Friday, April 26, 2019
Breaking News
Home » शिक्षा (page 4)

शिक्षा

पूर्व सैनिक ने नौनिहालों को शिक्षित करने का उठाया बीड़ा

गरीब परिवार के बच्चों को दी जा रही है मुफ्त किताब, बस्ता व अन्य सुविधाएं।
मो. अफसर खांः धानापुर (चन्दौली)। शिक्षा के बिना सभ्य समाज की कल्पना बेमानी है। अगर हमें अपने समाज व राष्ट्र के विकास को गति देना है तो इसके लिए हमें सर्व समाज के नन्हें-मुन्ने बालकों को शिक्षित करना होगा। कहते हैं कि बच्चे ही राष्ट्र के` भविष्य होते हैं। इसी क्रम में आभाव में जीने वाले गरीब इंसानों की बस्ती में खिलखिला रहे भारत के इन मासूम भविष्य को इकट्ठा कर पढ़ाने का छोटा प्रयास खड़ान गाँव के हरिजन बस्ती में शुरू किया है पूर्व सैनिक अंजनी सिंह ने। धानापुर विकास खण्ड के खड़ान गाँव निवासी अंजनी सिंह आम इंसान की जरूरतों में सदैव शामिल रहते हैं। जात-पात और भेद-भाव मुक्त समाज की कल्पना के साथ ही ये समाज के दबे कुचले तबके के कल्याण के लिए लम्बे समय से संघर्ष कर रहे हैं। इस बार इनका फोकस शिक्षा से वंचित बच्चों को शिक्षित करना है।

इन्होंने कुछ युवाओं की मदद से खुद के खर्च पर कापी, किताब, बैग आदि का इंतजाम कर गांव के हरिजन बस्ती के बच्चों को एक जगह इकट्ठा कर शिक्षा का लौ जगाने का प्रयास किया है। वैसे तो केंद्र व राज्य सरकार ने सब पढ़े, सब बढ़े के नारे के साथ सबको शिक्षित करने का मुहिम जरूर छेड़ रखा है मगर उसकी हकीकत सबके सामने है!

Read More »

कल्पनाओं के संसार में थिरके बच्चे

कानपुर, जन सामना संवाददाता। लाला लाजपत भवन प्रेक्षागार में ‘कल्पनाओं के संसार’ विषय पर समूह नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस आयोजन में नगर के 19 प्रतिष्ठित विद्यालयों ने भाग लिया। प्रतियोगिता को सीनियर एवं जूनियर में विभाजित किया। नृत्य के माध्यम से विभिन्न कल्पनाओं को प्रस्तुत किया पंचतंत्र की महिमा, अलिफ लैला, अलादीन का चिराग बच्चो के नृत्य देखते ही दर्शक झूमने पर मजबूर होगये पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजने लगा। नृत्य कला बच्चों का देखते ही बनता था। प्रतियोगिता का शुभारंभ रोटरी मण्डल 3110 की प्रथम महिला रो0 सीमा अस्थाना और अतिथियों का स्वागत पूर्व अध्यक्ष रो0 मुकेश श्रीवास्तव तथा रोट्रैक्ट अध्य्ाक्षा रो0 साक्षी चन्देल ने किया। नगर आयुक्त अविनाश सिंह द्वारा बच्चो को पुरस्कृत किया।

Read More »

श्रमदान के नाम पर कराई जा रही मजदूरी

सासनी, हाथरस, नीरज चक्रपाणि। भारत सरकार द्वारा अनिवार्य विषय शिक्षा के माध्यम से साक्षर भारत अभियान के सपने को शिक्षक ही पलीता लगाने पर तुले हुए है। बच्चों को पढाने के नाम पर विद्यालय बुलाकर उनसे विद्यालय में मजदूरी कराई जाती है। ऐसा ही मामला कस्बा के प्रतिष्ठित विद्यालय केएल जैन इंटर कालेज में आया है। यहां मंडलीय खेलकूद प्रतियोगिता होने वाली है। इसे लेकर प्रधानाचार्य डा0 दीपक जैन द्वारा कक्षा आठ के छात्रों को विद्यालय के क्रीडांगन को सफाई करने पर लगा दिया। बच्चों को भी उस वक्त सफाई पर लगाया जब उनका विज्ञान का पीरियड चल रहा था। करीब एक दर्जन की संख्यां में छात्रों द्वारा ही पूरे फील्ड की सफाई की गई। इस दौरान यदि श्रमदान की बात करें तो न तो इन बच्चों के साथ कोई शिक्षक या प्रधानाचार्य या विद्यालय प्रबंधन कमेटी का कोई सदस्य मौजूद नहीं मिला। इस बावत जब प्रधानाचार्य से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बच्चों की पढाई के लिए अतिरिक्त कक्षाएं चलाई जाती है। और यह तो बच्चों से स्वच्छ भारत अभियान के तहत श्रमदान कराया गया है। मगर यहां छुट्टी होने के बाद कोई भी शिक्षक विद्यालय में नहीं ठहरते तो अतिरिक्त कक्षाएं कैसे लगाई जाती है। श्रमदान की बात आती है तो वहां पूरे विद्यालय के बच्चे और शिक्षकों को भी स्वयं लगना चाहिए। बच्चों को इस प्रकार श्रमदान के नाम पर मजदूरी कराकर प्रधानाचार्य द्वारा बच्चों बच्चों की पढाई प्रभावित हो रही है।

