Home » महिला जगत (page 3)

महिला जगत

महिलाओं को उन्नति करने के लिए उन्नत माहौल की आवश्यकता

महेश तिवारी

आंकड़े सिर्फ आहट की दस्तक नहीं देते, बल्कि सच्चाई से रूबरू कराते हैं। देश में लिंग-अनुपात के लगातार कम होने के जो आंकड़े हमारे सामने आ रहे हैं, वे न सिर्फ हमारी मानसिकता बताते हैं। यहां तक हमारे समाज के दो- अर्थी व्यहवार को भी व्यक्त करते हैं। साथ- साथ यह भी पता चलता है, कि कन्याभ्रूण हत्या रोकने और अन्य स्तर पर लड़कियों को सुरक्षा देने के सरकारी और गैर-सरकारी प्रयास निरर्थक ही साबित हो रहें हैं। मध्यप्रदेश प्रदेश सरकार भले ही प्रदेश के हर घर की लाड़ली को लक्ष्मी बनाने का अथक प्रयास कर रही हो, लेकिन जमीनी हकीकत में लड़कियां 28 दिन भी साँसें नहीं ले पाती । मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जहां सूबे में लड़के की मृत्यु दर में 14.6 प्रतिशत की दर से गिरावट आ रही है, वहीं घर की लाड़ली बन रहीं लड़कियों की मृत्युदर में मात्र 1.6 फीसदी की मामूली गिरावट यह दर्शाता है, कि नीति-निर्धारक कितने भी कानून का एलान कर दे, लेकिन लैंगिक भेदभाव समाज से दूर किए बिना लड़कियों की संख्या सूबे क्या पूरे देश में लड़कों के बराबरी पर नहीं आ सकती।
बात चाहें मध्यप्रदेश की हो, या पूरे देश की। पुरुष प्रधान सोच देश से अभी निकल नही पाई है। भले ही देश ने केंद्रीय सत्ता में महिला को प्राश्रय 50 वर्ष पूर्व ही दे चुकी हो, लेकिन महिला सशक्तिकरण के मामले में देश विकसित देशों के मामले में काफी पीछे है, और देश के भीतर मध्यप्रदेश राज्य। एक कहावत है, हाथ कंगन को आरसी क्या, और पढ़े-लिखे को फारसी क्या। ऐसे में सूबे की महिलाओं की स्थिति क्या स्थिति है, वह बताने की शायद आवश्यकता नहीं। फिर भी आंकड़ों के सागर में अगर गोता लगाते हैं, तो पता चलता है, कि देश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में मध्यप्रदेश राज्य आज के वक्त भी काफी पिछड़ा हुआ है। तभी तो महिलाओं को शिक्षा, स्वास्थ्य, और सुरक्षा प्रदान करने के मामले में मध्यप्रदेश देश के अन्य राज्यों से काफी दूर मामूल पड़ता है। उससे भी दुःखद बात यह है, कि केंद्र की जो भाजपा सरकार सत्ता में ही बहुत हुआ महिलाओं पर अत्याचार, अबकी बार मोदी सरकार के नारे पर आई । उसी पार्टी के शासित राज्य में महिलाओं की अस्मिता के साथ सबसे ज्यादा खिलवाड़ होता आ रहा है। अभी बीते दिनों की घटना है, जब प्रदेश अपने स्थापना दिवस की रंगीनियों में धूमिल था, तभी राजधानी में एक लड़की दरिंदगी का शिकार हो जाती है। फिर सूबे में महिलाओं की क्या सामाजिक स्थिति है, उसका अंदाजा लगाया जा सकता है। § Read_More....

Read More »

रंगोली प्रतियोगिता में दिखाई प्रतिभारंगोली प्रतियोगिता में दिखाई प्रतिभा

सासनी, हाथरसः जन सामना ब्यूरो। गीतांजली इंटर काले नगला ताल में छात्राओं द्वारा रंगोली दीप सजाओ जैसी विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें छात्राओं ने बढचढकर हिस्सा लिया।  प्रतियोगिता का शुभारंभ मां सरस्वती और बाबा जाहरवीर के छवित्रि और प्रतिमा के सामने दीप जलाकर तथा माल्यार्पण कर किया गया। प्रतियोगिता में करीब 120 छात्राओं ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता के दौरान छात्राओं का उत्साहवर्द्धन करते हुए प्रधानाचार्य गौरव शर्मा ने कहा कि प्रतियोगिताओं के माध्यम से प्रतियोगी विजयी होते हुआ अपने माता पिता और गुरूजनों के साथ अपने देश और समाज का नाम रोशन करता है। § Read_More....

