Monday, December 17, 2018
Home » महिला जगत (page 2)

महिला जगत

जीवांत और मजबूत राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं का योगदान महत्वपूर्ण

महिला सशक्तीकरण पर आयोजित जूडो कराटे फिमेल-मेल समान प्रशिक्षण में फिमेल ने दिखाये जोहर, मेल खिलाडियों को मिली करारी शिखस्त
कानपुर देहातः जन सामना ब्यूरो। महिला सशक्तीकरण का अर्थ महिलाओं की शैक्षिक, सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक और परिवारिक शक्ति में वृद्धि करना है साथ ही उनको धार्मिक रूढ़ियों पुराने नियम कानून पाखण्डों आदि से भी दूर रहना है। आज जरूरत है देश में महिलाओं का बचपन से ही आत्मविश्वास और हिम्मत देकर उनको आगे बढ़ायें जिससे की प्रगति का संतुलन बना रहे तथा महिलाओं को बराबर का सम्मान मिले। भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त भारत के मौलिक अधिकारों के अन्तर्गत सभी को अनुच्छेद 14-18 के अन्तर्गत समान का अधिकार दिया गया है जोकि महिलाओं और पुरूषों का बराबर का अधिकार देता है।
बाढ़ापुर रोड स्थित सुपर मार्शल आर्ट एकेडमी प्रांगढ़ में आयोजित युवक-युवती प्रशिक्षण कार्यक्रम में जहां जूडो कराटे और तकाइवान्डों का प्रशिक्षण ले रहे युवक व युवतियों ने महिला पुरूष है सामान आयोजित प्रतियोगिताओं में युवतियों व युवकों ने महिला सुरक्षा व बचाव के तहत जमकर जूडो कराटे व तकाइवान्डों का अच्छा प्रदर्शन किया इसमें खास बात यह रही कि जूडो कराटे युवतियों ने अपने साहस व अच्छे प्रशिक्षण के कारण सुरक्षा व बचाव का जहां अच्छा प्रदर्शन किया वहीं जूडो कराटेे को बचाव के दौरान युवकों को करारी शिखस्त भी दी अतिथि के रूप में उपस्थित हुए सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार ने कहा कि जीवांत और मजबूत राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं का योगदान महत्वपूर्ण है। यह तभी सम्भव है जब महिला अपने को स्वयं ही सशक्त का भाव स्वयं में लाये तथा स्वयं को अपना दीपक स्वयं बने आगे आना होगा। जूडो कराटे खेल मन से खेलने व निरंतर अभ्यास से कामयाबी मिलती है। खेल में सब बराबर होते है खेल को खेल भावना से खेल कर उसमें पारंगत आसानी से हुआ जा सकता है। जूडो कराटे व तकाइवान्डों आदि खेल विधा खेल में पारंगत व अच्छा प्रदर्शन और उसके निरंतर अभ्यास से राष्ट्रीय और अन्र्तराष्ट्रीय स्तर तक पहुंचकर सर्वांगीण विकास कर सकते है। जूडो कराटे खेल भी एक सम्मानित खेल है। इससे आत्मरक्षा आसानी से करने के साथ ही खेल में नाम भी कमाया जा सकता है। § Read_More....

Read More »

अपने लुक में लायें चेंज

युवतियों में अपने लुक में चेंज लाने के लिए हेयर स्टाइल को बदल बदल कर कुछ अलग दिखने की चाह बढ़ रही है। युवाओं में यह बदलाव सबसे ज्यादा दिख रहा है। कुछ अपने पसंदीदा सेलिब्रिटी के बालों के स्टाइल की काॅपी कर कर रहे हैं तो कुछ पुराने हेयर स्टाइल में ही चेंज कर नया हेयर स्टाइल बना रहे हैं।
यदि आप भी अपना मेकओवर करना चाहती हैं तो सी डब्लू सी ब्यूटी एन मेकअप स्टूडियो की सेलिब्रिटी ब्यूटी एन मेकअप एक्सपर्ट शालिनी योगेन्द्र गुप्ता की बताई हुई टिप्स से आप अपनी हेयर स्टाइल को बदलिए।
हेयर को डिफरेंट लुक देना ही हेयर स्टाइलिंग है। इसे आप हेयर मेकओवर भी कह सकते हैं।
ब्लो ड्रायर से कैसे करें बालों को सीधाः थोड़े समय के लिए ड्रायर से बालों को सीधा किया जा सकता है।
इसके लिए पहले बालों को गीला करें और फिर गीले बालों को कुछ भागों में बांट लें। अब हर भाग को ब्रश करें और फिर नीचे की तरफ सीधा पकड़ लें। फिर इसे ड्रायर से सुखाएं।
बालों में कैसे करें ब्रशः ऊपर से नीचे की तरफ बालों में ब्रश चलाएं। बालों की जड़ में ब्रश आराम से चलाएं।
लंबे बालों में एक बार में ब्रश नहीं करना चाहिए। बालों को एक हाथ में पकड़ें और बालों को लंबाई के हिसाब से अलग-अलग भागों में बांटकर ब्रश करें।
जब बाल गीले हों तो ब्रश करने से बचें।
स्टाइलिंग के लिए अधिक दूरी के दांतों वाला प्लास्टिक की कंघी और फुल राउंड ब्रश का इस्तेमाल करें।
अगर आपके बाल झड़ रहे हों तो ब्रश करने से बचें।
ब्लो ड्रायर करें बालों की स्टाइलिंगः ब्लो ड्रायर से छोटे बालों की स्टाइलिंग आसानी से कर सकते हैं। इससे बाल घने लगते हैं। छोटे बाल जिस कट में हैं, उंगलियों के इस्तेमाल से उसे उसी स्टाइल में दिखाया जा सकता है।
लंबे बालों को नया लुक देने के लिए स्टाइलिंग ब्रश की जरूरत होती है। बालों की स्टाइलिंग से पहले बाल को हल्का गीला कर लें। फिर बालों को क्लिप या क्लचर से दो सेक्शन में बांट लें। इसके बाद सिर के ऊपर के बालों को ब्रश की सहायता से ऊपर की तरफ कंघी करें। इससे बाल ज्यादा लहराते दिखेंगे।
बालों को लेयर कट दिखाने के लिए बालों की किसी एक साइड में ब्लोअर से हीट करें।
अगर आपको घुंघराले बाल पसंद हैं तो ड्रायर के इस्तेमाल से पहले छोटे रोलर्स को बालों में लगा लें। § Read_More....