साथ ही श्रमदान किसी प्रतियोगिता से पूर्व नहीं उसे कभी भी किया जा सकता है। वहीं अभिभावकों और छात्रों ने बताया कि प्रधानाचार्य की तानाशाही के कारण कोई भी उनके सामने बोलने की हिम्मत नहीं कर सकता।

Read More »

स्व. ईश्वरी प्रसाद रावल का जन्मदिवस मनाया

हाथरस, नीरज चक्रपाणि। आज क्षेत्र के प्रमुख समाजसेवी एवं पूर्व जिला पंचायत सदस्य स्व. ईश्वरी प्रसाद रावल के सौ वें जन्मदिवस पर उनके पैतृक गांव नगला अहीर में कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रम का आरम्भ देव-यज्ञ (हवन) से हुआ। उसके बाद गांव के प्राथमिक विद्यालय के लगभग 150 विद्यार्थियों को पेंसिल सैट, पैन, पेंसिल बाॅक्स, फल एवं मिष्ठान्न वितरित किया गया तथा वहां के शिक्षक-शिक्षिकाओं को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्व. ईश्वरी प्रसाद रावल के पुत्र राजेन्द्र सिंह रावल एवं उनके पौत्र भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री व ऐसोसिएट प्रोफेसर डा. चन्द्रशेखर रावल ने विगत वर्ष में विद्यालय के कक्षा पांच में प्रथम स्थान प्राप्त छात्रा संगम कुमारी पुत्री मनोज कुमार, द्वितीय शिवानी कुमारी पुत्री कैलाशचन्द्र व तृतीय स्थान प्राप्त छात्र विवेक कुमार पुत्र योगेन्द्र सिंह को भी क्रमशः रु. 2100, रु. 1100 व रु. 500 प्रोत्साहन राशि देकर पुरस्कृत किया तथा ऐसा प्रतिवर्ष किए जाने की घोषणा की।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डा. चन्द्रशेखर रावल ने कहा कि किसी न किसी बहाने समाजसेवा के ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए और जरूरतमन्दों की यथासंभव सहायता करते रहनी चाहिए। इससे आत्मतोष के साथ सेवाभाव का भी विस्तार करने की प्रेरणा मिलती है।
इससे पूर्व राजेन्द्र सिंह रावल ने स्व. ईश्वरी प्रसाद रावल के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्हें समाजसेवा की प्रतिमूर्ति बताया।

Read More »

राष्ट्रपति के पैतृक गाँव में स्मार्ट क्लास का संचालन शुरू

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पैतृक गांव परौंख गांव में डीएम, सीडीओ ने ग्रामीणों के साथ लगायी चौपाल, गाँव का किया निरीक्षण,
परौंख गांव को सड़क, विद्युत, जल, शिक्षा आदि मूलभूत सुविधाओं को दुरस्त करने के साथ ही आधुनिक सुविधाओं से और आच्छादित किया जायेगा: डीएम
कानपुर देहात, जन सामना ब्यूरो। देश के महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के गांव परौंख में जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने स्मार्ट क्लासेस व बैग, पुस्तक, रजिस्टर आदि का दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया साथ ही ग्रामीणों के साथ चौपाल लगायी। इसके साथ ही उच्च प्राथमिक विद्यालय में स्मार्ट क्लास की शुरूआत के साथ ही बच्चों को बैग आदि भी वितरित किया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट क्लास के माध्यम से दूर दराज के बच्चें आधुनिक तकनीकी वाली शिक्षा से जुड़ेंगे तथा अच्छी शिक्षा लेकर संर्वागीण विकास कर देश व समाज का नाम रोशन करेंगे। उन्होंने शिक्षकों, अभिभावकों से कहा कि बच्चों की शिक्षा पठन पाठन को बेहतर तरीके से कराने में सहयोग दे। बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि पैदा करें। महापुरूषों के बारे में बताये। ग्रामीणों से रूबरू होकर उनकी समस्याओं को सुना और अधिकारियों के निराकरण के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने कहा कि परौंख गांव गौरवशाली गांव है जहां ग्रामीणों की मूलभूत सुविधायें सडक, विद्युत, जल, शिक्षा आदि से संबंधित समस्याओं को तत्काल निराकरण करने के साथ ही परौंख और उसके आस पास के गांव को और अधिक बेहतर सुविधायें प्रदान की जायेगी साथ ही गांव को आधुनिक सुविधाओं से आच्छादित किया जायेगा।

