Friday, September 21, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » प्रदूषण के प्रति चलाया जागरूकता अभियान

प्रदूषण के प्रति चलाया जागरूकता अभियान

कानपुरः जन सामना संवाददाता। जबसे विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में कानपुर का नाम प्रदूषण के मामले में नम्बर 1 आया है तबसे लगातार जिला प्रशासन समेत कोई न कोई संस्थाएं शहर को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए मुहिम चला रही हैं। इसी कड़ी में प्रान्तीय व्यापार मण्डल व समाजवादी व्यापार सभा से जुड़े व्यापारियों ने कानपुर में जगह जगह जागरूकता अभियान चलाकर कानपुर को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए लोगों को जागरुक करने में जुटे हुए हैं। मंगलवार को प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष और समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता के नेतृत्व में व्यापारियों ने एकत्र होकर घंटाघर चैराहे पर अग्नि को साक्षी मानते हुए कानपुर को प्रदूषण मुक्त बनाने की शपथ ली और लोगों को भी शपथ दिलवाई। अभिमन्यु गुप्ता ने बताया कि शहर प्रदूषण से बीमार हो चुका है ऐसे में हम सबका दायित्व है कि हम सब मिलकर शहर को स्वस्थ और दुरुस्त बनाएं इसके लिए अकेले ही नही बल्कि सभी को इस ओर जिम्मेदारी लेनी होगी शहर को प्रदूषण से बचाने के लिए अपने घरों के आस पास कूड़ा न जलाए, ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाएं, पेट्रोल डीजल गाड़ियों का कम प्रयोग करें, गाड़ी खड़ी होने पर इंजिन बन्द कर दें , पॉलीथीन की जगह कपड़े के झोले का इस्तेमाल करें जिससे शहर को एक नया जीवन मिल सकेगा आज यहां सभी ने अग्नि को साक्षी मानकर शपथ लेते हुए संकल्प लिया है कि कानपुर को हराभरा और प्रदूषणमुक्त बना कर शहर को स्वच्छ और स्वस्थ बनाएंगे। बताया कि धूल से शहर बीमार है यहां कम ऑक्सीजन कानपुर की सबसे बड़ी समस्या है जिसके लिए सबको बड़े कदम उठाने पड़ेंगे और वह लगातार पौधरोपण व वृक्षारोपण से ही सम्भव है। इसलिए पेड़ पौधे ज्यादा से ज्यादा लगाए। मेट्रो शहर में जल्द शुरू करने की मांग। अभिमन्यु ने कहा कि सरकार ने अखिलेश जी द्वारा शुरू की गई कानपुर मेट्रो परियोजना पर ग्रहण लगा दिया है हमारी मांग है कि कानपुर में जल्द मेट्रो की शुरुआत सरकार करे जो कि कानपुर में प्रदूषण से लड़ने में काफी हद तक कारगर साबित होगी। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता, हरप्रीत सिंह बब्बर, संजय बिस्वारी, पारस गुप्ता, मनोज सोनी, जितेंद सिंह संधू, अमन वार्ष्णेय,शुभम जेटली आदि मौजूद रहे।