Tuesday, October 23, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » हेमलता त्रिपाठी विकलांग की पुकार विशिष्ठ सम्मान से सम्मानित

हेमलता त्रिपाठी विकलांग की पुकार विशिष्ठ सम्मान से सम्मानित

मुंबई, जन सामना ब्यूरो। मुंबईः कवयित्री, लेखिका और अखबार ’’विकलांग की पुकार” की लखनऊ रिपोर्टर हेमलता त्रिपाठी पिछले दिनों मुंबई में थी। इस दौरान उन्हें विकलांग की पुकार विशिष्ठ सम्मान से सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता व अखबार के संरक्षक प्रेम शुक्ल और एस्ट्रालाजी टुडे के संपादक डॉ पवन त्रिपाठी ने विलेपार्ले पूर्व में प्रदान किया। इस अवसर पर कार्यकारी संपादक सरताज मेहदी और प्रबन्ध संपादक राजेश विक्रांत भी मौजूद रहे।
बता दें कि देश की प्रथम मीडिया डायरेक्टरी ’पत्रकारिता कोश’ के ’लखनऊ सूचना ब्यूरो’ तथा आई. ई. एन. चैनल, लखनऊ में एंकर के रूप में कार्यरत हेमलता त्रिपाठी की कविताएं, कहानियां व लेख मुक्ता, दोपहर का सामना, विकलांग की पुकार, अग्निशिला, चारभुजा टाइम्स, वृत्त मित्र, राष्ट्रीय अधिकार, कर्म कसौटी, द मोरल, शिखर सत्ता, प्रदेश विस्तार, जन सामना, सरयूपारीण समाचार, मुंबई मित्र, नई पीढी, दो बजे दोपहर, खबरें पूर्वांचल, गऊ भारत भारती, मुंबई अमरदीप, हिन्द स्वाभिमान, हिंदी विवेक आदि पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं। मुंबई में उन्हें दोपहर का सामना कार्यालय में लोकायन काव्य रत्न से भी सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान दोपहर का सामना के निवासी संपादक अनिल तिवारी, सहायक संपादक प्रेमचंद शर्मा और लोकायन के महासचिव अभय मिश्र ने प्रदान किया।
बता दें कि हेमलता त्रिपाठी की कविताओं का संग्रह “इंर्द्धनुष” भारत पब्लिकेशन, मुंबई द्वारा प्रकाशकाधीन है। राइटर्स एंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन-वाजा इण्डिया की महाराष्ट्र इकाई की तरफ से वे मुंबई में 8 अक्टूबर 2017 को ’काव्य गौरव सम्मान’-2017 से सम्मानित हो चुकी हैं। साथ ही उन्हें नई दिल्ली के विश्व पुस्तक मेला-2018 में हिंदुस्तानी भाषा अकादमी सम्मान भी मिला है। उन्होंने सुप्रसिद्ध गजलकार हस्तीमल हस्ती के व्यक्तित्व व कृतित्व पर बने वृत चित्र ’ये जो हैं हस्ती’ के लिए शोध किया है। मुंबई दौरे में उन्हें गऊ भारत भारती के प्रधान संपादक संजय अमान ने भी सम्मानित किया। साथ ही अंधेरी पूर्व में दो बजे दोपहर के स्थानीय संपादक सैयद सलमान, टी वी पत्रकार जय प्रकाश सिंह, विकलांग की पुकार के कार्यकारी संपादक सरताज मेहदी, सलाहकार धर्मेंद्र पांडेय और साहित्य प्रेमी नूर हसन द्वारा साहित्य मिलन सम्मान से भी सम्मानित किया गया।