Monday, October 15, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » विद्यालय सत्र समापन समारोह में शिक्षक शिक्षिकाओं व अच्छे अंकों से उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का किया गया सम्मान

विद्यालय सत्र समापन समारोह में शिक्षक शिक्षिकाओं व अच्छे अंकों से उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का किया गया सम्मान

निरंतर ज्ञान बाटने से ही ज्ञान बढ़ता है भूलने की प्रक्रिया गैप देने से होती है शुरू इसलिए पठन पाठन रखे जारी
देहदान सबसे बड़ा व पवित्र दान: प्रधानाचार्य
कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। अकबरपुर क्षेत्र के देव समाज पब्लिक स्कूल के द्वारा सत्र् समापन के अवसर पर शिक्षक शिक्षिकाओं व परीक्षा में अच्छें अंकों में उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का एक सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। दौरान प्रथम, द्वितीय, तृतीय उत्तीर्ण बच्चों को प्रशिस्त पत्र, पानी की बोतल आदि देकर सम्मानित किया गया। देव समाज के प्रबन्धक केएस चैहान व 96 वें वर्षीय बलवीर शर्मा, ऐएस चैहान की धर्मपत्नी राधा किशन चैहान आदि ने सत्र् समापन के अवसर समूचित स्टाफ का सम्मान करते हुए कहा कि स्टाफ की मेहनत व लगन के कारण ही सभी बच्चे अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण हुए है तथा निरंतर विद्यालय को एक सकारात्मक सहयोग दे रहे है जिसके कारण समूचित देवसमाज आभारी है। स्टाफ ग्रीष्म कालीन अवकाश का पूरी तरह उपभोग करे तथा अपने को पूरी तरह से सक्रिय रखे यदि बाहर दार्जलिंग, मसूरी, दिल्ली, गोवा आदि जहां जाये वहां का अनुभव नये सत्र् जुलाई माह में आकर विद्यालय में बच्चों के साथ अवश्य शेयर करें तथा नये जोश व उमंग के साथ पठन पाठन का कार्य करें। भगवान देवात्मा को याद कर उनके मानवीय विचारों से ओतप्रोत देवआत्मा व देश के महानपुरूषों के जीवन चरित्र व विद्यालय द्वारा देव समाज की शिक्षाओं के साथ ही संस्कार और अनुशासन के बारे में भी बताया गया।
मुख्य अतिथि एडी सूचना प्रमोद कुमार ने कहा कि संस्कार और अनुशासन परिवार, समाज व देश को महान बनाता है विद्यालय द्वारा अनुशासन और संस्कार राष्ट्रीय एकता और खण्डता पर जोर दिया जा रहा है। अनुशासन के बिना एक पल जिन्दगी की कल्पना कोरा स्वप्न लगता है। स्कूल के साथ ही घर पर माता पिता, अभिभावक का परिवेश अनुशासन सिखाने का एक सशक्त माध्यम है। सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार ने कहा कि अभिभावक व अध्यापक व अध्यापिकायें अपने बेहतर पठन पाठन और देख रेख से बच्चों में आत्मविश्वास को जाग्रत व सुदृढ़ बनाने का कार्य करें। यह परिवेश शिक्षा की सम्पूर्णता से पूर्ण है, इसका पूरा सदुपयोग करते हुए भविष्य को उज्जवल बनाए तथा संविधान शिल्पी बाबा साहब डा. बी आर अम्बेडकर, पं. दीनदयाल उपाध्याय, सरदार पटेल, सरदार भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, गांधी, जवाहरलाल नेहरू आदि देश के महापुरूषों ने जो सपना देखा था उसके अनुरूप भारत व समाज को विकसित करने का कार्य करें। ग्रीष्म अवकाश है सत्र् का समापन है परन्तु पठन पाठन एक निरंतर प्रक्रिया है इसे लंबे समय तक गैप देने से भूलने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। निरंतर ज्ञान बाटने से ही ज्ञान बढ़ता है इस लिए पठन पाठन जारी रखे। बच्चो को अपने आप की आत्मशक्ति पहचानने के लिए प्रेरित किया जाये, संस्कार विकसित हो, राष्ट्रीय एकता अखण्डता भाईचारे को मजबूती व पर्यावरण संरक्षण का भी संदेश जाये। समुचित स्टाफ को प्रदेश सरकार की उपलब्धियों एक साल नई मिसाल, सबका साथ सबका विकास पुस्तक दी और कहा कि अवकाश के दिनों में स्टाफ सरकार की योजनाओं को भी आमजन तक पहुंचाकर उनको लाभ दिलाने में आगे आये। कक्षा में आने वाले प्रथम, द्वितीय, तृतीय छात्र-छात्राओं, स्टाफ को अंजीर फल, पानी की बोतल, प्रज्ञा पुस्तक आदि भेट की गयी। प्रधानाचार्य सुभाष शर्मा द्वारा विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट को पढ़ा गया साथ यह भी बताया गया कि देव समाज को गर्व है कि 96वें वर्षीया माता बलवीर शर्मा व देव समाज के प्रबन्धक केएस चैहान द्वारा अपना देहदान मेडिकल कालेज को किया जा चुका है जिसका प्रमाण पत्र आ चुका है। उन्होंने कहा कि देहदान सबसे बड़ा व पवित्र दान है। मनुष्य का शरीर उसके मृत्यु के बाद भी समाज मेडिकल विद्यार्थी आदि के लिए काम आये तो यह गर्व की बात है। देहदान सबसे बड़ा व पवित्र दान है इसी संदेश के साथ आगामी सत्र् में प्रधानाचार्य सुभाष चन्द्र शर्मा, सत्येन्द्र, अमर सिंह, सुमन गुप्ता, नीरज, मीना कुशवाहा, प्रमोद, मनीष, प्रिया, राजेश, पी-3 फिल्म के निर्माता व समाजसेवी केपी ओबराय, संजय कुशवाहा, सीता देवी, एस कुमार आदि जनों ने भी देहदान करने हेतु औपचारिकता पूर्ण करने की भी बात कही।