Read More »

बिटिया बचाओ अभियान को मिला 101 वकीलों का साथ

हाथरस, जन सामना ब्यूरो। बिटिया बचाओ अभियान से बेहद प्रभावित होकर अभियान के माध्यम से आने वाले कन्या-भ्रूण हत्या व छेड़छाड़ के मामलों में प्रतिवादी पक्ष/आरोपियों के विरूद्ध पूर्ण निःशुल्क सशक्त पैरवी करने की घोषणा करने वाले अधिवक्ताओं की संख्या का आंकड़ा शतक पार कर गया है। घोषणा करने वाले अधिवक्ताओं की संख्या बढ़कर अब 101 हो गई है। इन अधिवक्ताओं में डिस्ट्रिक्ट बार एसोसियेशन के पांच पूर्व अध्यक्ष व 6 पूर्व सचिव के साथ-साथ एक महिला अधिवक्ता भी शामिल हैं। इन सभी अधिवक्ताओं ने पर्यावरणविद भवतोष मिश्र द्वारा शुरू किये गये बिटिया बचाओ अभियान की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुये यह भी कहा है कि वह बेटियों को उनके विधिक अधिकारों के बारे में अवगत कराने में भी अहम भूमिका अदा करेंगे।
अधिवक्ताओं के इस निर्णय से कन्या-भ्रूण हत्या व छेड़छाड़ के उन आरोपियों के लिये मुश्किल पैदा होगी जो अपने विरूद्ध लचर पैरवी का लाभ उठा लेते थे, साथ ही अपने अधिकारों से अनभिज्ञ बेटियां भी अपने विधिक अधिकार जान अपने शोषण के विरूद्ध आवाज उठा सकेंगी। बिटिया बचाओ अभियान को आश्चर्यजनक रूप से मिले अधिवक्ताओं के व्यापक समर्थन की समाज के विभिन्न वर्गों में सराहना हो रही है। गौरतलब है कि 2011 की जनगणना के आंकड़े के मुताबिक जिले में 1000 पुरूषों पर 865 महिलायें हैं। प्रदेश में सबसे कम लिंगानुपात वाले जिलों में टाॅपटेन की सूची में जिला शामिल है। § Read_More....

Read More »

हर दिल के अंदर मोहब्बत है-प्रिया

इलाहाबाद, जन सामना ब्यूरो। संगम नगरी में दूसरी फिल्म शूटिंग होने जा रही है। हाल ही में हर दिल के अंदर मोहब्बत का लॉन्च हुई। इस फिल्म का संगीत आज के दौर का है। संगीत में हर तरह का मिश्रण पिरोया गया है। फिल्म मोहब्बते देखी ही होगी कुछ ऐसा ही फेवर है हर दिल के अंदर मोहब्बत का भी है। उस फिल्म में कई गुना अधिक रोमांस सुन्दर फिल्माकंन बेहतरीन लोकेसन और हिट संगीत इस फिल्म में नजर आएगा।
इलाहाबाद में पहली बार फिल्म की शूटिंग होने जा रही है जिसमें संगम नगरी की रहने वाली अभिनेत्री प्रिया भारतीय है। वे बहुत जल्द ही फिल्म में भूमिका की नजर आ रही है और प्रिया की अब दूसरी फिल्म है। अगले महीने से शूटिंग है। प्रिया कहती हैं कि मुझे खुशी है कि फिल्म में काम करने का अवसर मिला है। मैं काफी समश् से सोच रही थी लेकिन अब फिल्म में जाना चाहती हूँ मेरी यही तम्मना है जो फिल्म में शूटिंग होने जा रही है इसके सचिन कुमार जो की डान्स कोरियोग्राफर हैं उन्होंने सरोज खान इश्क समुन्दर और शबीना खान के साथ तेज रफ्तार फिल्म में बत्तौर डांसर काम किया है और सचिन के साथ फिल्म में काम करने का मौका मिला है। § Read_More....

