Friday, March 22, 2019
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » नाबालिग को बेहोश कर तीन दिन तक गैंगरेप

नाबालिग को बेहोश कर तीन दिन तक गैंगरेप

बेहोशी की हालत में घर के बाहर चैराहे पर छोड़ गए आरोपी
जांच के नाम पर एक पखवाड़े तक टहलाती रही पुलिस
टूंडला। नाबालिग को नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश होने के बाद उसके साथ गैंगरेप किया गया। बेहोशी की हालत में आगरा ले जाने के बाद तीन दिन तक गैंगरेप करने के बाद नाबालिग को उसके घर के चैराहे पर छोड़कर आरोपी फरार हो गए। पुलिस जांच के नाम पर मामले को टरकाती रही। आखिर में पुलिस ने एक पखवाड़े के बाद आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।
थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक मौहल्ले की रहने वाली महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि गत 27 फरवरी को वह अपनी 15 वर्षीय पुत्री को घर पर छोड़कर बेटे को स्कूल छोड़ने के लिए गई थी। पुत्री घर पर अकेली थी। पति नौकरी पर चले जा चुके थे। तभी पड़ोस में रहने वाले प्रमोद कुमार पुत्र विनोद कुमार उसके घर में घुस आया और उसकी पुत्री को बहला-फुसलाकर आॅटो में बिठाकर अपने साथ ले गया। पीड़िता की पुत्री को टूंडला से बाहर ले जाने के बाद कोई नशीला पदार्थ खिला दिया। जिसके बाद उसकी पुत्री बेहोश हो गई। बेहोशी की हालत में ही उसकी पुत्री को आरोपी अपने दो अज्ञात साथियों के साथ आगरा ले गया। जहां उसके साथ तीन दिन तक गैंगरेप किया। इस दौरान पीड़ित परिवार अपनी पुत्री की तलाश में दर-दर की ठोकरें खाता रहा। तीन दिन बाद अचानक ही उनकी पुत्री घर के बाहर चैराहे पर पड़ी मिली। पीड़िता ने घटना से परिवारीजनों को अवगत कराया। यह मामला सुनने के बाद परिजनों के भी होश उड़ गए। पीड़ित परिवार आरोपी की शिकायत लेकर थाना टूंडला के चक्कर काटता रहा, लेकिन पुलिस ने मामले की जांच का बहाना करते हुए उसे हरबार टरका दिया। मंगलवार को पीड़िता की मां की तहरीर के आधार पर टूंडला पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।
जल्द पकड़े जाएंगे आरोपी-ज्ञानेन्द्र
टूंडला। इस संदर्भ में थाना प्रभारी टूंडला ज्ञानेन्द्र कुमार का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है, जो जल्द ही पकड़े जाएंगे।