Friday, September 21, 2018
Breaking News
Home » मुख्य समाचार » टी.बी. रोगियों को खोजने का अभियान 18 से

टी.बी. रोगियों को खोजने का अभियान 18 से

हाथरसः जन सामना संवाददाता। पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत रेस्टोरेंट पर आरएनटीसीपी आईएमए संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन जिलाधिकारी की अध्यक्षता एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. बृजेश राठौर की उपस्थिति में किया गया।
कार्यशाला में जनपद के समस्त प्राईवेट चिकित्सकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यशाला का शुभारम्भ मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा दीप प्रज्जवलित एवं माॅ सरस्वती के छाया चित्र को माल्यापर्ण कर किया गया। कार्यशाला का संचालन जिला क्षय रोग अधिकारी डा. अनिल सागर वशिष्ठ द्वारा किया गया। उनके द्वारा कार्यशाला में उपस्थित सभी प्राईवेट चिकित्सकों एवं अतिथियों को टीबी नोटिफिकेशन के सम्बन्ध में (प्रोजेक्टर स्लाइड) के माध्यम से विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी।
डाॅ. वशिष्ठ द्वारा सभी प्राइवेट चिकित्सकों को बताया गया कि जिला क्षय रोग केन्द्र में स्थापित सीबी नाॅट मशीन में आपके द्वारा भेजे गये समस्त सेम्पलों (ब्लड, यूरिन एवं स्टूल को छोड़कर) की निःशुल्क जाॅच की जायेगी। इसके साथ-साथ जिला क्षय रोग अधिकारी द्वारा सभी प्राईवेट चिकित्सकों से यह अनुरोध किया कि जिन प्राईवेट चिकित्सकों ने निःक्षय पोर्टल पर अपना पंजीकरण नहीं कराया है वह अपना पंजीकरण अतिशीघ्र करायें तथा अपने क्लीनिक में इलाज पर चल रहे सभी टीबी रोगियों का डाटा निर्धारित प्रारूप पर भर कर प्रत्येक माह जिला क्षय रोग केन्द्र पर उपलब्ध कराना सुनिश्ति करें। उनके द्वारा यह भी जानकारी दी गयी कि पूर्व में पंजीकृत प्राईवेट चिकित्सकों द्वारा वर्ष 2016 के सापेक्ष वर्ष 2017 में तिगुना टीबी के रोगियों को नेटिफाईड किया गया जो कि निःक्षय पोर्टल पर अंकित हो चुके हैं। जिसके लिये उन प्राईवेट चिकित्सकों को प्रशस्ति पत्र मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रदान किये गये। जिला क्षय रोग अधिकारी द्वारा यह भी अवगत कराया कि माह अप्रैल 2018 से टीबी के प्रत्येक रोगी को प्राइवेट चिकित्सक द्वारा नोटिफाइड करने पर उसका निःक्षय पोर्टल पर अंकन होने के पश्चात इलाज के प्रथम छः माह तक उसके पोषाहार हेतु प्रत्येक माह 500 रुपये की धनराशि रोगी के बैंक खाते में हस्तांतरित की जायेगी। यह भारत सरकार द्वारा निःक्षय पोषण योजना के तहत प्रारम्भ की गयी है। जिला क्षय रोग अधिकारी द्वारा कार्यशाला में उपस्थित सभी प्राइवेट चिकित्सकों को अवगत कराया कि जनपद हाथरस में सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान 18 जून से 28 जून तक चलाया जायेगा। जिसमें टीमों द्वारा घर-घर जाकर टीबी के सम्भावित रोगियों को खोजा जायेगा। उनके द्वारा अपील की गयी कि वह इस अभियान को सफल बनाने में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें। अंत में डाॅ. ए.एस. वशिष्ठ एवं आर.एन.टी.सी.पी. टीम द्वारा कार्यशाला में उपस्थित सभी प्राईवेट चिकित्सकों एवं अतिथियों का आभार प्रकट किया गया।