Tuesday, September 25, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » अवैध रूप से ठेकेदार के कर्मचारी बसूल रहे है धनराशि

अवैध रूप से ठेकेदार के कर्मचारी बसूल रहे है धनराशि

विद्युत अधिकारी ने कहा जनता से किसी प्रकार का नही लिया जा रहा है पैसा
केबिल निशुल्क विभाग द्वारा डाली जा रही हैै – अधीक्षक अभियंता सुनील कुमार
फिरोजाबादः जन सामना संवाददाता। दक्षिण क्षेत्र पेमेश्वर गेट स्थित मालवीय नगर में विद्युत विभाग द्वारा केबिल बदलवाने का कार्य ठेकेदार द्वारा कराया जा रहा है। ठेकेदार के कर्मचारी क्षेत्रीय लोगो से अवैध बसूली के साथ अतिरिक्त केबिल का भार उनके ऊपर डालने का कार्य कर रहे है। जिसका क्षेत्रीय लोगो ने जमकर विरोध किया। वही विभागीय अधिकारी ने जाॅच कर कार्यवाही का अश्वासन भी दिया है।
बताते चले कि शहर में बिजली चोरी की घटनायें लगभग विभाग के अनुसार 60 प्रतिशत की जा रही है। जिसको रोकने के लिए विभाग द्वारा मोटी केबिल डाने का कार्य चालू कर दिया गया है। जिसको ठेका प्राईवेट लोगो को दिया गया। इसी क्रम में विगत तीन चार दिन से रोहित शर्मा नामक ठेकेदार की टीम मालवीय नगर में मीटर से सील तोडकर पुरानी विद्युत केविल को हटाकर मोटी केबिल डालने का कार्य कर रहे है। जो कि मीटर सील लगाने के नाम पर 50 से 200 रूपये तक घरों से बसूले जा रहे है। वही केविल को सडको पर ही छोड कर उनमें करंट को भी दौडा दिया गया। जिससे क्षेत्रीय लोगो में काफी रोष देखा गया। विद्युत विभाग के लोगो के खिलाफ आज सुबह क्षेत्रीय लोगो ने नारे बाजी करते हुए विरोध प्रकाट किया। विरोध करने वालों में मनोज कुमार ने बताया कि उनके मकान की दूरी पोल से मात्र पांच मीटर है जबकि सील फार्म पर 30 मीटर केबिल डालना दर्शाया गया है। यह एक व्यक्ति की शिकायत नही दिनेश , गौरव, बन्टी, मुन्नी देवी, नत्थोदेवी आदि अन्नो पण्डित, अनिल दीपचन्द्र कुशवाह आदि दर्जनों लोगो की शिकायत थी कि पोल से दरवाजे की दूरी मात्र 10 से 20 मीटर है लेकिन अधिकाश लोगो की सीट फार्म पर 30 से 45 मीटर केबिल डालना दर्शाया गया है। उक्त मामले में विद्युत विभाग के अधीक्षक अधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि जनता से अनुरोध है कि किसी भी कर्मचारी को पैसा नही दिया जाये। केबिल का कोई चार्ज नही लिया जा रहा है। जो लोग पैसे ले रहे है व दे रहे है उनके खिलाफ जाॅच कर कार्यवाही की जायेगी। कोई भी विद्युत कार्य में लगा कर्मचारी चाहे सरकारी हो या ठेकेदार का हो पैसे लेते पकडा जायेगा उसके खिलाफ थाने में अभियोग दर्ज कराया जायेगा।