Tuesday, September 25, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » ग्राम स्वराज अभियान के कार्यो को सफल बनाने के निर्देश

ग्राम स्वराज अभियान के कार्यो को सफल बनाने के निर्देश

कानपुर देहातः जन सामना ब्यूरो। भारत सरकार मिनिस्ट्री आफ हाउसिंग अरवन अफेयर राष्ट्रीय शहरी आजिविका मिशन की निदेशक अर्चना मित्तल ने कलेक्टेªट सभाकक्ष में संविधान शिल्पी बाबा साहब भारत रत्न डा. भीमराव रामजी अम्बेडकर की जयन्ती 14 अप्रैल से शुरू हुए ग्राम स्वराज अभियान जो कि 5 मई तक जनपद के ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र में चलाया जा रहा है की प्रगति की समीक्षा बैठक करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्राम स्वराज अभियान को गंभीरता से लेकर शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप कार्यो में प्रगति लाकर अभियान को शत प्रतिशत सफल बनाये तथा ग्रामीणों में ग्राम स्वराज अभियान के प्रति अधिक जागरूकता लाकर सरकार की योजनाओं का अधिक से अअधिक लाभ दिलाने में आगे आये। उन्होंने कहा कि चयनित गांव व क्षेत्रों के गांवों पर विशेष चर्चा हेतु रखा जाये तथा विशेष ध्यान देकर शत प्रतिशत सरकार की योजनाओं लाभो से आच्छादित किया जाये। उन्होंने कहा कि अधिकारी ग्राम स्वराज अभियान की गंभीरता को समझकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन भली भांति कर मिशन की समूचित गतिविधियों को समय से पूरा करें। उन्होंने कहा कि जो भी मिशन की गतिविधियां निर्धारित है उनमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाये।
निदेशक, अर्चना मित्तल को जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी केदारनाथ सिंह व डीडीओ अभिराम त्रिवेदी ने बताया कि जनपद के 37 ग्रामों भारत सरकार की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, सौभाग्य, उजाला, प्रधानमंत्री जनधन योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना, सुरक्षा बीमा योजना, मिशन इन्द्रधनुष, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैण्ड अप इंडिया, प्रधानमंत्री आवास योजना, पेयजल, राशन कार्ड, अनुसूचित जाति/जनजाति हेतु शादी अनुदान व निःशुल्क बोरिंग योजना, फसल बीमा योजना आदि से संतृप्त के साथ ही अतिरिक्त प्रत्येक विकास खण्ड के एक सर्वाधिक अनुसूचित जाति वाले ग्रामों कुल 10 ग्रामों तथा प्रत्येक नगरीय निकाय के 1 सर्वाधिक अनुसूचित बाहुल्य वार्ड कुल 10 वार्ड को भी सरकारी कार्यक्रमों से 5 मई तक संतृप्त कराया जाना है। 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस के तहत सभी ग्राम पंचायतों में स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। ओडीएफ न हो पाए गये ग्रामों पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। स्वच्छ भारत मिशन की प्रगति तथा रणनीति पर चर्चा की जायेगी। इस क्षेत्र में सर्वाधिक खराब प्रगति वाले ग्रामों में जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा अधिकारियों का भ्रमण सुनिश्चित कराया जायेगा। जिला पंचायत राज अधिकारी इस प्रकार के ग्रामों का चिन्हांकन कर ले। उन्होंने कहा कि जिला पंचायतराज अधिकारी यह भी सुनिश्चित करेंगे कि जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगायी जाए उन्हें एक चेकलिस्ट व दायित्व संबंधी निर्देश भी उपलब्ध कराएं जिससे अधिकारी को यह स्पष्ट हो सके कि उसे ग्राम में जाकर क्या क्या करना है तथा श्रमदान के द्वारा ग्राम पंचायतों में शौचालय के गढ्ढे खुदवायें जायेंगे तथा रात्रि में चैपाल लगाकर इस विशेष पर चर्चा की जाये। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा स्वच्छता के संबंध में विद्यालयों में रैली का आयोजन किया जायेगा तथा स्वच्छता अभियान, भ्रमण, श्रमदान तथा रैली आदि समस्त कार्यक्रामांे को जन प्रतिनिधियों की सहभगिता सुनिश्चित की जाये। 