Friday, September 21, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » मानव सेवा में रक्तदान है उत्तम सेवा-प्रवीन

मानव सेवा में रक्तदान है उत्तम सेवा-प्रवीन

हाथरसः जन सामना संवाददाता। प्यार से बच्चे खुश, आदर से बड़े खुश, दया से पशु खुश, पर रक्तदान से स्वयं प्रभु खुश। यदि करनी हो मानव सेवा, रक्तदान है उत्तम सेवा।
14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर यूनिवर्सल ह्यूमन राइट काउंसिल के तत्वावधान में लगने वाले विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर की जागरूकता के लिए कामरेड भगवानदास मार्ग, मुरसान गेट स्थित प्रदीप फिजिक्स क्लासेस पर छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वाष्र्णेय ने कहा कि ईश्वर को वही लोग प्यारे लगते हैं जो मानव सेवा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। मानव की सेवा ही सच्चा मानवाधिकार है, दुनिया को वरदान देने के कारण ही भगवान महान कहलाते हैं ,रक्तदान करना अपने आप में ही मानवता के लिए वरदान है, जो रक्तदान करते हैं वह भगवान भले ही ना हो पर महान तो जरूर होते हैं, इस सच्ची मानव सेवा में रक्तदान महान सेवा है।
जिला अध्यक्ष संजीव कुमार वाष्र्णेय ने कहा कि सभी योनियों में मानव योनि को सर्वश्रेष्ठ माना गया है क्योंकि मानव को अच्छे बुरे की पहचान होती है उसे मालूम है कि रक्तदान करने से दूसरे व्यक्ति की जान की रक्षा करना ही सबसे बड़ा धर्म है।
जिला महासचिव शैलेन्द्र सांवलिया ने कहा कि ईश्वर ने हमें मानव के रूप में धरती पर भेजा है तो इस जन्म में क्यों ना हम मानवीय कार्य कर उस ईश्वर का धन्यवाद करें।
प्रदीप फिजिक्स क्लासेज के संचालक प्रदीप गुप्ता ने कहा कि रक्तदान मेरे जीवन का अहम कार्य है और मैं इसे बखूबी निभा कर अपने इंसान होने का फर्ज अदा कर इस रक्तदान जैसे महान कार्य को कर रहा हूं और आगे भी करता रहूंगा। आप सभी छात्र छात्राएं 14 जून को अपने परिवार सहित इस महान कार्य में सहयोगी की भूमिका निभाएं।