Wednesday, December 19, 2018
Home » मुख्य समाचार » एससी/एसटी एक्ट में पुनर्विचार याचिका को लेकर किया प्रदर्शन

एससी/एसटी एक्ट में पुनर्विचार याचिका को लेकर किया प्रदर्शन

⇒जनपद में हुआ प्रदर्शन नारखी में बीमारी के चलते व्यक्ति की मौत
⇒प्रदर्शनकारियों ने कहा कि लाठी लगने से हुई मौत
⇒महिला थानाध्यक्ष एकता सिंह का सराहनीय प्रयास
⇒मृतक के छोटी भाई की बहू को घायल हालत में लेकर पहुची जिला अस्पताल
⇒मृतक के भाई ने कहा कि काफी दिनों से बीमार चल रहा था सुरेश
फिरोजाबादः एस0 के0 चित्तौड़ी। एससी-एसटी ऐक्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने पर हालिया फैसला सुप्रीम कोर्ट के आने पर आज भारत बन्द का आवाहन होने पर शहर के साथ देहातों में भी विरोध प्रर्दशन किया गया। जिसको लेकर नारखी में एक व्यक्ति की मौत हो गयी। आन्दोलन कारियों का आरोप था। कि पुलिस की मार से व्यक्ति की मौत हुई है। जबकि सूत्रों से पता चला है कि वह कई दिनों से बीमार था। जिसकी भगदड के दौरान मौत हो गयी। मृतक के भाई ने भी बीमार होने की बात की पुष्ठि करते हुए भीड में मौत होने की बात कही। शहर में भी कई स्थानों से विरोध प्रर्दशन करने के बाद जिलाधिकारी हो ज्ञापन भी दिया गया।
एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के बाद विपक्ष की आलोचना का शिकार हो रही भाजपा सरकार सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन दाखिल कर रही है। केन्द्रीय कानून मंत्रालय ने एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने की मंजूरी दे दी है। इसी मुददे को लेकर आज बसपा के साथ दलित संगठनों द्वारा भारत बन्द का आहावान किया गया था। इसी क्रम में आज नगर के सैलई क्षेत्र से सैकडों लोग हाथों में नारे खिलकर हाथों में काली पट्टी बाॅधे सड़कों पर उतर आये। सैलई होते हुए बडा मिर्जा का नगला , जाटवपुरी होते हुए कोटला चुगी जलेसर रोड सुभाष तिराहा, सदर बाजार, रसूलपुर , रसूलपुर थाना आसफाबाद कनैटा मोडा के रास्ते जिलामुख्यालय पर जिलाधिकारी नेहा शर्मा को ज्ञापन सौपा। शहर में कई इलाकों से विरोध प्रर्दशन करने वालों ने हंगामा किया लेकिन शहर में पुलिस चैकसी के साथ जुलूस निकालने वालों पर पैनी नजर रखते हुए माहोल को बनाये रखा। वही दूसरीी ओर थाना नारखी के गांव नारखी घौकल में प्रर्दशन के दौरान अचानक बीमारी के चलते 50 वर्षीय सुरेश जाटव पुत्र डालचन्द्र की मौत हो गयी। प्रर्दशन कारियों ने बताया कि पुलिस की लाठी चार्ज करने पर लाठी लगने से व्यक्ति की मौत हुई है। जिसको लेकर गांव में पुलिस पर हंमला बोल दिया। काफी देर तक हंगामा होने की जानकारी होते ही पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुच गये। अन्दोलन कारियों को समझाने के बाद कई घण्टों में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लेकर आये। हंगामा के दौरान मृतक हुए सुरेश के भाई ईश्वरी प्रसाद की पत्नी 30 वर्षीय रानी देवी विलाप करते समय सिर में चोट लगने से घायल हो गयी। जिसको महिला थानाध्यक्ष एकता सिंह अपनी टीम के साथ गाडी में बिठाकर उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर आयी। जहां उसका उपचार कराया गया। जिला अस्पताल में आये मृतक के भाई रामवीर ने बताया कि सुरेश काफी दिनों से बीमार चल रहा था। जो कि आज सुबह शौच के लिए खेत की ओर गया था। उसी दौरान विरोध प्रकाट कर रहे प्रर्दशन कारियों की भीड में आने से किसी तरह से उसकी मौत हो गयी। लोगो ने बताया कि पुलिस की लाठी लगने से मौत हुई है। हगामा के बाद शव को पुलिस पोस्टमार्टम के लिए लेकर अस्पताल आयी है। वही टूण्डला में भी भारत बन्द को लेकर प्रर्दशन कर रहे लोगो से पुलिस की होकटोक भी हुई।