Read More »

महिलाओं को व्यूटी पार्लर एवं सिलाई प्रशिक्षण सोमवार से

सासनी, हाथरसः जन सामना ब्यूरो। किशनगढी जलेसर रोड सासनी स्थित केनरा बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में महिलाओं को सोमवार से मिलेगा महिलाओं को व्यूटी पार्लर एवं सिलाई का 30 दिवसीय निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा ।

शनिवार को यह जानकारी देते हुए संस्थान के निदेशक अजीत प्रसाद ने बताया कि इसमें महिलाओं को गुजराती, बगाली, मराठी, अरेविक, मारवाडी, दुल्हन, महाराष्ठी एवं नेल आर्ट, थे्रडिंग, वैक्स, व्लीच, मेरिक्योर, पेडीक्योर, फेशियल, दुल्हन मेकप, कटिंग, बालों में मेंहदीं आदि के विशेष गुर सिखाये जायेंगें तथा महिला टेलर में महिलाओं को सलवार सूट, पेटीकोट, गाउन, शर्ट, ब्लाउज, बेस्टर्न परिधान एवं बुटीक स्तर के जिससे कि महिलाओं को रोजगारपरक बनाया जा सकें। स्कील डव्लपमेंट के गुर एन के सेंगर द्वारा दिये जायेगे। इसके साथ प्रशिक्षार्थीयों के लिऐ नि.षुल्क भोजन, तथा प्रशिक्षण से सम्बधित सामग्री प्रदान की जायेगी। § Read_More....

Read More »

द डाटर्स आॅफ न्यू इंडिया के तहत निकाली जागरूकता रैली

कोमल फाउण्डेशन-श्री गीता जनकल्याण समिति की पहल
फिरोजाबाद, जन सामना संवाददाता। कोमल फाउण्डेशन एवं श्री गीता जनकल्याण शिक्षा समिति के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सप्ताह द डाॅटर्स आॅफ न्यू इण्डिया के अन्तर्गत जन जागरूकता रैली का आयोजन एसडी मैमोरियल स्कूल व लक्ष्मण सिंह विद्या मंदिर तथा श्री गीता पब्लिक स्कूल की छात्राओं व छात्रों द्वारा जन जागरूकता रैली निकाली गयी।
रैली में बच्चांे के हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का समाज को जागरूकता का संदेश दे रही थी तथा बच्चों द्वारा बेटी बचाओ के प्रति लेख आवास में नारे भी गूंज रहे थे। रैली को बाल कल्याण समिति की सदस्या कुमुद शर्मा व श्रीमती संगीता पाण्डेय द्वारा हरी झंडी दिखा कर रवाना किया गया।
रैली में कोमल फाउण्डेशन के अध्यक्ष अश्वनी कुमार राजौरिया तथा बाल कल्याण समिति के सदस्य जफर आलम ने कहा कि बेटियां सृष्टि की जननी होती हैं। क्योंकि आज हमारी बेटियां हर क्षेत्र में आगे हैं और देश का नाम रोशन कर रही हैं। इसलिए हमें मिलकर समाज को जागरूक करना होगा। § Read_More....

Read More »

छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने पर दिया गया जोर

सकारात्मक सोच के लगन से कार्य करें छात्राएं तो सफलता उनके कदम चूमेगी
कानपुर, जन सामना संवाददाता। छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के मकसद से आज एस एन सेन बालिका विद्यालय पी जी काॅलेज में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कैरियर काउंसलिंग एवं प्लेसमेंट सेल विषय पर हुई कार्यशाला में छात्राओं को व्यक्तित्व परीक्षण के बारे में विस्तार से बताया गया। 10 दिवसीय इस कार्यशाला का शुभारंभ महाविद्यालय की प्राचार्य डाॅक्टर पूर्णिमा त्रिपाठी ने किया। कैरियर काउंसलिंग विभाग की यंग प्रोफेशनल डायरेक्टर शिवानी शर्मा ने छात्राओं को कई महत्वपूर्ण बातों से रूबरू कराया। रोजगार कार्यलय लखनऊ के रीजनल सेवा योजना अधिकारी भुकिया कासिम ने केंद्र सरकार की चल रही योजनाओं के विषय में बताते हुए कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति की छात्राएं सरकार द्वारा निःशुल्क प्रशिक्षण प्राप्त करने के साथ अपने कैरियर को सफलता की ओर ले जा सकती हैं ।
कार्यशाला में स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं, स्वच्छता अभियान, बाल श्रमिक एवम शिक्षा के महत्व विषय पर छात्र छात्राओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। § Read_More....

