Monday, September 24, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » एसोसिएशन आॅफ स्माल एण्ड मीडियम न्यूजपेपर्स आॅफ इण्डिया के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में सुनीं समस्याएं

एसोसिएशन आॅफ स्माल एण्ड मीडियम न्यूजपेपर्स आॅफ इण्डिया के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में सुनीं समस्याएं

-केन्द्र सरकार व राज्य सरकारों द्वारा अपनाई जा रहीं नीतियों पर हुई चर्चा
-राष्ट्रीय अध्यक्ष को प्रतीक चिन्ह भेंट किया गया
-प्रेस काउंसिल के सदस्यों को किया गया सम्मानित
बेलतोला, गुवाहाटीः जन सामना संवाददाता। एसोसिएशन आॅफ स्माल एण्ड मीडियम न्यूजपेपर्स आॅफ इण्डिया के राष्ट्रीय परिषद की बैठक बिगत 24 जून 2018 को होटल टोक्यो टावर बेलतोला, गुवाहाटी में सम्पन्न हुई। बैठक में यूपी, उत्तराखण्ड, असम, मणिपुर, दिल्ली, म. प्र. राजस्थान, महाराष्ट्र, उड़ीसा, कर्नाटक, आन्ध्र प्रदेश तथा पश्चिम बंगाल के प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय परिषद सदस्यों ने भाग लिया।
बैठक से शुरु होने से पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री केशवदत्त चन्दोला ने राष्ट्रीय मंत्री श्री अजित म्हात्रे का 20 जून को निधन होने की जानकारी दी तथा दो मिनट के मौन रखने का प्रस्ताव किया किया। दो मिनट के मौन के बाद राष्ट्रीय परिषद की बैठक पुनः शुरु की गई।
राष्ट्रीय परिषद के सभी सदस्यों ने क्रम से राष्ट्रीय मंत्री श्री अजित म्हात्रे के निधन पर शोक व्यक्त किया तथा उनके चित्र पर श्रध्दा पुष्प अर्पित कर अश्रुधारा से श्रध्दांजली दी तथा उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना की।
असम के प्रदेशमंत्री श्री प्रकाश बोरा ने सभी सदस्यों का स्वागत किया तथा असम राज्य ईकाई के अध्यक्ष श्री गिरिन्द्र कार्जी, प्रदेश मंत्री श्री शंकर गोहेंन व किरि रोंहेंग द्वारा गमछा व झापी पहना कर सम्मानित किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री केशवदत्त चन्दोला को एक प्रतीक चिन्ह भी भेंट किया गया। प्रेस काउॅसिल आॅफ इण्डिया में एसोसिएशन के दो सदस्य चुने जाने पर सभी सदस्यों ने प्रसन्नता व्यक्त की तथा श्री केशवदत्त चन्दोला व श्याम सिंह पंवार (जो उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष भी हैं) को सम्मानित किया। संगठन मंत्री श्री लांगसिंह टेरन ने बिगत 12 मार्च 2018 को दिल्ली में सम्पन्न पिछली राष्ट्रीय परिषद की बैठक कर रिपोर्ट प्रस्तुत की।
राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री केशवदत्त चन्दोला ने 23 जून 2018 को राजभचन में राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों के साथ श्री राज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी से लगभग दो घन्टे की लम्बी मुलाकात का पूरा विवरण दिया क्योंकि राष्ट्रीय परिषद के कुछ सदस्य ट्रेन विलम्ब के कारण इस मुलाकात में शामिल नहीं हो पाए थे। श्री राज्यपाल प्रोफेसर जगदीश मुखी ने सभी सदस्यों वार्ता की तथा उनकी समस्याओं पर चर्चा की। श्री राज्यपाल के आत्मीय व्यवहार से सभी सदस्य बहुत प्रसन्न हुए। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री केशवदत्त चन्दोला ने श्री राज्यपाल की आत्मीयता के प्रति आभार व्यक्त किया तथा बैठक के लिए असम राज्य इकाई के प्रति भी आभार व्यक्त किया।
बैठक में अब तक की प्रगति से अवगत कराया तथा राज्य अध्यक्षों व राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों से उनके राज्यों की रिपोर्ट मांगी। सभी राज्याध्यक्षों व राष्ट्रीय परिषद सदस्यों ने अपने राज्यों के बारे में जानकारियां व समस्याएं बताई। सदस्यों ने समाचारपत्र पंजीयक व डीएवीपी की समस्याएं उठाई। समाचारपत्र पंजीयक कार्यालय की वेब साइट द्वारा एनुअल रिपोर्ट भरने की समस्याएं भी बताई।
राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री केशवदत्त चन्दोला ने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहाकि राष्ट्रीय परिषद की सभी पिछली बैठकों के प्रस्तावों पर पुनः चर्चा व विचार होना चाहिए। हम अपने पुराने सभी प्रस्तावों पर देखे कि क्या किया जाना बांकी है। राष्ट्रीय परिषद के सदस्य व प्रदेश अध्यक्षों को इस बैठक में राज्य की ओर से तैयार होना चाहिए। हमने 12 मार्च की दिल्ली बैठक में सभी राज्यों के मुख्य सचिव को पत्र लिखन का आश्वासन दिया था पर पत्र नहीं लिखा। केवल उड़ीसा ने इसे याद दिलाया। हम चाहते हैं कि राज्य अध्यक्षों द्वारा किए गए पत्राचार मिले ताकि हम भी प्रभावकारी पत्र लिख सकें। जहां कहीं भी राष्ट्रीय परिषद की बैठक हो वहां के श्री राज्यपाल से मुलाकात का प्रयास किया जाना चाहिए जैसा असम में हुआ है। राष्ट्रीय परिषद के सभी सदस्यों व राज्य अध्यक्षों को एसोसिएशन की पूरी जानकारी होनी चाहिए। राष्ट्रीय परिषद की बैठकों के आयोजन में सभी को सहयोग करना चाहिए तथा आयोजकों पर बोझ नहीं बनना चाहिए। राष्ट्रीय परिषद की बैठक के आयोजन के लिए श्री सुरेश गारोदिया के प्रति आभार व्यक्त किया और कहाकि गोहाटी में आयोजित सभी बैंठकें गारोदिया जी के कारण ही हुई है। श्री चन्दोला ने कहाकि असम राज्य इकाई ने इस बैठक के आयोजन में बहुत बड़ी भूमिका निभाई है और उनके प्रति भी आभार व्यक्त करते हैं। बैठक में आये सभी सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित किया तथा अध्यक्ष के प्रति धन्यवाद प्रस्ताव के साथ बैठक स्थगित की गई।
बैठक में अनन्त शर्मा, जयपाल पाटिल, विनोद महापात्र, सतीश बाबू, राजेन्द्र प्रसाद बिन्जवे, के. वेंकट रेड्डी, वेनुगोपाल नाइक, डी. के. मैथानी, प्रकाश बोरा सहित अन्य लोग मौजूद रहे।