Sunday, March 24, 2019
Home » मुख्य समाचार » भगवान परशुराम शोभायात्रा के अतुल शर्मा चुने अध्यक्ष

भगवान परशुराम शोभायात्रा के अतुल शर्मा चुने अध्यक्ष

हाथरस, नीरज चक्रपाणि। ब्राह्मण महासभा की एक बैठक आज चावड गेट स्थित नई धर्मशाला पर पूर्व अध्यक्ष उदयवीर शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें भगवान परशुराम शोभायात्रा के प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी भव्यता से निकालने के लिए चुनाव अध्यक्ष के लिए कराया गया।
बैठक का शुभारम्भ भगवान परशुराम के छविचित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया गया तथा बैठक में पूर्व अध्यक्ष किशनलाल शर्मा ने कहा कि इस बार भगवान परशुराम शोभायात्रा 2019 के अध्यक्ष का चुनाव चावड गेट क्षेत्र से होना है जो कि भव्यता से परशुराम शोभायात्रा को निकाल सके और उन्होंने अध्यक्ष पद के लिए युवा विप्र अतुल शर्मा चौपईया वालों का नाम प्रस्तावित किया और अतुल शर्मा के नाम पर किशनलाल शर्मा ट्रांसपोर्ट वाले, विष्णु गौतम, पप्पन पहलवान, संजीव पंडित, डा. विकास कौशिक, पूर्व अध्यक्ष प्रवीन कौशिक, पूर्व संयोजक ब्रजेश वशिष्ठ, पूर्व अध्यक्ष मुकेश दीक्षित भट्टा वाले, श्याम पंडित, कलुआ गुरू ने समर्थन किया और अतुल शर्मा को सर्वसम्मति से शोभायात्रा अध्यक्ष चुना गया।
नवनिर्वाचित अध्यक्ष अतुल शर्मा का फूल मालाओं से लादकर जोरदार स्वागत किया गया और उन्होंने कहा कि मेला इस बार किसी भी भेदभाव से दूर होगा और सभी व्यक्तियों को साथ लेकर निकाला जायेगा। यह मेला सभी का है और सभी लोग सहयोग करें।
बैठक में गिरीश पचौरी, दिनेश शर्मा, ओ.पी. शर्मा, सुरेश मास्टर, गोपाल शर्मा, दुर्गादत्त उपाध्याय, विश्वनाथ पुरोहित, वीरेन्द्र बौहरे, कपिल चतुर्वेदी, सुभाष शर्मा, दीपक शर्मा, रामसहाय उपाध्याय, विष्णु गौतम, शरद उपाध्याय नन्दा, शोभित उपाध्याय, मुनेन्द्र उपाध्याय, साकेत पाराशर, अनिल शर्मा, राकेश दीक्षित, अविनाश पचौरी, सतीश भाटिया, अरूण शर्मा, रौबी शर्मा, रामनिवास शर्मा, नवरत्न बौहरे, राकेश उपाध्याय, पवन गौतम, विशाल सारस्वत, रामा पहलवान, अवधेश चतुर्वेदी, दुष्यंत शर्मा प्रधान, विकास शर्मा, गोपाल शर्मा, राजू शर्मा, ऋषि पंडित, भगवती श्रोती, पूसी बौहरे, निशांत उपाध्याय, सुनील चतुर्वेदी, कमल पालीवाल, रवि सारस्वत, अशोक सारस्वत, विनोद दीक्षित, रवेन्द्र पचैरी, मोरमुकुट शर्मा, बौबी प्रधान, कपिल मोहन गौड, त्रिवेन्द्र तिवारी, महावीर प्रसाद गौतम, लवकुश शर्मा, धीरेन्द्र पाठक, योगेश गौतम व रामेश्वर सारस्वत आदि विप्र मौजूद थे।