Sunday, November 18, 2018
Home » मुख्य समाचार » जिलाधिकारी ने विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की

जिलाधिकारी ने विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की

कानपुर नगर, जन सामना ब्यूरो। जनपद में नये तालाब खोदे जाये, चारागाह की भूमि पर सघन वृक्षारोपण किया जाये। कटरी के गांवों में लेमन ग्रास की खेती कराई जाये इसके लिये वहां के किसानों के साथ चैपाल लगाकर लेमन खेती के लाभ विषय में विस्तार से जानकारी दी जाये। समस्त विकास खण्डों में नर्सरी की स्थापना करायी जाये तथा विकास खण्डों में मॉडल खेलो के मैदान बनाये जाये। हैंड पम्पों के समीप जल भराव न हो इसके लिए प्रभावी कार्यवाही करें। जनपद के शव वाहन लगातार चलते रहे इसके लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी गम्भीर रहे। कौशल विकास योजना के प्रशिक्षित कम्प्यूटर ऑपरेटरों से कार्य ले, तथा यूनिफार्म केवल कौशल विकास से प्रशिक्षित महिलाओं से ही बनवाये बीएसए इस बात का विशेष ध्यान रखें।
उक्त निर्देश जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए जनपदीय अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में 2 शव वाहन हैं जो लगातार चलते रहे इसके लिए किसी भी प्रकार की समस्या नही आनी चाहिए यदि कोई समस्या हो तो तत्काल निस्तारित कराये, किसी भी स्थिति में दवाओं की कमी न रहे इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने बीएसए को निर्देशित करते हुए कहा कि जो नये सेशन में बच्चो की यूनिफार्म बनाया जाना है। वह कौशल विकास योजना से प्रशिक्षित लाभार्थी से ही बनवाई जाये। उन्होंने बीएसए को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रो में चैपाल लगाकर उनके अभिभावकों के सामने प्राइवेट स्कूल के बच्चो तथा सरकारी स्कूल के बच्चों की प्रतियोगिता कराई जाये ताकि उन्हें भी पता चले कि प्राइवेट स्कूल से ज्यादा तेज बच्चे सरकारी स्कूल के है। उन्होंने कहा की बच्चो के पंजीयन बढाने के लिए अभिभावकों को जागरूक करे इसके लिए ग्राम पंचायत अधिकारी तथा अन्य अधिकारियों को घर घर जाकर यह बताए कि प्राइवेट स्कूलों की अपेक्षा सरकारी स्कूलों में अच्छी पढ़ाई हो रही है। उन्होंने ब्लाक वार नर्सरी बनवाने के निर्देश पीडीडीआरडीए को दिये।
जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री सड़क ग्राम योजना की समीक्षा करते हुए लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया कि सड़क बनाते समय सड़को के दोनों ओर सघन वृक्षारोपण कराया जाये और सड़क किनारे पटरियों का काम भी किया जाये ताकि रोड मजबूत रहे। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रो में पेयजल व्यवस्था दुरुस्त कराने के लिए खराब पड़े हैंड पम्पो को रिबोर कराने निर्देश दिये तथा पाईपलाइन पेयजल योजना से जलापूर्ति कराने निर्देश दिये। उन्होंने समस्त ग्रामों को ओडीएफ (खुले में शौच मुक्त) कराने के लिये इस कार्य में लगे सभी विभागों कड़े निर्देश देते हुए कहा की शौचालय निर्माण तेजी से पूर्ण करा दिया जाये। उन्होंने राज्य पोषण मिशन, सिंचाई विभाग, नगर निगम, डूडा, समाज कल्याण विभाग आदि विभागों के कार्यो की समीक्षा की।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनंद, मुख्य चिकित्सा अधिकारी अशोक शुक्ला, जिलापंचायत राज अधिकारी, लोक निर्माण विभाग आदि अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।