Home » मुख्य समाचार » चुुनाव से पहले पकड़ा नकली नोटों का जखीरा

चुुनाव से पहले पकड़ा नकली नोटों का जखीरा

पहले भी पकडी जा चुकी है नकली नोटों की खेप
फिरोजाबाद, एस0 के0 चित्तौड़ी। फिरोजाबाद में पुलिस से छिपकर नकली नोट बनाने का गोरखधंधा चल रहा था। पुलिस ने मामले का भंडाफोड करते हुए तीन लोगों को हिरासत में लिया है वहीं एक आरोपी मौका पाकर भाग निकला। पुलिस ने एक लाख 37 हजार के नकली नोट बरामद किए हैं। एक आरोपी भी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया।
एसएसपी डाॅ. मनोज कुमार ने बताया कि शुक्रवार रात्रि को क्राइम ब्रांच की टीम को सूचना मिली कि रेलवे स्टेशन की ओर माल गोदाम रोड पर चार लोग लाल रंग की वेगनआर कार में बैठे हैं। उनके पास ककाफी मात्रा मेें नकली नोट हैं। सूचना पर क्राइम ब्रांच और थाना दक्षिण की पुलिस मौके पर पहुंची और कार को घेर लिया। पुलिस को देखकर आरोपी भागने लगे। पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड लिया जबकि एक आरोपी मौका पाकर भाग निकला। तलाशी लेने पर आरोपियों के पास से एक लाख 37 हजार रूपए के नकली नोट बरामद हुए हैं। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी ने बताया कि आरोपियों के पास से दो हजार के 68 नोट कुल एक लाख 36 हजार और 50 के 20 नोट बरामद हुए हैं। पकडे गए आरोपियों से पूछताछ करने पर नकली नोट बनाने का सामान जिसमें डाई, कटर, तार की रोल, प्रिंटर, स्केनर, लेपटाॅप समेत अन्य सामान बरामद हुआ है।
एसएसपी के मुुताबिक पकडे गए आरोपियों के नाम तेजिन्दर सिंह पुत्र हरभजन सिंह, निवासी गुरूद्वारा मोतीनगर थाना मोती नगर पश्चिमी दिल्ली, इमरान उर्फ लंगड़ा पुत्र अफसर अली, निवासी मोहल्ला नई बस्ती थाना घिरोर मैनपुरी और अजय कुमार उर्फ टिंकू पुत्र बाबूराम निवासी मोहल्ला नेहरू नगर बिजली घर के पीछे थाना दक्षिण फिरोजाबाद हैं। वहीं फरार हुए आरोपी कका नाम सुमित वर्मा पुत्र नरेन्द्र वर्मा निवासी कस्बा व थाना घिरोर जनपद मैनपुरी है। एसएसपी ने बताया कि वर्ष 2007 में तेजिन्द्र एक लाख 75 हजार रूपए के नकली नोट के साथ कमला मार्केट नई दिल्ली में पकडा गया था। इसके बाद 2012 में तीन लाख 50 हजार के नकली नोट के साथ थाना विजय बिहार नई दिल्ली में पकडा गया था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि लगभग एक माह पूर्व वह पेरोल पर आया था। समय समाप्त होने के बाद वापस नही गया। टीम में प्रभारी निरीक्षक दक्षिण विनोदकुमार, क्राइम ब्रांच प्रभारी नीरज कुमार मिश्रा, दिनेश कुमार, राहुल यादव, नदीम खान आदि थे।