Home » महिला जगत » ब्यूटी विटामिन्स फॉर योर स्किन

ब्यूटी विटामिन्स फॉर योर स्किन

क्रेडिट रोल- भारती तनेजा, डॉयरेक्टर ऑफ एल्पस ब्यूटी क्लीनिक एंड एकेडमी

विटामिन्स... जितने स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी होते हैं, उतने ही त्वचा की खूबसूरती के लिए भी….हर विटामिन खूबसूरत काया में अपना अहम रोल निभाता है। कौन सा विटामिन क्या फायदा पहुंचाता है आपकी त्वचा को, जानते हैं, सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस कॉस्मेटिक क्लीनिक की फांउडर डॉयरेक्टर भारती तनेजा जी से।
विटामिन ए- एजिंग की प्रक्रिया को रोकने में सहायक इस विटामिन का इस्तेमाल आमतौर पर नाइट क्रीम या फिर मेडीकेटेड लोशन में किया जाता है। दरअसल विटामिन-ए से उत्पन्न होने वाला पदार्थ रेटिनॉल, त्वचा की भीतरी सतह में पाए जाने वाले कोलाजन के बनने की प्रक्रिया को बढ़ाता है जिससे फाइन लाइन्स और ओपन पोर्स कम नजर आते हैं। विटामिन ए गाजर व पीले रंग की चीजें जैसे पपीता, आम व खूबानी आदि में पाया जाता है।
बी-कॉम्पलेक्स- विटामिन बी-1, बी-2, बी- 6 और बी-16, इन चारों को सम्मिलत रूप से बी-कॉम्पलेक्स कहा जाता है। बॉडी में यदि बी कॉम्पलेक्स की पूर्ति हो तो बाल मजबूत हो जाते हैं। इतना ही नहीं इसके अंदर पाया जाने वाला पैटोथैनिक एसिड सफेद बालों को काला करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बी-कॉम्पलेक्स की पूर्ति आप कई खाद्य पदार्थ जैसे बींस, ब्रोकली, शकरगंद, अंडा व मछली से कर सकते हैं।
विटामिन सी- विटामिन-सी….कोलाजन और त्वचा के लिए दूसरे प्रोटीन बनाने में सहायक होता है जिस कारण त्वचा में लचीलापन आता है। विटामिन सी हमें रसदार व खट्टे फलों जैसे संतरा, सेब, आंवला, नींबू आदि से मिलता है जिनके सेवन से हमारे शरीर का इंयून सिस्टम इंप्रूव होता है। इतना ही नहीं विटामिन-सी डैमेज सेल्स को रिपेयर करके एजिंग प्रक्रिया को बढ़ने से रोकता है। ये रिंकल्स व स्पाट्स को दूर करने में हेल्प करता है साथ ही सन डैमेज को भी रिपेयर करता है। यूं समझ लें कि बेदाग त्वचा के लिए विटामिन सी एक वरदान है, तभी तो पिग्मेंटेशन क्रीम या फेयरनेस लोशन में विटामिन-सी एक जरूरी हिस्सा होता है।
विटामिन ई-त्वचा की कोशिकाओं के स्वस्थ विकास के लिए विटामिन ई बहुत जरूरी है। ये एक एंटी-ऑक्सीडेंट हैं जो स्किन को रिपेयर करता है। इसी कारण विटामिन ई का इस्तेमाल ज्यादातर नाइट या फिर अंडर-आई क्रीम में किया जाता है। ये स्किन के लिए पोषण व नमी दोनों का कार्य करता है साथ ही स्किन पर बढ़ती उम्र को रोकने में मदद करता है। विटामिन ई के सेवन से न सिर्फ त्वचा बल्कि बाल भी घने, सुंदर व चमकदार हो जाते हैं।ये बादाम, अखरोट सहित अन्य कई सूखे मेवों में पाया जाता है। बादाम विटामिनदृई का सबसे बड़ा स्रोत माना जाता है। रोज रात को गुनगुने दूध में बादाम रोगन की कुछ बूंदे डालकर पीने या फिर सुबह खाली पेट 4-5 भीगे हुए बादाम खाने से शरीर स्वस्थ व त्वचा चमकदार बनी रहती है। कुछ स्त्रियां वजन बढ़ने के डर से ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल पूरी तरह बंद कर देती हैं। ऐसा करना त्वचा की सेहत के लिए ठीक नहीं हैं। मोनो सैचुरेटेड और पॉली अनसैचुरेटेड फैट हमारी त्वचा के लिए बेहद जरूरी है। इनसे मिलने वाला फैटी एसिड कुदरती तौर पर हमारी त्वचा की नमी बरकरार रखता है।
-अनीता गौड़