Home » मुख्य समाचार » भागवत कथा में कहीं गोर्वधन पूजा तो रामकथा में सुन्दर काण्ड

भागवत कथा में कहीं गोर्वधन पूजा तो रामकथा में सुन्दर काण्ड

फिरोजाबादः जन सामना संवाददाता। शहर में चल रही अलग -अलग स्थानों पर श्रीमद् भागवत गीता ज्ञान यज्ञ, श्रीराम कथा ज्ञान यज्ञ के दौरान कहीं गोवर्धन पूजा तो कही राम राज्य की कथा का वर्णन व्यास महाराज द्वारा किया गया। भक्तों ने भी भगवान लीला का वर्णन बडे ही ध्यान से सुना।
बताते चले कि रामलील मैदान में विगत कई दिनों से चल रही श्रीरामकथा ज्ञान यज्ञ के दौरान वृन्दावन की पावन भूमि से पधारे श्री रामकथा वाचकःभावत भास्कर बृज बिहारी महाराज ने अपने मुखार बिन्दू से सुन्दर काण्ड में हनुमान लीला का वर्णन सुनाया। हनुमान के मध्यम से ही सीता माता का पता चला उसके बाद हनुमान की लीला बाल समय से लेकर लंका दहन के बाद रावण युद्ध के दौरान लक्ष्मण शाक्ती रामलक्ष्मण को नाग फांस में बाधना उसके बाद अन्त में युद्ध के बाद जीत होने पर आयोध्या में आकर रामराज्य का वर्णन सुनाया। इस मौके पर भक्त गणों में मुख्य यजमान कृष्ण मुरारी उपाध्याय, जगदीश प्रसाद उनकी पत्नी, मुन्ना लाल गुप्ता संजय शर्मा, राकेश यादव, नेता जी, पवन गुप्ता, संजय पोरवाल, शशीकान्त शर्मा, अजय अग्रवाल, रतनसिंह यादव, राजेश तौमर, मुकेश प्रजापति, दिनेश प्रजापति, अंकित पालीपाल, पिक्की पालीवाल, नितिन अग्रवाल आदि थे।
पेमेश्वर गेट भगवान देवी धर्मशाला में चल रही श्रीमद भागवत गीता कथा के दौरान व्यास मुनि प0 मुनेश दीक्षित हिरनगांव द्वारा भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए बचपन में इन्द्र देव का अभिमान चूर करने के लिए गोर्वधन पूजा करायी। सात दिन से हुई बारिस में गोर्वधन क्षेत्र में एक बूद पानी नही मिला। क्यो कि भगवान ने अपनी हाथ से गिरधर का उठा लिया था। जिसके नीचे सभी भक्तों को छुपा लिया। उसके बाद भागवान कृष्ण का रूकमणी संग विवाह की लीला का वर्णन सुनाया। इस मौके पर मुख्य यजमान जिला कुश्ती रैफरी रघुनन्दन पहलवान सह पत्नी इन्द्रवती, यज्ञपति जशराज सह पत्नी मौजूद रहे। क्षेत्रीय सैकडों कथा स्त्रोताओं द्वारा गोवर्धन पूजा के साथ परिक्रमा भी की गयी।