Read More »

चुनौतियां-स्कूली बच्चों की सुरक्षा विषय पर कार्यशाला का किया आयोजन

कानपुर, जन सामना ब्यूरो। अन्तर्राष्ट्रीय गल्र्स डे के अवसर पर कानपुर जर्नलिस्ट क्लब व डा0 गौरहरि सिंधानिया पब्लिक स्कूल के तत्वावधान में चुनौतियां-स्कूली बच्चों की सुरक्षा विषय पर कार्यशाला का आयोजन डा0 गौर हरि सिंधानिया इन्सटीट्यूट आॅफ मैनेजमेट आफ रिसर्च के सभागार में किया गया।
इस मौके पर जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने महा कि समाज पुरूष प्रधान मानसिकता है लेकिन वह समय आ चुका है, अब महिलाएं अपनी शिक्षा स्वालम्बन और मेहनत के दम पर हर प्रमुख क्षेत्र में आगे आ रही है। महिलाओं ने वह सब कर दिखाया है कि जिससे अब इसे अबला नहीं कहा जा सकता है। समाज के आधुनिक परिवेश में महिलाओं और छात्राओं के सामने अपनी सुरक्षा की बड़ी चुनौती है। इसका सामना करने के लिये छात्राओं में भयमुक्त वातावरण बनाने के लिये खुद को सजग करना पडेगा। आत्म निर्भर बनकर सामाजिक बुराईयों से लडना पडे़गा, यदि छात्राओं के सामने इस तरह की समस्याएं आती है तो परेशान होने की बजाय उन समस्याओं का निदान करने कि क्षमता विकसित करनी होगी। इसमें उनके अभिभावकों को भी सही सोच के साथ मार्ग दर्शन करना चाहिए।
उन्होने कानपुर डी.आई.जी/एस.एस.पी सोनिया सिंह का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होने साधारण परिवार में रहकर अपनी दृढ इच्छा शक्ति से आज यह मुकाम हासिल किया है और सामाजिक बुराईयों को दुर करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। इसी तरह सभी छात्राओ को कर दिखाना होगा तभी सही संदेश समाज मे जाएगा। § Read_More....

Read More »