Read More »

गरीब बच्चों को दे रहे हैं निःशुल्क शिक्षा

हाथरस, जन सामना ब्यूरो। गरीब बच्चों को निशुल्क प्रशिक्षित कर समाज की मुख्य धारा से जोडने का पीडा उठाकर गांव-गांव में बच्चों को स्वयं व अपनी युवा टीम से प्रशिक्षण दिलाना ही मुख्य उद्देश्य बना लिया है। निशुल्क शिक्षा, शिक्षण सामग्री एवं अन्य आवश्यकताओं को करते है। पूरा ताकि आने वाले भविष्य को उज्जवल बनाया जा सके।
मुरसान बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर पार्क में निशुल्क 90 अभ्यर्थी अध्ययनरत हैं जिनके लिये कक्ष में पंखे की घोषणा कर दो दिन में समस्या निस्तारण किया जायेगा साथ ही मूल समस्या वहां पीने के पानी तथा शौचालय की है जिसके लिये जिलाधिकारी महोदय को लिखित रूप में अवगत कराकर समस्या निस्तारण की मांग की जायेगी।



Read More »

वर्ड एसोसियेशन गर्ल गाइड में सोनम सेठ ने देश का नाम किया रोशन

रेवती देवी इंटर काॅलेज की संगीत प्रवक्ता है सोनम
फिरोजाबाद, एस0 के0 चित्तौड़ी। नगर के रेवतीदेवी बालिका विद्यालय की प्रवक्ता ने संगीत से संबंधित राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठियों में प्रतिभाग करते हुए देश व जनपद का नाम रोशन किया।
हाल में ही पुणे महाराष्ट में वर्ड एसोसियेशन गर्ल गाइड गल्र्स स्काउट सेंटर पर संगम का आयोजन किया गया। जिसमे हर देश से दो गाइडों को प्रतिभाग के लिए बुलाया गया था। जिसमें देश का नाम रोशन करने के लिए भारत से दो महिला गाइडों का चयन किया गया था। उक्त कार्यक्रम में जनपद फिरोजाबाद का नाम रोशन करने के लिए श्रीमती रेवती देवी इंटर कालेज की संगीत प्रवक्ता सोनम सेठ को मौका मिला, सोनम सेठ ने नौ देशों की गर्ल गाइड में प्रतिभाग करते हुए जनपद का नाम रोशन किया। सोनम सेठ ने बताया कि भारत की ओर से जो मुझे प्रतिभाग करने का मौका मिला। भारत से सहयोग के लिए जाने वाली दूसरी भारतीय महिला गाइड झांसी से रेलवे विभाग द्वारा दीक्षा को रही।



Read More »

स्काउट-गाइड तृतीय सोपान शिविर का समापन

फिरोजाबाद, जन सामना संवाददाता। नगर के एसआरके इण्टर कालेज में चल रहे पांच दिवसीय तृतीय सोपान शिविर का समापन स्काउट-गाइड को सम्मानित कर किया गया। इस मौके पर बच्चो को अपने -अपने क्षेत्र में साफ-सफाई, बीमार लोगो की सहायता, जरूरत मन्द लोगो की सहायता के लिए हर पर तैयार रहने के निर्देश दिये। विगत पांच दिन से नगर एसआरके इण्टर कालेज में पांच दिवसीय तृतीय सोपान शिविर का आयोजन किया गया था। आयोजन के दौरान नगर के पांच स्कूलों से 20 गाइड, 47 स्काउटों ने प्रतिभाग किया। शिविर में बच्चो को शिक्षा के साथ समाज, देशहित में कार्य करने की प्रेरणा दी गयी। स्कूली बच्चो से उनके द्वारा अपने क्षेत्रों में समाजहित के साथ प्रदेश व राष्ट्रीयहित में किये गये कार्या की समीक्षा की गयी। स्काउट-गाइड छात्र-छात्राओं को मिलाकर नाम दिया गया है। समापन सत्र में बच्चो द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से कार्य करने की प्ररेणा दी।

