Home » मुख्य समाचार » लाभ से वंचित पात्र लोगों के सर्वेक्षण का कार्य 22 से 31 जुलाई के मध्य

लाभ से वंचित पात्र लोगों के सर्वेक्षण का कार्य 22 से 31 जुलाई के मध्य

कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। प्रदेश राज्य सरकार के निर्देशों की जानकारी देते हुए मुख्य विकास अधिकारी केदारनाथ सिंह ने बताया कि प्रदेश में जनपद में संचालित लाभार्थीपरक एवं कल्याणकारी योजनाओं के लाभ से वंचित पात्र लोगों के सर्वेक्षण का कार्य 22 से 31 जुलाई के मध्य कराया जाना है। बताया कि लाभार्थीपरक योजनाओं के सर्वेक्षण में पति की मृत्यु के उपरान्त निराश्रित महिलाओं को पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन/विकास पेंशन एवं दिव्यांग जन पेंशन के साथ-साथ अन्त्योदय राशनकार्ड, पात्र गृहस्थी कार्ड, मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना(ग्रामीण), प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, आयुष्मान भारत, (नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन) के प्रत्येक पात्र लाभार्थी का प्रपत्र पृथक-पृथक सर्वेक्षणकर्ता द्वारा भरा जायेगा। पात्र लाभार्थी द्वारा सर्वेक्षणकर्ता को कई प्रमाण पत्र उपलब्ध कराए जाने होंगे। ऐसी दशा में लाभार्थियों को ऐसे प्रमाण पत्र को एक सप्ताह में बनाए जाने हेतु बताया गया है कि जिससे लाभार्थी इन प्रमाण पत्रों को बनवाकर सर्वेक्षण के समय सर्वेक्षक दल को उपलब्ध करा सकें। उन्होंने बताया कि जो प्रपत्र लाभार्थी द्वारा विभिन्न योजनाओं में उपलब्ध कराए जाने है। उन्होंने बताया कि आय प्रमाण पत्र विधवा पेंशन हेतु पति का मृत्यु प्रमाण पत्र एवं 2,00000/रू0 से कम की आय सीमा का प्रमाण पत्र तथा अन्य योजनाओं में, ग्रामीण क्षेत्र में 46080/रू0 वार्षिक से कम, शहरी क्षेत्रों में 56460 वार्षिक से कम, आय प्रमाण पत्र आवश्यक होगा। दिव्यांग लाभार्थियों के लिए दिव्यांग प्रमाण पत्र यदि पूर्व में उपलब्ध न हो मुख्य चिकित्साधिकारी के द्वारा निर्गत दिव्यांग प्रमाण पत्र की छायाप्रति, अन्य अथिलेख हेतु आधारकार्ड की छायाप्रति, बैंक पासबुक की प्रथम प्रविष्टि की छायाप्रति, सभी पेंशन योजनाओं में आय प्रमाण पत्र एवं मतदाता प्रमाण पत्र की छायाप्रति लाभार्थी अपने पास तैयार रखेंगे।