Home » मुख्य समाचार » वार्षिकोत्सव के मौके पर छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर मचाया धमाल 

वार्षिकोत्सव के मौके पर छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर मचाया धमाल 

अच्छी तालीम व जूडो कराटे के माध्यम से आत्मविश्वास को जागृत व मजबूत करने का कार्य करें: अब्दुल हक
कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। अकबरपुर क्षेत्र के बाढ़ापुर रोड पर सुपर मार्शल आर्ट एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने वार्षिकोत्सव कार्यक्रम को हर्षोउल्लास के साथ मनाया। छात्र-छात्राओं द्वारा इस मौके पर संकल्प लिया गया कि वे माता पिता, भाई, बहन, बडे गुरूजनों का आदर सम्मान करेंगे साथ ही जो कार्य करेंगे वह रचनात्मक व सकारात्मक होगा। रचनात्मक एवं सकारात्मक कार्यो से देश व समाज का विकास व उत्थान होगा। बच्चों द्वारा अपने घर के इर्द गिर्द वृक्षारोपण करने व साफ सुथरा रखने का भी संकल्प लिया गया। इस मौके पर छात्र-छात्राओं ने अनेकों मनोरंजक आकर्षक ज्ञान वर्धक सास्कृतिक कार्यक्रमों की भी आकर्षक प्रस्तुति की। सुपर मार्शल आर्ट एकेडमी के सचिव साजिद तथा अतिथि के रूप में आये गांधी फैजेआम इंटर कालेज के प्रबन्धक अब्दुल हक खां व सदस्य रिहान सिद्दकी ने बच्चों से कहा कि वे किसी भी उत्सव या कार्यक्रम से यह सीख ले उन्हें राष्ट्र, समाज तथा अपने परिवार के लिए ऐसे कार्याे को तरजीह देनी है जिससे की इनका विकास हो और हमको बुराईयों से दूर रहना है। उन्होंने कहा कि वन सम्पदा, पेड़ पौधे हमारे जीवन दाता हैं। पौधे लगाकर उनकी रक्षा का संकल्प भी लेना चाहिए। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रबन्धक अब्दुल हक, सचिव साजिद व अध्यक्ष शीतल पाल ने केक काटकर शुभारंभ किया और कहा कि शिक्षा के माध्यम से आत्मविश्वास को जागृत व मजबूत करने का कार्य करें। शिक्षा तथा जूडों कराटे से अपने भविष्य को सवारें। बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम करके धमाल भी मचाया इसकी सराहना करते हुए कहा गया कि अभिभावक व अध्यापक व अध्यापिकायें अपने बेहतर पठन पाठन और देख रेख से बच्चों में आत्मविश्वास को जाग्रत व सुदृढ़ बनाने का कार्य करें। उन्होने कहा कि यह परिवेश शिक्षा की सम्पूर्णता से पूर्ण है, इसका पूरा सदुपयोग करते हुए भविष्य को उज्जवल बनाए तथा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, संविधान शिल्पी डा. भीमराव अम्बेडकर, पं. दीनदयाल उपाध्याय, सरदार पटेल, सरदार भगत सिंह, वीर अब्दुल हमीद, एपीजी अब्दुल कलाम, चन्द्रशेखर आजाद आदि देश के महापुरूषों ने समुचित देशवासियों के लिए जो सपने देखे थे वो सपने पूरा करने का समय आ गया है। बच्चो को अपने आप की आत्मशक्ति पहचानने के लिए प्रेरित किया। इस मौके पर संस्था के अध्यक्ष व सचिव ने छात्र-छात्राओं से कहा कि वे जूडों प्रशिक्षण का निरंतर अभ्यास रखे साथ ही अपनी अन्य शैक्षिक कार्यक्रमों को भी जारी रखे। इस मौके पर दिव्या पाल, सारिका सिंह, डिम्पल, चाइना, नीरज, प्रिया, अमित, मीना सहित कई छात्रायें आदि उपस्थित रहे।