Beauty Tips: करवाचौथ पर दिखे हुस्न की मलिका

आज के खास दिन अगर आप अपने व्यक्तित्व में खास निखार लाना चाहती हैं तो खूबसूरत और स्मार्ट दिखने के टिप्स तो आजमाने ही पड़ेंगे। चाहे मौसम कैसा भी हो, अगर आप चाहती हैं कि आज के दिन आप हुस्न की मलिका दिखें तो अपनी त्वचा का ध्यान रखें।
अगर आप ‘जन सामना’ की ब्यूटी एडवाइजर व सी डब्लू सी ब्यूटी एंड मेकअप स्टूडियों की सेलिब्रिटी ब्यूटी एंड मेकअप एक्सपर्ट शालिनी योगेद्र गुप्ता की ये ब्यूटी टिप्स आजमाएँगी तो आज चाहे मौसम कैसा भी रहे आप दमकी-दमकी नजर आएँगी।
कलर कोड: अपनी स्किन से मैच करती फाउंडेशन शेड चुनिए। यदि आपकी स्किन पीलापन लिये है तो येलो कलर का फाउंडेशन लगाएं। गोरे रंग की महिलाएं पिंकिश फाउंडेशन लगा सकती हैं।
ब्रोंज इफेक्ट: ऐसे रंग का इस्तेमाल करें, जो नेचुरल लगता है। डार्क रंगों के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि इससे आपकी बड़ी कठोर सी छवि बनती है। बहुत ज्यादा सफेद और पीले रंग का इस्तेमाल भी बहुत ज्यादा बनावटी लगता है।
पाउडर का प्रयोग: अपनी स्किन के मिजाज के अनुरूप क्रीम या पाउडर में से किसी एक को चुनें। यदि आपकी स्किन बहुत ज्यादा आॅयली है तो आप पाउडर का चुनाव करें। यह आपकी स्किन के साथ ज्यादा बेहतर ढंगे से मिक्स हो जाता है। और यदि आपकी स्किन ड्राई है तो क्रीम बेस का प्रयोग करें, ताकि मेकअप कुछ घंटों बाद ही फैलने न लगे
ब्लश स्पाॅट: गालों के ऊपरी हिस्से पर ब्लश आॅन करें, लेकिन ध्यान रखें ज्यादा ब्लश ऑन न करें, अन्यथा आप जोकर की तरह दिखने लगेंगी। साथ ही ब्रिक टोन ब्लश आॅन का चुनाव करें-यह सभी के लिए काम करता है
ब्लैंड इटः अपने मेकअप को नेचुरल बनाने की मास्टर ट्रिक है उसे एकसार करना। नाक पर हल्का सा लगायें और गालों की तरफ ब्लैंड कर दें।
नेचुरल मेकअप करने के टिप्स अक्सर हम लोग मेकअप करते है किंतु फाउंडेशन, फेस पाउडर आदि लगाने से हमारे चेहरे पर मेकअप की एक मोटी परत नजर आती है जिससे हमारा मेकअप नेचुरल नहीं लगता है।


यदि आप मेकअप से पहले त्वचा पर प्राइमर का प्रोयोग करते है तथा उसको लगाने के बाद मेकअप करते है तो आपका मेकअप बिलकुल नेचुरल लगेगा। कई बार मेकअप करने के बाद आपकी आखों के काले धब्बे का रंग अलग ही नजर आता है। जिससे आपका किया कराया मेकअप किसी काम का नहीं रहता। आखो के काले धब्बे छिपाने के लिए नेचुरल लाइट आयल फ्री कंसिलर लगाये । इससे आपके आखो के नीचे के काले धब्बे छिप जाएंगे। § Read_More....

Read More »

वर्ड एसोसियेशन गर्ल गाइड में सोनम सेठ ने देश का नाम किया रोशन

रेवती देवी इंटर काॅलेज की संगीत प्रवक्ता है सोनम
फिरोजाबाद, एस0 के0 चित्तौड़ी। नगर के रेवतीदेवी बालिका विद्यालय की प्रवक्ता ने संगीत से संबंधित राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठियों में प्रतिभाग करते हुए देश व जनपद का नाम रोशन किया।
हाल में ही पुणे महाराष्ट में वर्ड एसोसियेशन गर्ल गाइड गल्र्स स्काउट सेंटर पर संगम का आयोजन किया गया। जिसमे हर देश से दो गाइडों को प्रतिभाग के लिए बुलाया गया था। जिसमें देश का नाम रोशन करने के लिए भारत से दो महिला गाइडों का चयन किया गया था। उक्त कार्यक्रम में जनपद फिरोजाबाद का नाम रोशन करने के लिए श्रीमती रेवती देवी इंटर कालेज की संगीत प्रवक्ता सोनम सेठ को मौका मिला, सोनम सेठ ने नौ देशों की गर्ल गाइड में प्रतिभाग करते हुए जनपद का नाम रोशन किया। सोनम सेठ ने बताया कि भारत की ओर से जो मुझे प्रतिभाग करने का मौका मिला। भारत से सहयोग के लिए जाने वाली दूसरी भारतीय महिला गाइड झांसी से रेलवे विभाग द्वारा दीक्षा को रही।



§ Read_More....

Read More »

Responsive WordPress Theme Freetheme wordpress magazine responsive freetheme wordpress news responsive freeWORDPRESS PLUGIN PREMIUM FREEDownload theme freeDownload html5 theme free - HTML templates Free Top 100+ Premium WordPress Themes for 2017 Null24Món ngon chữa bệnhCây thuốc chữa bệnhNấm đông trùng hạ thảo