Sunday, November 18, 2018
Home » मुख्य समाचार » क्या ऐसा भी होता है आरएसएस में युवा नेता ने दिया हिन्दू जागरण मंच से इस्तीफा

क्या ऐसा भी होता है आरएसएस में युवा नेता ने दिया हिन्दू जागरण मंच से इस्तीफा

सुगम शिवहरे।

व्यक्त की अपनी पीड़ा-आरएसएस के दो पदाधिकारी कर रहे उनका उत्पीड़न
फिरोजाबाद, एस. के. चित्तौड़ी। युवा सुगम शिवहरे ने हिन्दू जागरण मंच से इस्तीफा देते हुए अपनी पीड़ा डालने शब्दो मे कुछ इस तरह बयां की।
उन्होंने कहा कि वे हिंदू जागरण मंच और उसके जिला अध्यक्ष अतुल यादव हिंदू जागरण मंच के जिला महामंत्री अमित गुप्ता का बहुत-बहुत आभारी हैं जो उन्हें जिला उपाध्यक्ष बनाया और आरएसएस के लिए सेवा करना भी मेरे खून में समाया है मेरे पिता श्री स्वर्गीय सुभाष चंद्र जी स्वयं सेवक थे और 10-10 दिन 15- 15 दिन के शहर के बाहर प्रवास भी करते थे मुझे कहने में कोई संकोच नहीं है कि मुझे आरएसएस के दो पदाधिकारी द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है जिनके अंदर बिरादरी वाद कूट कूट कर भरा है। बार-बार मुझे गलत टोकाटाकी की जा रही है किन्हीं ऐसे लोगों को बढ़ाने के लिए जो कि उनकी बिरादरी के हैं और वह लोग भाजपा और आरएसएस को हमेशा गालियां देते रहे हैं उन्होंने आरएसएस और भाजपा के लोगों के साथ मारपीट भी की है उन्हीं लोगों के कारण मुझे बार बार अपने क्षेत्र में काम करने से रोका जा रहा है मैं आरएसएस का बहुत सम्मान करता हूं आरएसएस की वजह से हमारा हिंदुस्तान बचा हुआ है हम हिंदू बचे हुए हैं आरएसएस जैसा महान संगठन कोई हो नहीं सकता इन्हीं चीजों को ध्यान में रखते हुए मैं आरएसएस का सम्मान करते हुए और महोदय का नाम नहीं खोल रहा हूं और अपने जिला उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा देता हूं मेरी कोई भी गलती हो उसे आप क्षमा करें मेरा इस्तीफा स्वीकार करें आपकी और संगठन की अति कृपा होगी लेकिन जहां भी आपको मेरी जरूरत पड़ेगी मैं बगैर पद के काम करूंगा , संगठन की सेवा करूंगा। इन शब्दों के साथ सुगम शिवहरे ने एक बात तो साफ कर दी है कि उनका उत्पीड़न तो हुआ है।