Read More »

रोटरी क्लब आॅफ हाथरस द्वारा कम्प्यूटर प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

हाथरस, जन सामना ब्यूरो। रोटरी के बेसिक शिक्षा एवं साक्षरता माह सितम्बर 2017 मे छात्र छात्राओं को कम्प्यूटर शिक्षा के विषय में प्रशिक्षित करने हेतु रोटरी क्लब आॅफ हाथरस के सौजन्य से बालाजी कम्प्यूटर एवं एजूकेशन सेन्टर किला गेट पर निशुल्कः कम्प्यूटर प्रशिक्षण शिविर 26 सितम्बर से 25 अक्टूबर तक आयोजित किया गया है। शिविर मे 20 छात्र एवं छात्रायें नियमित प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।
शिविर के शुभारम्भ के अवसर पर अध्यक्ष रामबिहारी अग्रवाल ने कहा कि साक्षरता रोटरी का लक्ष्य है तथा आज के समय मे सभी जनमानस को कम्प्यूटर की जानकारी होना आवश्यक है और छात्र छात्रओं से प्रशिक्षण शिविर का लाभ लेने का आव्हान किया गया। शिविर की व्यवस्था एवं संचालन में रो. अजय गर्ग एवं रो. गोविन्द अग्रवाल का विशेष सहयोग रहा।

Read More »

आवश्यक है विश्व धरोहर रामलीला का संरक्षण एवं संवर्धन

परम्परागत लोकनाट्य विधाओं में सर्वाधिक पुष्ट एवं समृद्ध लोकनाट्य रामलीला को ही माना जाता है। सात दिन से लेकर एक माह तक की अवधि में मंचित होने वाली रामलीलाएं भारत की प्राचीन संस्कृति के सार्वभौमिक स्वरुप का दर्शन कराने में सर्वथा सक्षम हैं। बशर्ते कि मंचन करने और कराने वाले लोग रामलीला को उसके मूल स्वरूप में प्रस्तुत करने की क्षमता एवं दृढ इच्छा रखने वाले हों। रामलीला अयोध्या के राजा दशरथ के पुत्र राम के जीवन से जुड़ी घटनाओं का मात्र नाट्य रूपान्तरण नहीं है बल्कि भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता के उच्च आदर्शों की गाथा है। यह गाथा है उच्च मानवीय मूल्यों की। यह गाथा है उच्च आदर्शवादी समाज की। यह गाथा है आदर्शों के उच्चतम शिखर पर दृढ़ता से खड़ी राजनीति की। यह गाथा है आदर्श परिवार की। यह गाथा है मर्यादा की सीमाओं में बंधे ईमानदार एवं दृढ़ निश्चयी व्यक्तित्व की।
रामलीला का प्रारम्भ किस समय अवधि में हुआ इसका ज्ञान शायद ही किसी को हो। हाँ यह अवश्य कहा जा सकता है कि लोकगीतों में रामकथा का गायन जितना पुराना है, रामलीला को भी उतना ही प्राचीन मानना चाहिए। क्योंकि लोकगीतों एवं लोकनाट्यों का अन्तः सम्बन्ध नाकारा नहीं जा सकता है। यदि यह कहा जाये कि लोकनाट्य लोकगीतों का ही नाट्य रुपान्तरण हैं तो अतिसंयोक्ति नहीं होगी। सुदूर ग्रामीण अंचलों में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ते रामकथा पर आधारित लोकनाट्य आज भी देखने को मिल जायेंगे। चित्रकूट क्षेत्र में ‘राउत’ जन समुदाय द्वारा खेले जाने वाले नाटक रामकथा पर ही आधारित हैं।

Read More »

Responsive WordPress Theme Freetheme wordpress magazine responsive freetheme wordpress news responsive freeWORDPRESS PLUGIN PREMIUM FREEDownload theme freeDownload html5 theme free - HTML templates Free Top 100+ Premium WordPress Themes for 2017 Null24Món ngon chữa bệnhCây thuốc chữa bệnhNấm đông trùng hạ thảo