Home » मुख्य समाचार » डीएम ने राजस्व वादों तथा विकास कार्यो की समीक्षा की

डीएम ने राजस्व वादों तथा विकास कार्यो की समीक्षा की

कानपुरः जन सामना ब्यूरो। राजस्व वादों का निस्तारण गुणवत्ता पूर्ण कराया जाये। आय, जाति, निवास प्रमाण पत्र 3 दिनों में जारी कराया जाये। नौकरी सत्यापन की फाइले किसी भी पटल में 24 घण्टे के अंदर निस्तारित कराया जाये जिस बाबू के पटल से शिकायत मिली तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी।जी सी बाबू के द्वारा कर्मचारियों के विरुद्ध प्रचलित विभागीय कार्यवाही लंबे समय से निस्तारण न कर पाने पर अपने कार्यो में लापरवाही बरतने के कारण चार्जसीट बनाकर विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश अपर जिलाधिकारी भू अध्याप्ति दिये। ब्लाक, तहसील तथा जनपद में सबसे तेजी से शौचालय बनवाने वाले अधिकारी / कर्मचारियों को प्रथम द्वितीय तृतीय पुरस्कार दिया जायेगा। जनपद में समस्त ब्लाक, तहसीलों को ओडीएफ खुले में शौच मुक्त तेजी से कराया जाये। जिन लाभार्थियों के खाते में शौचालय निर्माण का पैसा चला गया और शौचालय निर्माण नही हो रहा यहां के सक्रेटरी प्रधान की सूची बना कर कार्यवाही करें। प्रत्येक स्थिति में जनपद को ओडीएफ बनाना है इसके लिए नोडल की जिम्मेदार होंगे।
उक्त निर्देश आज जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व वदो के निस्तारण, समस्त ग्रामो को खुले में शौच मुक्त कराने तथा विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रामों में सक्रेटरी तथा प्रधानों की जिम्मेदारी खुले में शौच मुक्त कराने के लिए निर्धारित है प्रधानों के कहने पर भी यदि शौचालय निर्माण नहीं हो रहा लाभार्थी के खाते में पैसा जा चूका है और ग्रामीण जन शौचालय निर्माण नहीं करते तो प्रधान को बर्खास्त करने जैसी कार्यवाही भी की जाये। समस्त ग्रामों में विधुतीकरण कार्य तेजी से कराया जाये। आई जी आर एस का निस्तारण गुणवत्ता पूर्ण कराया जाये।
जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम स्वराज योजना में चयनित 46 ग्रामो में लाभार्थियों को लाभान्वित गया इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये की एक भी लाभार्थी योजनाओं से छूटने न पाये। केंद्र तथा राज्य सरकार द्वारा संचालित योजना जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री सहज हर घर बिजली योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, आयुष्मान भारत योजना, इंद्र धनुष योजना के अन्तर्गत टीकाकरण आदि योजनाओ का वृहद प्रचार प्रसार भी कराया जाये इसके लिए प्रत्येक मंगलवार को दो ग्रामो में चैपाल लगाकर योजनाओ से लाभान्वित किया जाये। उन्होंने समस्त खंड विकास अधिकारियो को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि खुले में शौच मुक्त कार्यक्रम लापरवाही बरती तो बर्खास्ती के लिए तैयार हो जायो क्योंकि सरकार की मंशानुसार कार्य नहीं किया तो नौकरी करने के आवश्यकता नहीं है शासन की लाभकारी योजनाओं से लोगो लो लाभान्वित करना ही हमारा मूल दायित्व है इस हेतु कार्य करें।
इस बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनंद, एडीएम फाइनेशन , समस्त उप जिलाधिकारी तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।