Wednesday, December 19, 2018
Home » मुख्य समाचार » अधिवक्तावर्ग न्यायालय का अभिन्न अंग-कमिश्नर

अधिवक्तावर्ग न्यायालय का अभिन्न अंग-कमिश्नर

मीरजापुरः संदीप श्रीवास्तव। कमिश्नर मुरलीमनोहर लाल ने कहा कि अधिवक्तावर्ग न्याय व्यवस्था का अभिन्न अंग है। वादकारी को कोई कठिनाई न हो तथा उसे उचित न्याय मिले, इसके लिए अदालत एवं अधिवक्ता समाज के बीच आपसी सामंजस्य जरूरी है।
उक्त उद्गार शुक्रवार को कमिश्नरी अधिवक्ता समाज द्वारा अपने स्वागत के अवसर पर कमिश्नर मुरलीमनोहर लाल ने व्यक्त किए। उन्होंने हड़ताल की प्रवृत्ति से वादकारियों को होने वाली क्षति पर चिंता व्यक्त की।
मंडल मुख्यालय पर कमिश्नरी बार एसोसिएशन के पदग्रहण के बाद नवनिर्वाचित अध्यक्ष कमलाप्रसाद श्रीवास्तव के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने कमिश्नर के न्यायालयीय सहयोग के लिए माल्यार्पण कर स्वागत किया। इसी बीच अधिवक्ताओं ने मड़िहान में दुर्घटना में घायल युवक के प्रति कमिश्नर के मानवीय कदम की सराहना की। इस अवसर पर वक्ताओं में उपाध्यक्ष सुशील कुमार, सचिव राजीव यादव, सहसचिव रोहित पांडेय, वाटिका अध्यक्ष गिरिश्चंद तिवारी, पुस्तकालय मंत्री अंजनी एवं आडिटर सौरभ आदि ने भी विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर साहित्यकार सलिल पांडेय ने भी घायल युवक के जीवनदान के लिए कमिश्नर को बधाई दी तथा कमिश्नरी स्टाफ के योगदान के लिए उन्हें प्रशंसा पत्र देने का सुंझाव दिया।