20 अप्रैल को उज्जवला दिवस के तहत प्रत्येक चयनित ग्राम पंचायत में एलपीजी पंचायत आयोजित की जायेगी। जिसमें उज्जवला लाभार्थियों को सुरक्षा एवं उपयोग संबंधी जानकारी दी जायेगी। केवाईसी संबंधी कार्यवाही सम्पन्न करायी जायेगी। उज्जवला योजना के लाभार्थियों को गैस सिलेण्डर उपलब्ध कराये जायेगे। राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस 24 अप्रैल को ग्राम पंचायत स्तर पर विशेष ग्राम सभा का आयोजन किया जायेगा जिसमें विशेष रूप से सामाजिक मुद्दों पर जैसे टीकाकरण, स्वच्छता, महिला सशक्तीकरण आदि पर चर्चा की जायेगी। इसी प्रकार 28 अप्रैल को ग्राम स्वराज दिवस जिसमें केन्द्र सरकार व राज्य सरकार के विभिन्न लोक कल्याणकारी योजनाओं को लाभ वितरण जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना आदि से लाभांवित किया जायेगा। 30 अप्रैल को आयुष्मान दिवस जिसमें सीएमओ, पंचायत, शिक्षा विभाग के साथ संयुक्त रूप से मनाया जायेगा। 2 मई को किसान कल्याण दिवस जिसमें किसान कल्याण कार्यशाला आदि के साथ ही किसानों की आय 2022 में कैैसे दोगुनी हो बताया जायेगां। 5 मई को अजीविका दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। जिसको पीडी, डीआरडीए तथा एलडीएम आदि के माध्यम से संयुक्त रूप से मनाया जायेगा। इसके अलावा आयोजित इन दिनो अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम जिन्हें शासन द्वारा बताया गया है उन्हें भी कराया जोयगा। खण्ड विकास अधिकारी, नामित नोडल अधिकारी संयुक्त रूप से समन्वय स्थापित कर कार्यक्रमों को सम्पन्न मनाये।
बैठक में यह भी बताया गया कि संविधान शिल्पी भारत रत्न बाबा साहब डा0 बीआर अम्बेडकर के जयंती 14 अप्रैल से शुरू व 5 मई तक चलने वाले ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत जनपद के चयनित ग्रामों हेतु जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने नोडल अधिकारी नामित कर दिये है। नोडल अधिकारी जिला विद्यालय निरीक्षक, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, सीबीओ, उपायुक्त निबंधक, अधिशाषी अभियंता जलनिगम, प्राचार्य आईटीआई, खण्ड शिक्षा अधिकारी संदलपुर, अधिशाषी अभियंता ट्यूबबेल, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, प्राचार्य डायट, सहायक अभियंता लोक निर्माण, परियोजना प्रबन्धक, जिला क्रीडाधिकारी, जिला युवा कल्याण अधिकारी, सहायक अभियंता सिचाई, खण्ड शिक्षा अधिकारी झींझक, श्रम परिवर्तन अधिकारी, जिला होम्योपैथिक अधिकारी, वित्त एवं लेखाअधिकारी बीएसए आफिस, जिला खादी ग्रामोउद्योग अधिकारी आदि 44 अधिकारियों को नामित किया गया है। ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत चयनित ग्राम मवईया, फतेहपुर मजरा, निहुटा, बागपुर, बेहटा, भेवान सभी गांव मैथा विकास खण्ड के है। इसी प्रकार संदलपुर विकास खण्ड के असवी, कठरा, मनकापुर सिकन्दरा, खालागांव, भन्देमऊ, विकास खण्ड राजपुर के राजपुर, जमुआ, मलासा विकास खण्ड के बरवा रसूलपुर, डींघ, गिरदौं, अमरौधा विकास खण्ड के बम्हरौली, रैंगवा, रनियां, पिलखनी, बरौली, परेहरापुर, हलधरपुर, बिरोहा, जल्लापुर महेरा, रसूलाबाद विकास खण्ड के ग्राम पंचायत गहलौ, रसूलाबाद देहात, मुर्रा, मनवां रसूलाबाद, इटैली, असालतगंज, झींझक के करियाझाला, औरंगाबाद हीरामंशा, मुठेरा किन्नरसिंह, नासरखेडा, खम्हैला, डेरापुर विकास खण्ड के मुवई मुक्ता, सिठमरा, अकबरपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत नरिहा, बारा, सरवनखेडा विकास खण्ड के मटियामऊ, जरैला, जसौरा विरसिंगपुर, विसायकपुर ग्राम पंचायतों के लिए ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत नामित नोडल अधिकारी कर दिये गये है तथा निर्देश दिये गये है कि अपने कार्यो का निर्वहन भली भांति करें किसी भी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नही होगी। बैठक में नेशनल मिशन मैनेजर स्कीलस एण्ड लिवली हुड्स एनयूएलएम तपशराय, मुख्य विकास अधिकारी केदारनाथ सिंह, एडीएम वित्त एवं राजस्व विद्याशंकर सिंह, एडीएम प्रशासन शिव शंकर गुप्ता, एडी सूचना प्रमोद कुमार, डीडीओ अभिराम त्रिवेदी, पीडी शिवशंकर पाण्डेय, अपर सीएमओ डा0 बीपी सिंह, डीपीआरओ अजय कुमार श्रीवास्तव, प्रधानाचार्य आईटीआई प्रदीप अग्निहोत्री, डीआईओएस अरविन्द कुमार द्विवेदी, डीएसओ अंशिका दीक्षित आदि सहित जनपदस्तरीय व नोडल अधिकारी उपस्थित रहे।