Monday, September 24, 2018
Breaking News
Home » महिला जगत » काॅस्मेटोलाॅजी में बढ़ते रोजगार के अवसर -अनीता गौड़

काॅस्मेटोलाॅजी में बढ़ते रोजगार के अवसर -अनीता गौड़

क्रेडिट रोल- भारती तनेजा, डाॅयरेक्टर आॅफ एल्पस ब्यूटी क्लीनिक एंड एकेडमी
समृद्धि, संपन्नता और फैशन की लहर ने ब्यूटी इंडस्ट्री को काफी लोकप्रिय बना दिया है। आज महानगरों में ही नहीं बल्कि छोटे-छोटे शहरों में भी कई पर्सनाॅलिटी ग्रूमिंग और ब्यूटी सेंटर खुल गए हैं क्योंकि आज ये जरूरी होगया है, कि आप न सिर्फ अपने परिवार में बल्कि दूसरों की निगाहों में भी सुंदर दिखें। इसी जागरूकता के कारण ही ब्यूटी इंडस्ट्री में करियर भी इन दिनों काफी लोकप्रिय हो रहा है। ऐसा ही एक कामयाब करियर है, काॅस्मेटोलाॅजी की लाइन में। काॅस्मेटोलाॅजी में करियर केवल आपको ब्यूटी में ही नहीं बल्कि ब्यूटी, मेकअप व हेयर तीनों में एक्सपर्टाइज बनाएगा, जिसके चलते आप केवल एक ब्यूटी एक्सपर्ट नहीं बल्कि ब्यूटी डाॅक्टर भी कहलाएंगी। कैसे बने एक सफल काॅस्मेटोलाॅजिस्ट, जानते हैं….सुप्रसिद्ध काॅस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस काॅस्मेटिक क्लीनिक की फांउडर डाॅयरेक्टर भारती तनेजा जी से।
संपूर्ण करियर- एक सफल काॅस्मेटोलाॅजिस्ट बनने के लिए ये जरूरी है कि आपको ब्यूटी, हेयर एंड मेकअप की कंप्लीट जानकारी हो, क्योंकि आज के इस हाईटेक वल्र्ड में सिर्फ प्राॅब्लम के बेसिक जानना ही काफी नहीं बल्कि उन प्राॅब्लम्स की जड़ों तक पहुंचना और उन्हें ठीक करने के लिए नई तकनीकों का ज्ञान होना भी जरूरी है, जो आपको सिर्फ डी.बी.एच.एम यानि ब्यूटी, हेयर एंड मेकअप में डिप्लोमा करके प्राप्त हो सकता है। ये कोर्स आप एल्पस एकेडमी की किसी भी ब्रांच से कर सकते हैं।
कोर्स कंटेंट- हेल्दी और ग्लोइंग स्किन हमेशा से ही खूबसूरत चेहरे का राज रही है। स्किन कोहेल्दी रखने के लिए दो तत्वों की जरूरत होती है….पहला तेल और दूसरा नमी। इन दोनों की संपूर्ण पूर्ति किस प्रकार और कैसे करनी है… इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारी एकेडमी में स्टूडेंट्स को स्किन की एनाटाॅमी व फिजियोलाॅजी के बारे में बताया जाता है साथ ही उसे कैसे न्यूट्रीशियन देना है, इस बात की भी पूरी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा आईब्रोज की शेप बनाना, अपरलिप, फोरहेड और चिन के अनवांटेड हेयर्स को रिमूव करने के लिए थ्रेड और रेड वैक्स का इस्तेमाल करना, बाॅडी के अलग-अलग पार्ट्स पर वैक्सिंग करने की तकनीक, सावधानी और बारीकियों को समझाना और कब क्या नहीं करवाना या लेना है, इन सभी के बारे में पढ़ाया जाता है। इसके साथ ही उन्हें अनवांटेड हेयर कलर को लाइट करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ब्लीच और उसके अलग-अलग प्रकार के बारे में बताया जाता है। कैसी स्किन पर कौन सा ब्लीच और कैसे एप्लाई करना है, इन सबकी जानकारी छात्रों कोइस कोर्स के अंतर्गत दी जाती है। इतना ही नहीं छात्रों कोइस कोर्स में डिफरेंट-डिफरेंट फेशियल, बाॅडी एंड फेस मसाज टेक्नीक और प्वाइंट्स, बाॅडी स्क्रबिंग, बाॅडी पाॅलीशिंग और तरह-तरह के मैनीक्योर व पैडीक्योर की जानकारी दी जाती है। कई प्रकार की स्किन प्राॅब्लम्स जैसे एक्ने, स्काॅर्स, बर्न माक्र्स, चिकन पाॅक्स मार्क्स, रिंकल्स, फाइन लाइन्स, पफी आईज, अंडर आई डार्क सर्कल आदि परेशानियों के कारण, लक्षण व उन्हें कैसे ठीक करना है…इन सबकी टेक्नीकल जानकारी प्राप्त करवाई जाती है। इन ब्यूटी बेसिक्स को क्लीयर करने के बाद स्टूडेंट्स को वाॅटरप्रूव करेक्टिव मेकअप, ट्रांस्परेंट मेकअप, डे और नाइट पार्टी मेकअप, ट्रैडिशनल ब्राइडल मेकअप, डिफरेंट टाइप आॅफ आई-मेकअप, ग्रूम मेकअप, हाईटेक जमाने का एच.