Tuesday, September 25, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » एक्ट में बदलाव को लेकर पूरे दिन हुए प्रदर्शन,जाम रहा जी.टी.रोड़

एक्ट में बदलाव को लेकर पूरे दिन हुए प्रदर्शन,जाम रहा जी.टी.रोड़

चन्दौलीः दीप नारायण यादव। एस सी / एस टी एक्ट में उच्चतम न्यायालय द्वारा किए गए बदलाव के विरोध में सोमवार को भारत बंद के आह्वान पर नाराज लोगों के द्वारा एक्ट में बदलाव के विरोध में जगह जगह प्रदर्शन किये गए । नाराज लोगों ने भारत बंद के समर्थन में मुगलसराय नगर में जुलूस निकाला बदलाव को वापस लेने की मांग की ट्रेन रोकने का प्रयास हुआ घण्टों ट्रेन रुकी रही जगह-जगह व्यापक रूप से प्रदर्शन किए गए । चंदौली जिला मुख्यालय पर एससी एसटी एक्ट में किए गए बदलाव के विरोध में व भारत बंद के आह्वान के समर्थन में अधिवक्ताओं ने महामहिम राष्ट्रपति महोदय , माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार ,माननीय राज्यपाल एवं माननीय विधि एवं न्याय मंत्री भारत सरकार के नाम से एक पत्र अपर जिलाधिकारी चंदौली को दिया और कलेक्ट्रेट में एक्ट में हुए बदलाव के विरोध में जमकर नारेबाजी की वहीं उन्होंने भारत सरकार को चेताया कि अगर इस एक्ट को संशोधित करके पुनः पुराने रूप में लाएं और इस एक्ट को पहले से अधिक कड़ा बनाएं अन्यथा हम लोग और उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे और इस सब की जिम्मेदारी भारत सरकार की होगी। वहीं दूसरी तरफ भारत बंद के समर्थन में मिशन सुरक्षा परिषद ने जिला मुख्यालय पर जुलूस निकाला जुलूस शंकर मोर डॉक्टर आंबेडकर वाचनालय से प्रारंभ किया गया सर्वप्रथम बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माला पहनाकर आंदोलन की शुरुआत की गई । अध्यक्ष गुरुदयाल आर्य ने कहां कि बाबा साहब द्वारा स्थापित संविधान में दबे-कुचलों के लिए कानून बनाया था संशोधन कर उपेक्षित समाज के लोगों के साथ घोर अन्याय किया गया है। कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम एट्रोसिटी एक्ट 1989 के नियमों में संशोधन करते हुए तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है अर्थात एट्रो सिटी एक्ट को निष्प्रभावी कर दिया गया है। जिससे दलित समाज आहत है। जुलूस जिला अधिकारी कार्यालय पहुचा जहां जिलाधिकारी को महामहिम राष्ट्रपति संबोधित मांग पत्र सौंपा गया ।