी सन्नाटा पसरा रहा। गांव में चूल्हे नहीं जले। मृतक की पत्नी और बच्चों की आंखों के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। बच्चों को देखकर हर किसी की आंख नम हो रही थीं। मासूम दरवाजे पर ऐसे खड़े थे जैसे मानो वह पिता के वापस घर आने का इंतजार कर रहे हों। बेसुध पत्नी रो-रोकर कई बार बेहोश हो गई। आस-पास की महिलाएं उन्हें ढ़ांढ़स बंधाती नजर आईं। घायलों को देखने के लिए भी लोग अस्पताल पहुंचे।