Tuesday, November 13, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » नगर विकास मंत्री ने जेड़ाझाल प्लांट का किया निरीक्षण

नगर विकास मंत्री ने जेड़ाझाल प्लांट का किया निरीक्षण

फिरोजाबाद, जन सामना ब्यूरो। संसदीय कार्य नगर विकास शहरी समग्र विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन उ0प्र0 सुरेश कुमार खन्ना ने शनिवार को विभागीय अधिकारियों के साथ जनपद में चल रही अत्यन्त महत्वपूर्ण परियोजना जेड़ा झाल के अंतर्गत सैलई में बनाये जा रहे 120 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया। उन्होने कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करते हुये परियोजना को प्रत्येक दशा में अगस्त 2018 के प्रथम सप्ताह तक पूर्ण किये जाने के निर्देश दियेें। उन्होने बताया कि फिरोजाबाद शहर में पानी की समस्या अत्यन्त गम्भीर होती जा रही है और भूमिगत जल का स्तर लगातार कम होता जा रहा है। लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के किये जा रहे प्रयासों के क्रम में यह अत्यन्त महत्वपूर्ण प्रयास हैं। मंत्री जी ने योजना की प्रगति की गहनता से समीक्षा की एवं योजना के अंतर्गत बनाये जा रहे वाटर ट्रीटमेंट चेम्बरों को भी देेखा। उन्होने निर्देश दिये कि परियोजना को पूर्ण गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाये। तथा किसी भी प्रकार की देरी न होने पाये। इससे पूर्व प्रमुख सचिव नगर विकास ने मनोज कुमार सिंह ने परियोजना की प्रगति समीक्षा की। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने मंत्री जी और प्रमुख सचिव और नगर विकास परियोजना के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।  मंत्री जी ने स्वच्छ भारत मिशन के विषय में बताते हुये कहा कि शासन की मंशा है कि स्वच्छता से पूरा प्रदेश और इसके सभी शहर स्वच्छ हो और खुले मे शौच मुक्त घोषित हो इसके लिए लगातार शासन स्तर पर प्रयास भी किये जा रहे हैं। सार्वजनिक शौचालय का निर्माण तेजी से किया जा रहा हैं। उन्होने बताया कि स्वच्छ वातावरण प्रोत्साहन समिति जहाॅ गठित हुई है उसमें तेजी से काम हो और जहाॅ नही गठित हुई है वहाॅ तीव्रता से गठित करली जाये। लोक स्वच्छता की आवश्यकता समझे यही सरकार का उददेश्य हैं। निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार ने जिलाधिकरी नेहा शर्मा, मेयर नूतन राठौर, विधायक सदर मनीष असीजा, विधायक शिकोहाबाद डा0 मुकेश वर्मा, एक्स जल निगम सी0एस0 सोलंकी, उपजिलाधिकारी सदर चन्द्रभानु, नगर मजिस्ट्रेट प्रियंका सिंह सहित वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से जुडे एवं सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहें।