Friday, October 19, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » पानी की किल्लत को लेकर जल निगम कर्मचारियों और क्षेत्रीय पार्षद का घेराव

पानी की किल्लत को लेकर जल निगम कर्मचारियों और क्षेत्रीय पार्षद का घेराव

कानपुर, धर्मेन्द्र रावत। कानपुर दक्षिण क्षेत्र के अंतर्गत गुंजन विहार के लोगों ने पानी की किल्लत को लेकर जल निगम कर्मचारियों और क्षेत्रीय पार्षद का घेराव किया। दर असल यहां के लोग प्यासे है। बुंदेलखंड की तरह इन्हें भी पानी के लिए अपने घरों से दूर जाना पड़ता है। महानगर में पानी का कोई संकट नहीं है। फिर भी बर्रा-6 गुंजन विहार के पूरे इलाके को पानी के लिए संघर्ष करना पड़ता है। कारण इलाके की क्षेत्रीय राजनीती है। यहां पर रहने वाले लोगों का आरोप है कि वार्ड-67 क्षेत्र की पार्षद दीपा द्विवेदी कभी क्षेत्र में नहीं आती लेकिन उनके पति देवेन्द्र द्विवेदी जरूर पार्षद पत्नी की जगह रौब जमाते घूमते रहते है। इतना ही नहीं जिन जगहों से उनकी पत्नी को चुनाव में कम वोट मिले है। वहां सुविधाएं न पहुँच सके इसके लिए विशेष तौर पर अड़ंगा भी लगाते रहते है। क्षेत्र में लगे हैंड पम्प मानों मूर्ति मात्र लगे हुए है।

28 वर्षों से यहां पर पानी के लिए लोगों को जदोजहद करनी पड़ रही है। स्थानीय लोगों के संघर्ष के बाद प्रशासन से एक उम्मीद की किरण ने सवेरे का संकेत दिया और जल निगम के अधिकारी ने यहां पर पाइप लाइन डालने के लिए खुदाई करना शुरू किया। स्थानीय लोगों का आरोप है। जैसे ही यह बात पार्षद के पति को पता लगी तो उन्होंने काम को रुकवा कर अधिकारियों जाने को कहा। क्षेत्र में रहने वाले लोगों ने इसका जम कर विरोध किया और पार्षद के पति और जल निगम कर्मियों को घेर लिया। बवाल बढ़ता देख पार्षद पति ने पुरानी पाइप लाइन ना मिलने के कारण का हवाला देते हुए नई पाइप लाइन का लोगों को आश्वासन देते हुए काम जल्द करवाने की बात कही।
आपको बताते चले वार्ड-67 के अंतर्गत गुंजन विहार बर्रा-6 में निर्माण से लेकर आज तक जलापूर्ति की कोई व्यवस्था न होने के कारण क्षेत्र की जनता को पानी के लिए दूर-दूर भटकना पड़ता है। जलकल एवं जल निगम विभाग द्वारा पानी का कनेक्शन की पाईप लाइन आज तक नहीं डाली गई। जिसके कारण से लोगों को स्वच्छ पीने का पानी के लिए कष्ट झेलना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों ने बताया पूर्व पार्षद के अथक प्रयास से जनता की पीड़ा को देखते हुए कार्य जल निगम द्वारा प्रारम्भ कराया जा रहा था। जिसे मौजूदा पार्षद ने रूकवा दिया जिसके कारण जनता में भारी रोष है।
जलकर विभाग द्वारा प्रति कनेक्शन रू. 6000 से 7000 की मांग की गई जिसके विरोध में वार्ड-67 के लोगों ने मंगलवार और बुधवार को जल कल अधिकारियों के विरोध में प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन करने में मुख्य रूप से रेखा, गुलशन कुमार, सोनू मिश्रा, अंकित श्रीवास्तव, पप्पू मिश्रा, शैलेन्द्र मिश्रा, रानी भटनागर, गुड्डू आदि क्षेत्रीय लोगा शामिल रहे।