Friday, March 22, 2019
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » गर्म मौसम में भी अच्छा होता है मोतियाबिन्द का आपरेशन – डा.आर. के ओझा

गर्म मौसम में भी अच्छा होता है मोतियाबिन्द का आपरेशन – डा.आर. के ओझा

चन्दौली, दीप नारायण यादव। चन्दौली-नौगढ़,शहाबगंज और आर.के.नेत्रालय वाराणसी में एक साथ पूर्व की भाँति आज भी निशुल्क नेत्र शिविर का आयोजन किया गया। जहाँ आर. के. नेत्रालय वाराणसी, परिसर में आपरेशन एवं लेन्स प्रत्यारोपण कैम्प आयोजित किया गया। जिसमें आर. के. नेत्रालय महमूरगंज वाराणसी के चिकित्सकों द्वारा नौगढ़ (चन्दौली) क्षेत्र के 12 मरीजों का आपरेशन एवं लेन्स प्रत्यारोपण किया गया और उन्हें निःशुल्क दवाइयाँ तथा चश्मा वितरित किया गया। शिविर में कुल 272 मरीजों ने रजिस्ट्रेशन कराया। जिसमें कुल 65 मरीजों को मोतियाबिन्द के लिए चिन्हित किया गया। ध्यातव्य हो कि कम्यूनिटी पुलिसिंग के अन्तर्गत पिछले एक वर्ष से जिलाधिकारी चन्दौली नवनीत सिंह चहल एवं पुलिस अधीक्षक चन्दौली संतोष कुमार सिंह की पहल पर प्रत्येक बुधवार को नौगढ़ थाना परिसर में मातृभूमि सेवा ट्रस्ट द्वारा निःशुल्क नेत्र शिविर आयोजित किया जाता है, और मोतियाबिन्द के लिए चिन्हित मरीजों को आर. के. नेत्रालय महमूरगंज ले जाकर आपरेशन एवं लेन्स प्रत्यारोपण कराया जाता है, जिसमें अब तक नौगढ़ (चन्दौली) क्षेत्र के लगभग 16000 (सोलह हजार) से अधिक मरीजों के मोतियाबिंद का आपरेशन एवं लेन्स प्रत्यारोपण कराया जा चुका है। नेत्र शिविर के संयोजक संजय कुमार सिंह ने कहा कि संगठन ने, इसके अतिरिक्त हम सभी ने 19 मरीजों का कार्नियां ट्रान्सप्लान्ट भी कराया है।इसके अतिरिक्त हम सभी ने अपने निजी प्रयास से सैकड़ों गरीबों का अपने व्यक्तिगत कोष से कई असाध्य विमारियों का इलाज भी कराया है।जिससे कि बहुत से निराश हो चुके लोगों के जीवन में एक नया सबेरा आ चुका है। कैम्प में अपना विचार व्यक्त करते हुए देश के जाने माने नेत्र विशेषज्ञ डा. आर. के ओझा जी ने कहा कि बिना किसी सरकारी सहायता के इतने बड़े स्तर पर लोगो की सेवा करना आसान नहीं है। डा. ओझा ने लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि गर्मी से घबराने की जरुरत नहीं है हमारे यहाँ उच्चतम एवं नवीनतम तकनीकी से बेहतरीन मशीनों पर देश के माने जाने डाक्टरों की टीम द्वारा विना चीरा विना टाँका के मोतियाबिंद का आपरेशन एवं लेन्स प्रत्यारोपण किया जाता है, इसलिए इसमें गर्मी से कोई फर्क नहीं पड़ता है।पहले ऐसा होता था कि लोग जाड़े के दिनों में ही मोतियाबिन्द का आपरेशन कराते थे, परन्तु अब ऐसा नहीं है। संचालन सुमन्त कुमार मौर्य और धन्यवाद ज्ञापन रिन्कू विश्वकर्मा ने किया। कैम्प में मुख्य रूप से सुप्रसिद्ध रेटिना विशेषज्ञ डा. अतुल शाहु जी, डा. मंजू मिश्रा, डा. राकेश प्रधान, राम कुमार बाबा, सत्यानन्द रस्तोगी, अवधेश कुमार, पंकज सिंह, विकास कुमार सिंह, राजेश सिंह, अरविन्द पाण्डेय, मार्तण्डगुप्ता, अजय गुप्ता(crpf), दिलीप गुप्ता, राधेश्याम यादव, मु. तौफिक, बीरूद्दीन, संतोष श्रीवास्तव, राजेश सिंह, लाल सिंह, चन्द्रशेखर साहनी, नरेन्द्रभूषन तिवारी, नित्यानन्द रस्तोगी, अनिल पाण्डेय, विनोद कुमार, रमेश यादव,अमजद, अजय कुमार मिश्र, संजय पाल, अजय कुमार सिंह, रामनिवास मौर्य (प्रधान, इत्यादि लोग मौजूद रहे।