Tuesday, January 22, 2019
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » डीएम ने कर करेत्तर, एन्टी भू-माफिया तथा राजस्व कार्यों के संबंध में की समीक्षा

डीएम ने कर करेत्तर, एन्टी भू-माफिया तथा राजस्व कार्यों के संबंध में की समीक्षा

जिलाधिकारी ने बैठक में मण्डी सचिवों की अनुपस्थिति पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कार्यवाही के दिये निर्देश
कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिलास्तरीय राजस्व कार्यो की मासिक बैठक एवं एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में जिलाधिकारी ने राजस्व कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एवं अन्य अधिकारीगण राजस्व कार्यों में समयबद्धता के साथ कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने राजस्व वादों के निस्तारण में कहा कि दायरे के अनुरूप सभी अधिकारियों के द्वारा नियमित रूप से न्यायालय का कार्य करते हुए निस्तारण सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने एडीएम को निर्देशित किया है कि एन्टी भू-माफिया के प्रकरणों को भू-माफिया पोर्टल पर अपलोड न कराये जाने वाले संबंधित विभागों के अधिकारियों को व बैठक में बिना सूचना के अनुपस्थिति पर स्पष्टीकरण तथा एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने बैठक में मंडी समिति के सचिव के अनुपस्थिति पर कडी नाराजगी जाहिर करते हुए कार्यवाही के निर्देश दिये है।
जिलाधिकारी ने एंटी भू माफिया समीक्षा के अंतर्गत बताया गया कि जनपद में 7 भू-माफिया है। जिस पर जिलाधिकारी ने राजस्व एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सरकार की भूमि को जो भूमाफिया क्रय विक्रय कर रहा है उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करते हुए भू-माफिया में चिन्हित किया जाए। उन्होंने कहा कि भू-माफिया के संबंध में शासन की स्पष्ट निर्देश है जिन जिन व्यक्तियों को भू-माफिया में चिन्हित करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी उसी के अनुरूप समस्त राजस्व अधिकारी गण एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी गण कार्यवाही करना सुनिश्चित करें, ताकि जनपद भू माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जा सके। जिलाधिकारी ने सभी एसडीएम व तहसीलदार आदि विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि अपने अपने क्षेत्र में देख ले कि ग्राम समाज की जगह पर कोई कब्जा तो नही किये है उसे चिन्हित करें तथा लेखपालों से लता लगवाये कि कोई भी व्यक्ति ग्राम समाज की जगह पर कब्जा तो नही किये है अगर कोई भी विभागीय अधिकारी व कर्मचारी किसी को कब्जा दिलाने में सम्मलित है तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही करे। बैठक में मुख्य बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गयी। जिलाधिकारी ने करकरेत्तर के संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है राजस्व प्राप्ति के जो लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं उसके संबंध में मासिक रूप से पूरा करने की कार्यवाही की जाए और यह कार्य सभी अधिकारियों के द्वारा कार्य योजना बनाकर सुनिश्चित किया जाए। कर करेत्तर में स्टम्प, आबकारी, वाणिज्यकर, परिवहन आदि विभागों की कम वसूली होने पर डीएम ने नाराजगी जाहिर करते हुए शत प्रतिशत राजस्व वसूली करने के संबंधित विभगाों के अधिकारियों को निर्देश दिये है। राजस्व वसूली के संबंध में जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि बड़े बकायेदारों के विरूद्ध विशेष अभियान संचालित करते हुए वसूली की कार्यवाही की जाए ताकि डिमांड के अनुरूप राजस्व वसूली संभव हो सके। कहा कि जनपद में यातायात सुगम बनाने के उद्देश्य से समस्त संबंधित अधिकारियों के द्वारा अपने अपने स्तर पर व्यापक कार्य योजना बनाते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद में कम से कम दुर्घटनाएं घटित हो। उन्होंने कहा कि दुर्घटना संभावित जनपद में जो क्षेत्र हैं उनके संबंध में चिन्हिकरण करते हुए संबंधित अधिकारियों द्वारा वहां पर विशेष कार्रवाई करते हुए विभागीय कार्यवाही सुनिश्चित करें ताकि सड़क सुरक्षा का मुख्य उद्देश शासन की मंशा के अनुरूप पूर्ण हो सके। इसके लिए उन्होंने जनपद में जागरूकता कार्यक्रम चलाने के लिए कहा और अधिक से अधिक जन सामान्य को यातायात के प्रति जागरूक करने के लिए निर्देश दिए।
उक्त बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व साहब लाल, एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा, क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर, समस्त उप जिलाधिकारी गण, परिवाहन अधिकारी, वाणिज्यकर अधिकारी, जिला सूचना अधिकारी, उप निदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी, उद्यान अधिकारी, ईओ, तहसीलदार आदि अधिकारीगण उपस्थित रहे।