Wednesday, October 17, 2018
Home » मुख्य समाचार » आगे आने वाले दिनों में कार्यालय पेपर लेस व ई-आफिस मैनेजमेंट से होंगे: केदारनाथ

आगे आने वाले दिनों में कार्यालय पेपर लेस व ई-आफिस मैनेजमेंट से होंगे: केदारनाथ

ई-आफिस मनेजमेन्ट का प्रशिक्षण गंभीरता से ले अधिकारी व कर्मचारी: सीडीओ
कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ई-आफिस पर आयोजित कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी केदारनाथ सिंह ने ई- आफिस का प्रशिक्षण ले रहे अधिकारियों और कर्मचारियों से कहा कि प्रदेश सरकार शासन प्रशासन ई-आफिस फाइल मनेजमेन्ट के प्रति पूरी तरह से गंभीर है। सरकार सभी समस्त फाइलों को कम्प्यूटरीकृत कर पेपर लेस व पारदर्शी व्यवस्था को लागू करने के लिए ई-आफिस कार्यप्रणाली 15 अगस्त से लागू कर देगी। इसी उद्देश्य से ई-आफिस का प्रशिक्षण जनपद के समस्त जिलों में अधिकारियों और कर्मचारियों को दिला रही है। अतः प्रशिक्षण ले रहे कर्मचारी ई-आफिस फाइल मनेजमेन्ट को भली भांति जान ले तथा शासन व सरकार की मंशा के अनुरूप ई-आफिस कार्यो को गति दे। आगे आने वो दिनों में कार्यालय पेपर लेस व ई-आफिस मनेजमेन्ट से भरपूर होंगे। ई-आफिस प्रशिक्षण के लिए डिजिटल सिग्नेचर भी जरूरी है सभी अधिकारी व कर्मचारी ई डिजिटल सिग्नेचर के बारे में डीएसटीओ से सम्पर्क कर अपना डिजिटल सिग्नेचर बनवा ले तथा ई आफिस के माडल, कम्प्यूटर प्रणाली को भली भांति जान ले। ई आफिस संबंध प्रशिक्षण लेटर, आडर, सिलेक्टर करने के साथ ही ई फाईल में टाइपिंग कार्य हिन्दी अग्रेंजी में सिटिंग के माध्यम से कर सकते है।
मुख्य विकास अधिकारी केदारनाथ सिंह ने कहा कि ई-आफिस सिस्टम को जानने के लिए सिस्टम में जावा इनस्टाल कराने के साथ ही उसको निरंतर अपडेट भी करते रहना है। फाइल ओपन और बन्द करने का कार्य भली भांति जान ले इसके आवा एडिट रिस्टार्ट माडल आफिस, माडल आफ ई-आफिस, फाईल्स, इनबाॅक्स, क्रेडिट, पार्केट, क्लोस, सेन्ट, फिजिक्ल फाइल, इलेक्ट्रानिक फाइल, क्रीट फाइल, लेटर इन जनरेट सेन्ट करना भी प्रशिक्षण के माध्यम से कर्मचारियों को प्रशिक्षण ले रहे मो0 राशिद ने स्क्रीन के माध्यम से बताया। इस मौके पर एडी सूचना प्रमोद कुमार, डीडीओ अभिराम त्रिवेदी, जिला विज्ञान अधिकारी हितेश शंकर पाण्डेय, डीआईओएस अरविन्द कुमार द्विवेदी, डीपीओ राकेश यादव, जगदीश यादव, जिला समाज कल्याण अधिकारी, एओडीआईओएस एके द्विवेदी, प्रीति सिंह आदि अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।