Tuesday, August 21, 2018
Home » मुख्य समाचार » जून के अंत में शुरू होगी पहली केन्द्रीय ट्रैफिक नियंत्रण प्रणाली

जून के अंत में शुरू होगी पहली केन्द्रीय ट्रैफिक नियंत्रण प्रणाली

ट्रैफिक नियंत्रण प्रणाली को लेकर महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे ने दी जानकारी
टूंडला, जन सामना संवाददाता। उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एमसी चौहान ने उत्तर मध्य रेलवे परियोजना इकाई के अधिकारियों के साथ बुधवार को बैठक ली। जिसमें उन्होंने टूंडला में भारतीय रेल की अपने प्रकार की पहली केन्द्रिय ट्रैफिक नियंत्रण प्रणाली जून के अंत तक संचालित होने लगेगी। उन्होंने बताया कि कुछ समय से टूंडला में निर्माणाधीन केंद्रीकृत यातायात नियंत्रण (सीटीसी) प्रणाली का संचालन सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है। सीटीसी द्वारा कवर 44 स्टेशनों में से, मौजूदा नियंत्रण बोर्ड एक और दो को कवर करने वाले 29 स्टेशनों को जून 2018 मे ही इसका क्रियान्वयन किया जाएगा। सीटीसी की स्थापना उत्तर मध्य रेलवे के लिये एक उत्कृष्ट उपलब्धि है क्योंकि यह भारतीय रेलवे में पहली बार है कि ऐसी प्रणाली स्थापित की जा रही है। सीटीसी प्रणाली उत्तर मध्य रेलवे के कानपुर-गाजियाबाद खंड में स्थापित की जा रही है। इस परियोजना को 40 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। जिसमें स्वचालित ट्रेन चार्टिंग और भंडारण तथा ग्राफ का जनरेशन, थ्रूपुट और लाइन क्षमता में वृद्धि, अधिक कुशल समय सारणी प्रबंधन, नियंत्रक द्वारा ट्रेन संचालन का प्रत्यक्ष और कुशल नियंत्रण निर्देशों के संचार में देरी से बचत, स्टेशन पर एक के एक पीछे ट्रेनों के मूवमेंट के लिये अग्रिम मार्ग सेटिंग की जा सकती है, इसलिए प्रत्येक ट्रेन के लिए कोई व्यक्तिगत मार्ग सेटिंग नहीं होती जिसके परिणामस्वरूप समय और प्रयास की बचत होती है। यातायात ब्लॉक की आसानी से बेहतर योजना, असामान्य घटनाओं की रियल टाइम मैसेजिंग के साथ ही घटनाओं की ऑनलाइन लॉगिंग, नियंत्रक द्वारा हुई किसी भी त्रुटि की पहचान कर उसमे ऑनलाइन सुधार की सुविधा होगी।