Home » विविधा » ये मेरा मन…..

ये मेरा मन…..

pooja-ahoojaकभी गोटा किनारी लगाता जाता ये मेरा मन
कभी चुनरी लहराता जाता ये मेरा मन
कभी अरमान संजोता जाता ये मेरा मन
कभी टूट कर बिखरता जाता ये मेरा मन
कभी आग बनके दहकता जाता ये मेरा मन
कभी राख बनके सुलगता जाता ये मेरा मन
कभी आँखों में ख्याल बनके सो जाता ये मेरा मन
कभी पलकों में सपने बिखेर जाता ये मेरा मन
कभी एहसासों का स्यापा ये मेरा मन
कभी अरमानों का बवंडर ये मेरा मन
कभी सपनों का शीशमहल ये मेरा मन
कभी टूटता खण्डहर ये मेरा मन