Home » मुख्य समाचार » डिजिटल इण्डिया अभियान के तहत डाक विभाग बनेगा पेपरलेस सरकारी विभाग

डिजिटल इण्डिया अभियान के तहत डाक विभाग बनेगा पेपरलेस सरकारी विभाग

जोधपुर के डाकघर व रेल डाक सेवा कार्यालय होंगे हाईटेक और डिजिटल, कोर सिस्टम इंटीग्रेटर का हुआ शुभारम्भ
जोधपुर, राजस्थान, जन सामना ब्यूरो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के डिजिटल इण्डिया अभियान से अब डाकघर भी जुड़ेंगे। डाकघरों में कोर बैंकिंग और कोर इंश्योरेंस के बाद आईटी आधुनिकीकरण परियोजना के भाग के रूप में कोर सिस्टम इंटीग्रेटर (सीएसआई) आरम्भ किया है। जोधपुर प्रधान डाकघर और रेल डाक सेवा कार्यालय में आज मंगलवार को इसका शुभारम्भ राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के पोस्टमास्टर जनरल वीसी राय और निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने ग्राहकों को स्पीड पोस्ट बुकिंग की सीएसआई जनरेटेड रसीद देकर किया। इसी के साथ राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के अधीन सभी 13 जिलों के डाकघरों व इनके प्रशासनिक कार्यालयों में यह प्रोजेक्ट लागू हो गया है। पोस्टमास्टर जनरल वीसी राय ने इस अवसर पर कहा कि डाकघरों में बुकिंग, वितरण, बचत व बीमा सम्बन्धी विभिन्न कार्यों के लिए अभी भिन्न-भिन्न सॉफ्टवेयरों का इस्तेमाल किया जाता है। इन सभी को सीएसआई के तहत एक ही कॉमन प्लेटफॉर्म पर लाने से त्वरित और सुव्यवस्थित कार्य होगा तथा हम ग्राहकों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने में सक्षम होंगे। डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि कोर सिस्टम इंटीग्रेटर लागू हो जाने के बाद डाक विभाग पूरी तरह से पेपरलेस (कागज रहित) कार्य करने वाला पहला सरकारी विभाग बन जाएगा। मेल ऑपरेशन, वित्त व् लेखा, इन्वेंटरी प्रक्योरमेंट, एच. आर. और पे-रोल जैसे तमाम कार्य कोर सिस्टम इंटीग्रेशन के माध्यम से संपन्न होंगे। विभाग के सभी कागजात, कर्मचारियों की उपस्थिति, पर्सनल डाटा, सर्विस बुक, कर्मचारियों की छुट्टी आदि कार्य आनलाइन हो जाएगा। कर्मचारियों के सभी कार्यों की प्रगति विभाग के शीर्ष अफसर भी आनलाइन देख सकते हैं। कर्मचारियों को अपनी समस्याओं के निदान के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर अपनी शिकायतध्निवेदन करना होगा। साथ ही ग्राहक भी अपने घर बैठे अपनी सभी समस्याओं का निदान डाकघर की वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे।
श्री यादव ने कहा कि इससे भविष्य में प्रशासन की गतिविधियों जैसे भर्ती, प्रशिक्षण, पदोन्नति, वेतन और प्रदर्शन प्रबंधन में सुधार होगा। कॉल सेंटर, वेब पोर्टल और मोबाइल डिवाइसेज के माध्यम से ग्राहक सेवा प्रदान करने के साथ यह डाकघर काउंटरों की कार्यात्मकताओं को भी बढ़ाएगा और डाकघरों को पेपरलेस बनाएगा। जोधपुर प्रधान डाकघर के सीनियर पोस्टमास्टर ओपी सोडिया ने कहा कि कोर सिस्टम इंटीग्रेटर के लिए टी.सी.एस. द्वारा सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है और इसके लिए स्टाफ को भलीभाँति ट्रेनिंग भी दी गई है, ताकि वे इसे सुचारु रूप से क्रियान्वित कर सकें।
रेल डाक सेवा, जोधपुर के अधीक्षकएल. आर. परिहार ने बताया कि आरएमएस में कोर सिस्टम इंटीग्रेटर लागू हो जाने से डाक आदान- प्रदान की प्रक्रिया पूर्णतरू ऑनलाइन हो जाएगी जिससे डाक अपने गंतव्य स्थान पर तीव्र गति से पहुंचेगी। इस अवसर पर सहायक निदेशक कान सिंह राजपुरोहित, इशरा राम, सहायक अधीक्षक विनय खत्री, राजेंद्र सिंह भाटी, सुदर्शन सामरिया, पारसमल सुथार, संदीप मोदी, डिप्टी पोस्टमास्टर एच के गोलानी, हेड रिकोर्ड ऑफिसर पेमाराम मेवाडा, जन संपर्क निरीक्षक मो. रफीक, सिस्टम मैनेजर जितेंद्र गर्ग, राकेश पटेल, राकेश दाधीच, विनय तातेड़, विजय सिंह सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।