Sunday, March 24, 2019
Home » मुख्य समाचार » शिक्षिका के जाॅयनिंग लेटर रिपोर्ट पर कर दिए फर्जी हस्ताक्षर

शिक्षिका के जाॅयनिंग लेटर रिपोर्ट पर कर दिए फर्जी हस्ताक्षर

सासनी/हाथरस, जन सामना ब्यूरो। एबीआरसी में लिपिक द्वारा एक शिक्षिका के स्थानांतरण के बाद उसके जाॅयनिंग लेटर पर बाबू ने एबीएसए के फर्जी हस्ताक्षर कर दिए। इसकी जानकारी जब शिक्षिका को हुई तो शिकायत करने की बात करने पर बाबू ने जाॅयनिंग लेटर की चार्ज रिपोर्ट फाडकर अपने गुनाह को छिपाने की कोशिश की। इसकी शिकायत पीडित शिक्षिका ने अपने अधिकारियों से की है।
शिक्षिका ने बताया कि उसका तीन माह पूर्व नगला उम्मेद से स्थानांतरण सासनी के गांव सिंघर्र में हुआ था। जिसका जाॅयनिंग लेटरकी चार्ज रिपोर्ट किसी प्रकार उसे उस वक्त नहीं मिल पाया। बुधवार को वह अपना जाॅयनिंग लेटर लेने जब खंड शिक्षाधिकारी के ऑफिस आई तो उसे बाबू ने जाॅयनिंग लेटर थमा दिया। जाॅयनिंग लेटर की चार्ज रिपोर्ट पर खंड शिक्षाधिकारी अखिलेश यादव के हस्ताक्षर फर्जी होने की शंका हुई तो शिक्षिका ने एतराज जताया। इस पर बाबू उखड गया और शिक्षिका को भली बुरी सुनाने लगा। इसकी शिकायत शिक्षिका ने पास बैठे एक शिक्षक से की और बताया कि यह हस्ताक्षरण खंड शिक्षाधिकारी अखिलेश यादव के नहीं है। तो शिक्षक ने भी अपनी सहमति जताते हुए बताया कि हस्ताक्षर फर्जी है। इस पर बाबू ने शिक्षिका के हाथ से जाॅयनिंग लेटर चार्जरिपोर्ट को छीन लिया और उसे फाडकर रद्दी की टोकरी में डाल दिया। यह देख शिक्षिका के पैरोंतले जमीन खिसक गई। शिक्षिका ने जब यह शिकायत उच्चाधिकारियों से करने को कहा तो बाबू ने शिक्षिका को दूसरा जाॅयनिंग लेटर दिलाने का भरोसा देते हुए माफी मांगने का ठोंग शुरू कर दिया। कई शिक्षकों ने बताया कि बाबू पहले भी कई बार अपनी कारगुजारी के कारण सुर्खियों में आ चुका है, इसकी कई बार शिकायत भी की जा चुकी हैं मगर आला अधिकारी बाबू को सुधारने का कोई कदम नहीं उठा रहे है। फिलहाल शिक्षिका ने अपनी शिकायत खंड शिक्षाधिकारी श्रीमती पवन कुमारी को लिखित में दी हैं मगर खडशिक्षाधिकारी से जब इस विषय में पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि अभी शिक्षिका से कोई शिकायती पत्र आता है तो कार्रवाई की जाएगी। वहीं खडशिक्षाधिकारी अखिलेश यादव से बात करने की कोशिश की तो बात नहीं हो सकी।