Friday, April 26, 2019
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » गर्भवती माताओं को कुपोषण से बचाव के दिये गये टिप्स

गर्भवती माताओं को कुपोषण से बचाव के दिये गये टिप्स

बाल विकास परियोजना तथा रोजा संस्थान के संयुक्त सहयोग से पोषण जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।
शिविर मे गर्भवती, धात्री, कुपोषित, किशोरी तथा 7 माह से 3 वर्ष के बच्चों को पूरक पोषाहार दिया गया।
चकिया/चन्दौली, दीपनारायण यादव। किशोरियों, गर्भवती माताओं को कुपोषण से बचाव हेतु पूरक पोषाहार के खाने की विधि, संक्रमण से बचाव हेतु उपाय बताये गये।
मॉडल ऑगनवाडी केंद्र फिरोजपुर मे शुक्रवार को ऑगनवाडी कार्यकर्त्री चंद्रावती तथा संस्थान की सरिता द्वारा ऑगनवाडी केंद्र मे पोषण दिवस तथा जागरूकता शिविर का आयोजन कुपोषण में कमी लाने हेतु किया गया। जिसमे 4 गर्भवती, 6 धात्री, 6 कुपोषित, 5 किशोरी तथा 7 माह से 3 वर्ष के बच्चों की माताओं को पूरक पोषाहार दिया गया।जब कि यहां 16 गर्भवती, 18 धात्री, 12 कुपोषित हैं। इसी क्रम मे ग्राम पंचायत महादेवपुर कला के ऑगनवाडी केंद्र में पोषण जागरूकता शिविर का आयोजन कार्यकर्त्री सावित्री देवी तथा कार्यकर्ता शिवदास द्वारा किया गया। जिसमें 6 गर्भवती, 8 धात्री, 4 कुपोषित, 2 किशोरी, 7 माह से 3 वर्ष के 22 बच्चों की माता अभिभावकों पूरक पोषाहार दिया। जबकि यहॉ कुल 10 गर्भवती, 11 धात्री, 9 कुपोषित बच्चे हैं।
कार्यकर्ता सरिता तथा शिवदास द्वारा गर्भवती के खानपान, आराम, जॉच तथा पूरक पोषाहार में गुड के लड्डू, हलवा बनाकर खाने हेतु प्रेरित किया गया। किशोरियों को माहवारी तथा संक्रमण से बचाव हेतु साफ कपडा ( सेनेटरी पैड) के उपयोग हेतु प्रेरित किया। सहजन का पेड लगाने व उससे मिलने वाले पोषक तत्व तथा हर मौसम मे फल देने आदि के महत्व को बताया।
इस कार्यक्रम में ऑगनवाडी केऩ्द्र फिरोजपुर मे मलावती, अंतिमा, सोनी, मंझारी, सुरजी, भुलनी मीरा, चंदा, पार्वती, शीला तथा महादेवपुर कला में पूजा, कविता, सुनीता, संध्या, सीमा, चंदा, अनीता,  रेशमा, रेखा, गीता, आरती, सहायिका शीला, शान्ती सहित आदि लोगों ने प्रतिभाग किया।