Home » मुख्य समाचार » ठेले और चाय वालों को मिले व्यापारिक मान्यता- अभिमन्यु गुप्ता

ठेले और चाय वालों को मिले व्यापारिक मान्यता- अभिमन्यु गुप्ता

जीएसटी नोटिफिकेशन की उठाई मांग- हालसी रोड व बिरहाना रोड व्यापार मण्डल के अध्यक्षों का हुआ चयन
कानपुर नगर, चंदन जायसवाल। देश में जीएसटी को लेकर व्यापारियों में लगातार असमंजस की स्थिति बनी हुई है। जीएसटी को लेकर आम नागरिक भले ही कुछ ज्यादा न बोले लेकिन व्यापारी इसको लेकर लगातार केंद्र पर हमला करते नजर आ रहे हैं। उत्तर प्रदेश की व्यापारिक राजधानी कानपुर में प्रान्तीय व्यापार मंडल और सपा व्यापार सभा ने जीएसटी को लेकर केंद्र सरकार से मांग रखी है कि जीएसटी परिषद के निर्णय का शासनादेश जारी किया जाये और चाय, पकौडे, पान आदि के ठेले व दुकान वालों को स्थायी पंजीकरण दे। प्रान्तीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष एवं समाजवादी पार्टी व्यापार सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने आज एक्सप्रेस रोड पे आयोजित एक व्यापारी चिंतन बैठक व उसके बाद आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि 10 नवम्बर को जीएसटी परिषद की 23वीं बैठक में देश के व्यापारियों के लिए लागू समाधान योजना राशि को एक करोड़ रुपये से बढ़ा कर डेढ़ करोड़ रुपये कर दिया गया था। लेकिन अभी तक इसका नोटिफिकेशन सरकार द्वारा जारी तक नहीं किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि डेढ़ करोड़ के हिसाब से कंपोजीशन स्कीम में काम कर रहे हैं। इसके साथ ही इसका नोटिफिकेशन जीएसटी परिषद द्वारा जारी किया जाये। अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि भाजपा सरकार कह रही है की चाय बेचकर,पकौड़े बेचकर,पान बेचकर रोजगार की संभावनाएं तलाशें जाएं तो अब सरकार से हमसब व्यापारी मांग करते हैं कि ऐसे चाय वालों, ठेले वालों, पान वालों को सरकारी मान्यता देते हुए स्थायित्व दें। उनके ठेलों उनकी दुकानों को स्थायी मान्यता दें जिससे कि वह उचित पंजीकरण करवाके राजस्व दें और देश की उन्नति में अपना भी योगदान दें।उन्होंने स्वर्ण मंदिर लंगर और हज यात्रा को जीएसटी मुक्त करने की मांग भी रखी।पेट्रोल और डीजल को लेकर भी बड़ा बयान देते हुए कहा कि दोनों उत्पादों को जीएसटी परिषद में लाने की बात केंद्र सरकार कर रही है लेकिन अभी तक इनकों जीएसटी में शामिल नहीं किया गया है। अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि प्रान्तीय व्यापार मंडल सहित तमाम उद्योग और व्यापार जगत की संस्थाओं की यह मांग है कि आम जनता के हित में डीजल औैर पेट्रोलियम उत्पादों की जीएसटी में शामिल किया जाये। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि रिटर्न प्रक्रिया को सरल बनाने की बेहद जरूरत है ताकि सामान्य व्यापारी को रिटर्न भरने में कोई परेशानी न हो। अभिमन्यु ने कहा कि देश के लघु उद्यमियों और व्यापारियों के लिए बाजार में कम्पयूटर कैंप लगाकार रिटर्न भरवाने की सुविधा विभाग द्वारा दिलायी जाए, जिससे व्यापारी का खर्च भी बचे और उसकी सिरदर्दी भी बचे। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की पेनाल्टी और सर्वे छापे को भी तत्काल रूप से बंद करने की सरकार से मांग की गई। उन्होंने बताया कि इस प्रकार का कोई सर्वे छापे और पेनाल्टी व्यापारी समाज स्वीकार करने को तैयार नहीं है।
साथ ही अभिमन्यु गुप्ता ने जानकारी दी की प्लास्टिक व्यापारी संजय गुप्ता को हालसी रोड हटिया व्यापार मण्डल का अध्यक्ष और जौहरी सुनील गुप्ता को बिरहाना रोड व्यापार मण्डल का अध्यक्ष चुना गया। जल्द ही कानपुर ग्रामीण इकाई का गठन होगा इस बात की जानकारी भी अभिमन्यु गुप्ता ने दी। अभिमन्यु गुप्ता ने बताया कि 24 जून को कानपुर में प्रान्तीय व्यापार मण्डल द्वारा व्यापारी स्वाभिमान सभा का आयोजन किदवई नगर में होगा। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता के अलावा प्रदेश उपाध्यक्ष संजय बिस्वारी, महामंत्री हरप्रीत सिंह बब्बर, उपाध्यक्ष जितेंद्र सिंह, उपेन्द्र दुबे, जफर अहमद, प्रदेश कोषाध्यक्ष मनोज सोनी, सचिव बॉबी सिंह, नगर अध्यक्ष शुभम जेटली, कानपुर महासचिव आतम जीत सिंह, उपाध्यक्ष विभोर शर्मा, संजय गुप्ता, अंकुर गुप्ता प्रमुख रूप से मौजूद थे।