Monday, September 24, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » वकीलों ने एसडीएम सदर के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाये गंभीर आरोप

वकीलों ने एसडीएम सदर के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाये गंभीर आरोप

मीरजापुर, संदीप कुमार श्रीवास्तव। मिर्जापुर. ट्रेनी आईएएस उप जिलाधिकारी सदर अरविंद चौहान से नाराज होकर वकीलों ने शुक्रवार को जमकर हंगामा किया। वकीलों ने जिला अधिकारी कार्यालय में घुसकर डीएम का घेराव किया और हंगामा और नारेबाजी भी की। जिला मुख्यालय पर सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित वकीलों ने डीएम चैम्बर से लेकर मुख्यालय परिसर तक एसडीएम सदर के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। नाराज वकीलों ने एसडीएम सदर के कोर्ट में ताला लगा दिया। एसडीएम सदर को 15 दिन के अंदर अपने आचरण में सुधार लाने कि हिदायत देते हुए शिकायत शिकायत पत्र जिला अधिकारी विमल कुमार दुबे को सौंपा।
वकीलों का कहना था कि अगर पंद्रह दिनों में उनके व्यवहार में कोई बदलाव नहीं दिखाई दिया तो हम लोग एसडीएम सदर के खिलाफ सड़कों पर उतर कर लड़ाई लड़ेंगे और उनके कोर्ट का बहिष्कार करेंगे। इस बीच हंगामे के दौरान वकीलो ने उप जिला अधिकारी सदर के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए। विरोध प्रदर्शन के दौरान मिर्जापुर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रतन कुमार मिश्रा का कहना था कि एसडीएम सदर अरविन्द कुमार चौहान उनका वकीलों के साथ व्यवहार ठीक नही है, उनके न्यायालय में जब भी वकील जाते है या वादकारी जाते हैं, उनको जो सम्मान मिलना चाहिेए उचित सम्मान नही देते हैं और वह सही तरीके से न्याय प्रक्रिया नहीं करते हैं। उनका कहना था कि वह न्यायिक प्रक्रिया अपने हाथ में लेकर मनमाना तरीके से चला रहे हैं, जिसको लेकर वकीलों में उनके प्रति काफी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि बार एसोसिएशन समस्या के समाधन के लिए उनसे व्यक्तिगत मिल चुके हैं, लेकिन उनके रवैये में कोई परिवर्तन नही आया।
फिलहाल वकीलों की संस्था मिर्जापुर बार एसोसिएशन ने उन्हें अपनी तरफ से पंद्रह दिनों का समय कार्य पद्धति बदलने और व्यवहार में सुधार लाने के लिए दिया है।अगर कोई बदलाव नहीं आया तो वकील कोर्ट का बहिष्कार कर सड़कों पर उतर कर विरोध करेंगे।