Tuesday, January 22, 2019
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » सरकारी स्कूल का दुरुपयोग होने पर प्रधान पर होगी कार्यवाही

सरकारी स्कूल का दुरुपयोग होने पर प्रधान पर होगी कार्यवाही

घाटमपुर/कानपुर, शीराजी। आज अपराहन तहसील सभागार में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट शशांक चौधरी ने घाटमपुर, पतारा व भीतरगांव ब्लॉक क्षेत्र के प्रधानों के साथ बैठक कर ग्रामीणों द्वारा अन्ना जानवरों को स्कूलों में बंद किए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जिस ग्राम सभा में ग्रामीण अन्ना जानवरों को प्राथमिक पाठशाला कैंपस में बंद करेंगे वहां पर संबंधित ग्रामीणों के साथ साथ वहां के प्रधान पर भी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया की शासन के निर्देश पर ब्लॉक स्तरीय व तहसील स्तरीय कमेटी का गठन किया जाएगा। ब्लॉक स्तरीय कमेटी में बीडीओ अध्यक्ष होंगे तथा पशु चिकित्सा अधिकारी ग्राम प्रधान पशु धन प्रसार अधिकारी व राजस्व निरीक्षक ग्राम पंचायत अधिकारी सदस्य होंगे जो चारे का प्रबंध, लाइट व्यवस्था एवं अन्ना गौवंश का लेखा जोखा रखेंगे। तहसील स्तरीय कमेटी में उपजिलाधिकारी अध्यक्ष होंगे तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी तहसीलदार नायब तहसीलदार सदस्य होंगे जो विकासखंड कमेटी पर नजर रखेगें। तथा भूमि चिन्हित करके अस्थाई बाड़ो के लिए व्यवस्था करेगी। बीडीओ व ब्लाक प्रमुखए ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम प्रधानों, कमेटी के सदस्यों तथा ग्रामीणों को शासन की मंशा से परिचित कराएंगे। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट शशांक चौधरी ने मौजूद ग्राम प्रधानों से कहा कि किसी भी प्रकार की कोई भी सूचना होने पर या समस्या होने पर वह उन्हें परिचित कराएं। इस मौके पर मौजूद ब्लॉक प्रमुख घाटमपुर इंद्रजीत सिंह कुशवाहा ने अन्ना गौवंश समस्या पर विस्तार से विचार व्यक्त करते हुए कहा कि अगर पशु पालक जानवरों को अपने खूटें से बांध कर रखें तो समस्या पर काबू पाया जा सकता है। प्रशासन द्वारा अन्ना गौवंश से परेशान किसानों द्वारा उन्हें सरकारी विद्यालयों में बंद किए जाने से उत्पन्न समस्या का समाधान करने के लिए बैठक आयोजित की गई थी।