Sunday, November 18, 2018
Home » मुख्य समाचार » गर्भवती महिला से चिकित्सक की बदसलूकी

गर्भवती महिला से चिकित्सक की बदसलूकी

हाथरस, नीरज चक्रपाणि। सूबे में योगी आदित्यनाथ भले ही स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लाख दावे कर रहे हो, लेकिन जमीनी हकीकत उससे बिल्कुल परे है, जी हां यहां बागला महिला जिला अस्पताल में एक ऐसा वाक्या हुआ जिसे देखकर सभी हैरान रह गए, अल्ट्रासाउंड कराने आयी एक गर्भवती महिला को चिकित्सक ने धक्का देकर कमरे से बाहर निकाल दिया और उस महिला का अल्ट्रासाउंड भी नहीं किया, जिससे गरीब महिला बिना अल्ट्रासाउंड कराये ही अस्पताल से जाने को मजबूर हो गयी।

गांव फरोली निवासी पंकज शर्मा की पत्नी कल्पना शर्मा गर्भवती है, जिन्का अल्ट्रासाउंड कराने के लिए वह सुबह 8 बजे बागला जिला अस्पताल पहुँचे और सबसे पहले पर्चा लगा दिया, लेकिन अल्ट्रासाउंड करने वाले चिकित्सक राजीव मोदी अपने समय से लेट 10 बजे पहुँचे और बिना पर्चा लिए ही अपनी मर्जी से मरीजों के अल्ट्रासाउंड करने लगे, तो पंकज ने चिकित्सक से कहा कि मै सबसे पहले आया हूॅ, आप मेरी पत्नी का अल्ट्रासाउंड कर दो, तो इस बात पर चिकित्सक भड़क गए और मरीज कल्पना को धक्का देकर अल्ट्रासाउंड रूम से बाहर निकाल दिया।
जब इस मामले में महिला अस्पताल के सीएमएस रूपेंद्र कुमार से बात की गई तो उन्होंने तत्त्काल चिकित्सक मोदी को वही बुला लिया और जानकारी मांगी तो राजीव मोदी भड़क गए और मीडिया के कैमरे खीचने लगे और कहने लगे कि मै अपनी मर्जी से मरीज देखता हूं। सीएमएस ने मरीज को दूसरे कैम्पस में लगे अल्ट्रासाउंड मशीन से अल्ट्रासाउंड करना चाहा, लेकिन फिर भी नही हो सका। जिसके चलते मरीज का अल्ट्रासाउंड नहीं हो सका। सीएमएस ने स्वीकार किया कि चिकित्सक और मरीज के बीच कुछ विवाद हुआ था, मै भी प्रयास कर रहा हूॅ, कि मरीज का अल्ट्रासाउंड हो जाये।