डी मेकअप, सिलिकाॅन मेकअप और मीडिया मेकअप यानि रैंप, पोर्टफोलियो व स्टेज मेकअप में एक्सपर्ट बनाया जाता है। खूबसूरत चेहरे के साथ खुद को बेहतरीन अंदाज में पेश करने के लिए इन मेकअप के साथ-साथ स्टूडेंट्स को साड़ी टाई व हेयर स्टाइल के स्किल्स भी सिखाएं जाते हैं।
वैसे तो चेहरे को खूबसूरत बनाने में मेकअप का बहुत बड़ा हाथ है लेकिन पूरी पर्सनाॅलिटी को निखारने के लिए अच्छे बाल व अच्छे हेयर स्टाइल बहुत जरूरी हैं, इसीलिए इस कोर्स के अंदर छात्रों को हेयर एनाटाॅमी व उनके टाइप कोध्यान में रखते हुए शैंपू व कंडीशनिंग के बारे में बताया जाता है साथ ही हिना एंड डाई एप्लीकेशन, हेड मसाज, हेयर कलरिंग, रोलर, ब्लोड्रायर एंड टांग सेटिंग, प्रैसिंग, रिबांउडिंग व पर्मिंग के बारे में डीपली पढ़ाया जाता है। किसी भी केमिकल से यदि किसी क्लाइंट को एलर्जी होजाती है, तो उसके लिए क्या और कैसे करना है, ये भी हम छात्रों को अपने इस कोर्स में सिखाते हैं। इन सभी फंडामेंटल्स को क्लीयर करने के बाद स्टूडेंट्स को हेयर कट व हेयर स्टाइल्स सिखाकर माहिर कर दिया जाता है। बालों को ग्रहण लगाने वाली प्राॅब्लम्स जैसे डैंड्रफ, हेयर फाॅल व बाॅल्डनेस के ट्रीटमेंट्स व बालों को पोषण पहुंचाने वाले डीप कंडीशनिंग हेयर स्पा के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है।
नाॅलेज आॅफ मशीन एंड टूल्स- इस कोर्स में लेटेस्ट टेक्नोलाॅजी और मशीन जैसे-येलो या रेड लेजर गैल्वनिक, ओजोन, माइक्रोडर्मा एब्रेशन, माइक्रो मसाजर, राॅड, पैड्स, फेस लिफ्टिंग, अल्ट्रासाॅनिक, इंफ्रा रेड लैंप, अलग-अलग स्टीमर्स, फोटो फेशियल मशीन आदि की तकनीकियों को पढ़ाया जाता है।
लाइव प्रैक्टिस- टेक्नीकली इतनी डीप नाॅलेज में साउंड होजाने के बाद स्टूडेंट्स के लिए ब्यूटी वर्लड का हर दरवाजा खुल जाता है। एल्पस एकेडमी के अंदर सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं बल्कि छात्रों को काॅन्फिडेंट व एक्सपर्ट बनाने के लिए उन्हें क्लाइंट के ऊपर बहुत सारी लाइव प्रैक्टिस का मौका तब तक दिया जाता है, जब तक कि उनका हाथ खुल न जाए।
फीस- अपने काम में किसी भी प्रकार की कोई कसर न छोड़ने वालों के लिए इस कोर्स कोकरना सुनहरे भविष्य की और दस्तक देना है। इस कोर्स कोकरने में करीब दो लाख का रूपये का खर्चा आता है।
अवसर- आज के इस समय में ये सेक्टर तेजी से बढ़ रहा है और इसमें रोजगार की भी काफी संभावनाएं हैं। इस कोर्स में परफेक्ट होकर, आपके लिए जाॅब आॅफर, ब्यूटी वर्ल्ड की हर राह में हैं। इस कोर्स को करके आप किसी भी अच्छे सैलून या ब्यूटी पार्लर में जाॅब कर सकते हैं। ब्यूटी के इस काॅम्पैक्ट कोर्स को करके आप अपना सैलून या काॅस्मेटिक क्लीनिक भी खोल सकते हैं। पढ़ाने में अच्छे हैं तो ब्यूटी के टीचर भी बन सकते हैं और यदि आपके अंदर मैनेजमैंट स्किल्स हैं तो आप मैनेजमैंट का छोटा सा कोर्स करके ब्यूटी मैनेजर भी बन सकते हैं।