Monday, October 22, 2018
Home » मुख्य समाचार » सभी विभागों 48 घंटे के अंदर आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों का निस्तारण करें

सभी विभागों 48 घंटे के अंदर आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों का निस्तारण करें

2017.07.09 02 ravijansaamnaइलाहाबाद, जन सामना ब्यूरो। जिलाधिकारी संजय कुमार ने आईजीआरएस पोर्टल पर दर्ज जनपद की शिकायतों की समीक्षा जिले के समस्त विभागों और अधिकारियों के साथ किया। उन्होंने शिकायतों के निस्तारण में शिथिलता बरतने वाले वाले विभागों के अधिकारियों का वेतन रोकते हुए विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दिया। जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक में कहा कि जनता के समस्याओं का निस्तारण सभी अधिकारी सर्वोच्च प्राथमिकता पर करें। उन्होंने कहा कि जनता से सीधे जुड़े विभाग हर हाल में प्रातः 9 बजे 11 बजे तक समस्याओं को सुने और ज्यादा से ज्यादा समस्या उसी दिन निस्तारित करें। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करें तथा शिकायतकर्ता को निस्तारण के उपरान्त उसे कार्रवाई से अवगत भी करायें। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से शिकायतों के निस्तारण की समय सीमा तय करते हुए कार्य करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही तथा जनता के कार्यों में लापरवाही पर समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी सहित जनपद में तैनात समस्त चिकित्सा प्रभारियों, लोक निर्माण विभाग के समस्त अभियन्ताओं, सिंचाई विभाग के समस्त अभियन्ताओं, विद्युत विभाग के मुख्य अभियन्ता सहित सभी अभियन्ताओं तथा विद्युत विभाग के समस्त अधिकारी सहित जिला विकास अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, एसपी यमुनापार(प्राभारी आईजीआरएस सेल पुलिस), एलडीएम, डायट प्राचार्य, प्राचार्य आईटीआई तथा प्राचार्य प्राविधिक शिक्षा का रोकते हुए सभी को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि दिया। जिलाधिकारी संजय कुमार चिकित्सा, सिंचाई, विद्युत तथा राजस्व विभाग के अधिकारियों को शिकायतों के निस्तारण में हीलाहवाली करने तथा खराब प्रदर्शन के लिए जमकर फटकारा। उन्होंने सभी विभागों का हिदायत दिया कि वे 48 घंटे के अंदर आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों का निस्तारण करें। उन्होंने बैंक के अधिकारियों द्वारा शिकायतों को लम्बित रखने के लिए एलडीएम को फटकार लगाते हुए दो दिनों के अन्दर शिकायतों को निस्तारित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कर-करेत्तर में धीमी प्रगति पर स्टाम्प एवं पंजीकरण के अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया। पुलिस में सर्वाधिक शिकायतें थीं जिसपर उन्होंने एसपी यमुनापार का वेतन रोकते हुए चेतावनी दिया। उन्होंने सभी थानाध्यक्षों को चेतावनी दिया कि आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों का गुणवत्तापूर्वक शीघ्र निस्तारण करें तथा दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। उन्होंने कि शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बरतने पर सम्बन्धित थानाध्यक्षों को लाइनहाजिर किया जायेगा। जिलाधिकारी ने मण्डी तथा आबकारी विभाग को लक्ष्य की पूर्ति न करने पर कारण बाताओ नोटिस जारी किया तथा भविष्य के लिए चेतावनी भी दिया। जिलाधिकारी ने सभी अपर जिलाधिकारियों को चेकलिस्ट के आधार पर सभी तहसीलों का भ्रमण कर शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी स्तर पर हर शुक्रवार को आईजीआरएस पोर्टल पर आयी शिकायतों की समीक्षा होगी। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को सम्बन्धित तहसीलों के भू-माफियाओं को चिन्हित कर सूची बनाने का निर्देश दिया और कहा कि भू-माफियओं पर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाय।जिलाधिकारी ने 24 घंटे के अंदर सभी उप जिलाधिकारियों से भू-माफियओं की सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों से कहा कि पुराने प्रकरणों से शिकायतों का निस्तारण शुरू करते हुए वर्तमान तक की सभी शिकायतों को निस्तारित किया जाय। उन्होंने निर्विवादित दाखिल खारिज के प्रकरणों की सूची सभी तहसीलों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। डीएम ने सभी उप जिलाधिकारियों को कमियों के आधार पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने नगर निगम को रात्रि में सफाई करने का निर्देश दिया तथा नालों से निकाली जा रही सिल्ट को उसी समय हटाने का निर्देश दिया।