Monday, December 10, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » मुख्य सचिव द्वारा कुंभ मेला कार्यों की समीक्षा की गई

मुख्य सचिव द्वारा कुंभ मेला कार्यों की समीक्षा की गई

कुंभ मेला-2019 हेतु स्वीकृत कार्यों की सैद्धांतिक स्वीकृतियां प्राप्त होने के उपरान्त जिन सम्बन्धित विभागों द्वारा अभी तक शासनादेश निर्गत नहीं किये गये हैं,
वे आगामी एक सप्ताह में आवश्यक शासनादेश निर्गत करें: मुख्य सचिव
मुख्य सचिव ने स्वीकृत 2600 करोड़ रुपये के अतिरिक्त 74 करोड़ रुपये के विभिन्न विभागों के कार्यों हेतु सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान करते हुये दिये निर्देश
सम्बन्धित विभागों को नियमानुसार आवश्यक कार्यवाहियां यथाशीघ्र पूर्ण कराकर शासनादेश समय से निर्गत करायें: डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय
नगर निगम, इलाहाबाद विकास प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग द्वारा विभिन्न सड़कों के सुदृढ़ीकरण एवं विस्तारीकरण कार्य हेतु सड़क के मध्य स्थित विद्युत पोलों एवं तारों व ट्रांसफार्मर करायें जायें शिफ्ट: मुख्य सचिव
न्यू सिविल एयरपोर्ट टर्मिनल-जी0टी0रोड (भगवतपुर मोड़)-बेगम बाजार तक सड़क के दोनों तरफ पी0सी0सी0 पोल पर स्ट्रीट लाइट लगाये जाने के प्रस्ताव को दी सैद्धांतिक स्वीकृति
लखनऊ, जन सामना ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने निर्देश दिये हैं कि आगामी कुंभ मेला हेतु स्वीकृत कार्यों की सैद्धांतिक स्वीकृतियां प्राप्त होने के उपरान्त जिन सम्बन्धित विभागों द्वारा अभी तक शासनादेश निर्गत नहीं किये गये हैं, वे आगामी एक सप्ताह में आवश्यक शासनादेश निर्गत करें। उन्होंने कुंभ मेला कार्य हेतु 2600 करोड़ रुपये की सैद्धांतिक स्वीकृति के सापेक्ष अभी तक मात्र 1680 करोड़ रुपये के शासनादेश सम्बन्धित विभागों द्वारा निर्गत किये जाने के उपरान्त अवशेष धनराशि के शासनादेश समय से निर्गत न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये निर्देश दिये कि 07 दिन में सम्बन्धित विभागों को सम्बन्धित शासनादेश निर्गत कर नियमानुसार कार्य प्रारंभ कराना होगा। उन्होंने स्वीकृत 2600 करोड़ रुपये के अतिरिक्त 74 करोड़ रुपये के विभिन्न विभागों के कार्यों की स्वीकृति प्रदान करते हुये निर्देश दिये कि सम्बन्धित विभाग नियमानुसार आवश्यक कार्यवाहियां यथाशीघ्र पूर्ण कराकर शासनादेश समय से निर्गत कराना सुनिश्चित करें।
मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में कुभ मेला-2019 के सफल आयोजन हेतु विभागीय कार्यों की समीक्षा करते हुये आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने न्यू सिविल एयरपोर्ट टर्मिनल-जी0टी0रोड (भगवतपुर मोड़)-बेगम बाजार तक सड़क के दोनों तरफ पी0सी0सी0 पोल पर स्ट्रीट लाइट लगाये जाने के प्रस्ताव की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान करते हुये निर्देश दिये कि आवश्यक कार्यवाहियां नियमानुसार प्राथमिकता पर सुनिश्चित करायी जायें। उन्होंने नगर निगम, इलाहाबाद विकास प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग द्वारा विभिन्न सड़कों के सुदृढ़ीकरण एवं विस्तारीकरण कार्य हेतु सड़क के मध्य स्थित विद्युत पोलों एवं तारों व ट्रांसफार्मर शिफ्ट कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने स्वरूप रानी नेहरू चिकित्सालय स्थित माच्युरी रूम के आधुनिकीकरण/वातानुकूलित किये जाने हेतु 30.61 लाख रुपये के प्रस्ताव की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की।
डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने कुंभ मेला-2019 को दृष्टिगत रखते हुये विभिन्न स्थानों पर यातायात को सुगम बनाने एवं सुरक्षा की दृष्टि से इलाहाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा रेलिंग लगाये जाने एवं हरितिमा विकसित किये जाने हेतु 586 लाख रुपये के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान करते हुये निर्देश दिये कि कुंभ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधायें उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कुंभ मेला में विभिन्न विभागों द्वारा महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रमों के अन्तर्गत प्रदर्शनी के आयोजन कराने के निर्देश दिये।
मुख्य सचिव ने विभिन्न पांच स्थानों-इलाहाबाद, वाराणसी, लखनऊ, मथुरा एवं अयोध्या में मेले के पूर्व वैचारिक कुंभ सम्मेलन आयोजित कराने हेतु सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये कि वैचारिक कुंभ सम्मेलन के सफल आयोजन हेतु आवश्यक तैयारियां समय से सुनिश्चित करा ली जायें। उन्होंने श्रद्धालुओं एवं कल्पवासियों को राशन एवं मिट्टी का तेल, रसोई गैस उपलब्ध कराने हेतु 50 करोड़ रुपये की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान करते हुये निर्देश दिये कि सम्बन्धित विभाग को नियमानुसार आवश्यक कार्यवाहियां प्राथमिकता पर सुनिश्चित करायें।
बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, मण्डलायुक्त इलाहाबाद आशीष कुमार गोयल, सूचना निदेशक उज्ज्वल कुमार, स्टाॅफ आॅफिसर मुख्य सचिव गौरव दयाल सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।