Friday, November 16, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » डीएम ने नीली क्रान्ति योजनान्तर्गत जिलास्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की बैठक की

डीएम ने नीली क्रान्ति योजनान्तर्गत जिलास्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की बैठक की

कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में नीली क्रान्ति योजनान्तर्गत जिलास्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में उन्होंने कहा कि नीली क्रान्ति योजना के तहत मत्स्य उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकारी मछली पालकों को अनुदान देगी। नई व्यवस्था से आर्थिक रूप से कमजोर मत्स्य पालक भी अब मछली पालन कर मुनाफा कमा सकेंगे। उन्होंने निर्देश दिये कि मस्त्य पालकों को सरकार की योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ दिया जाये।
बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य पालक विकास अभिकरण डा0 रणजीत सिंह ने अवगत कराया कि नीली क्रान्ति योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 में तालाब सुधार एवं निवेश हेतु निर्धारित लक्ष्य 4.00 हे0 की शत प्रतिशत पूर्ति हेतु चार लाभार्थियों का चयन किया गया था। शासन से वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्राप्त परियोजना अंश (अनुदान) का तालाब सुधार एवं निवेश में लाभार्थियों द्वारा उपभोग कर कार्य पूर्ण करा लिया गया जिसकी एमबी ग्रामीण अभियन्त्रण सेवा कानपुर देहात के अवर अभियन्ताओं से करा ली गई है। उन्होंने बताया कि मत्स्य बीज रियाटिंग यूनिट का निर्माण के तहत शासन द्वारा 3.00 हे0 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसकी शत प्रतिशत पूर्ति हेतु लाभार्थियों का चयन कर प्रस्ताव हेतु भेजा गया है। बताया कि मिनी मत्स्य हैचरी का निर्माण के तहत शासन द्वारा एक मिनी मत्स्य हैचरी का निर्माण हेतु लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसकी शत प्रतिशत पूर्ति एक लाभार्थी क्षेत्रफल 2.00 हे0 का चयन कर प्रस्ताव रखा गया है। बैठक में तालाबों में प्रथम वर्ष निवेश हेतु, मोटर साइकिल/मोपेड आईस वाक्स सहित सचल मत्स्य बिक्री हेतु, निजी भूमि पर तालाब निर्माण एवं निवेश, मत्स्य बीज रियरिंग यूनिट एवं निवेश आदि बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गयी। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र कुमार राय, जिला कृषि अधिकारी सुमित पटेल, जिला सूचना अधिकारी वीएन पाण्डेय, पीडी शिव कुमार पाण्डेय आदि अधिकारी उपस्थित रहे।