Sunday, March 24, 2019
Home » मुख्य समाचार » मेरी लड़ाई पैसे व रसूख वालों से मैं हार नहीं मानूंगी-सुनीता

मेरी लड़ाई पैसे व रसूख वालों से मैं हार नहीं मानूंगी-सुनीता

हाथरस, नीरज चक्रपाणि। सांसद प्रतिनिधि रहे मुकेश पौरूष की मौत प्रकरण में उनकी पत्नी ने आज फिर से प्रेसवार्ता कर सांसद व चिकित्सक द्वारा दिये गये बयानों पर हैरत जताते हुए उनके बयानों को बौखलाहट व बे सिर पैर के बताये हैं और उन्होंने कहा है कि मैं पैसे के लिए नहीं न्याय के लिए लड रही हूं।
अलीगढ रोड स्थित रावत नगर कालौनी में आज फिर से अपने आवास पर आयोजित प्रेसवार्ता में सांसद प्रतिनिधि रहे स्व. मुकेश पौरूष की पत्नी श्रीमती सुनीता पौरूष ने आरोप लगाते हुए कहा कि 25 दिसम्बर को मैंने प्रेसवार्ता की थी जिसमें मैंने अपने पति की साजिशन हत्या के तहत कुछ तथ्य उजागर किये थे और उक्त सम्बंध में भाजपा सांसद व चिकित्सक के बयान पढे। उनका आरोप है कि सांसद का बयान पढने के बाद मुझे बिल्कुल भी हैरत नहीं हुई क्योंकि मेरे पति के मामले में तो उनके पास कुछ कहने को है ही नहीं इसलिए बौखलाहट में इस तरह के अनर्गल बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पति को अपना प्रतिनिधि बनाया तो इसमें उन्होंने मेरे पति पर कोई एहसान नहीं किया था और अपने स्वार्थ के लिए प्रतिनिधि बनाया था। वह स्वयं तो दिल्ली में पडे रहते थे और मेरे पति 24 घण्टे तन, मन से इनकी सेवा में लगे रहते थे और मेरे पति इन्हीं के लिए काम करते हुए एक तरीके से शहीद हो गये।
प्रेसवार्ता में श्रीमती सुनीता पौरूष का आरोप है कि मेरे पति ने सांसद से एक पैसा नहीं लिया और सांसद अब फरमा रहे हैं कि मुकेश पौरूष के परिवार से उनका कोई सम्बंध नहीं है। उन्होंने यह भी आरोप लगाते हुए कहा कि मैं चिकित्सक से पैसे दिलाने की मांग कर रही हूं यह सरासर झूठ है तथा इनके घर पर चिकित्सक के भाई से इनकी बातचीत हुई लेकिन इनके बीच क्या बात हुई मुझे नहीं पता। उन्होंने कहा कि मुझे केवल और केवल अपने पति के लिए न्याय चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरे पति मुझे सारी बातें बताया करते थे और इनके पैसे की किसी तरह की बात मुझे नहीं बतायी और वह ऐसा कहकर मेरे दिवंगत पति को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। उनका आरोप है कि इस समय चिकित्सक व सांसद दोनों एक सुर बोल रहे हैं। उन्होंने सांसद व चिकित्सक पर गभीर आरोप लगाये हैं।
अंत में सुनीता पौरूष ने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच करायी जाये और जो भी हो उसे कडी सजा मिले और यदि उक्त दोनों पाक साफ हैं तो उन्हें किस बात का डर है। उन्होंने कहा कि मेरी आवाज दबाने की कोशिश की जा रही है और मेरी लडाई पैसे व रसूख वालों से है लेकिन मैं हार नहीं मानूंगी।