Read More »

क्यों ना इस महिला दिवस पुरुषों की बात हो ?

‘हम लोगों के लिए स्त्री केवल गृहस्थी के यज्ञ की अग्नि की देवी नहीं अपितु हमारी आत्मा की लौ है, रबीन्द्र नाथ टैगोर।’
8 मार्च को जब सम्पूर्ण विश्व के साथ भारत में भी ‘महिला दिवस’ पूरे जोर शोर से मनाया जाता है और खासतौर पर जब 2018 में यह आयोजन अपने 100 वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है तो इसकी प्रासंगिकता पर विशेष तौर पर विचार करना आवश्यक हो जाता है।
जब आधुनिक विश्व के इतिहास में सर्वप्रथम 1908 में 15000 महिलाओं ने न्यूयॉर्क शहर में एक विशाल जुलूस निकाल कर अपने काम करने के घंटों को कम करने, बेहतर तनख्वाह और वोट डालने जैसे अपने अधिकारों के लिए अपनी लड़ाई शुरू की थी तो, इस आंदोलन से तत्कालीन सभ्य समाज में महिलाओं की स्थिति की हकीकत सामने आई थी।
उससे भी अधिक दुर्भाग्यपूर्ण तथ्य यह है कि अगर वोट देने के अधिकार को छोड़ दिया जाए तो पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के वेतन और समानता के विषय में भारत समेत सम्पूर्ण विश्व में महिलाओं की स्थिति आज भी चिंतनीय है।
विश्व में महिलाओं की वर्तमान सामाजिक स्थिती से सम्बन्धित एक रिपोर्ट के अनुसार, अगर भारत की बात की जाए, तो 2017 में लैंगिक असमानता के मामले में भारत दुनिया के 144 देशों की सूची में 108 वें स्थान पर है जबकि पिछले साल यह 87 वें स्थान पर था। किन्तु केवल भारत में ही महिलाएँ असमानता की शिकार हों ऐसा भी नहीं है इसी रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि ब्रिटेन जैसे विकसित देश की कई बड़ी कंपनियों में भी महिलाओं को उसी काम के लिए पुरुषों के मुकाबले कम वेतन दिया जाता है। वेतन से परे अगर उस काम की बात की जाए जिसका कोई वेतन नहीं होता, जैसा कि हाल ही में अपने उत्तर से विश्व सुन्दरी का खिताब जीतने वाली भारत की मानुषी छिल्लर ने कहा था, और जिसे एक मैनेजिंग कंसल्ट कम्पनी की रिपोर्ट ने काफी हद तक सिद्ध भी किया। इसके मुताबिक, यदि भारतीय महिलाओं को उनके अनपेड वर्क अर्थात वो काम जो वो एक गृहणी, एक माँ, एक पत्नी के रूप में करती हैं, उस के पैसे अगर दिए जाएं तो यह भारतीय अर्थव्यवस्था में 300 बिलियन अमेरिकी डॉलर का योगदान होगा। और इस मामले में अगर पूरी दुनिया की महिलाओं की बात की जाए तो यूनाइटेड नेशन की रिपोर्ट के अनुसार उन्हें 10 ट्रिलियन अमेरिकी डालर अर्थात पूरी दुनिया की जीडीपी का 13 प्रतिशत हिस्सा देना होगा। § Read_More....

Read More »

काल भैरव रहस्य की एक्ट्रेस सरगुन कौर को पसंद है पेंटिंग

स्टार भारत की मिस्ट्री थ्रिलर ‘काल भैरव रहस्य’ ने अपनी रोमांचक कहानी से दर्शकों को बांध रखा है। एक्टिंग के अलावा शो के कुछ कलाकारों की छिपी हुई प्रतिभाएं उनके खाली समय में सामने आती रहतीं हैं। ऐसी ही एक एक्टर सरगुन कौर हैं जो न केवल खूबसूरत हैं बल्कि चित्रकार भी हैं। उन्हें पेंटिंग पसंद है। शूटिंग से मिले खाली समय में वह पेंटिंग करना उनका शगल है।
पेंटिंग से अपने लगाव के बारे में सरगुन कहती हैं, “मुझे आर्ट पसंद है। कला हमारे जीवन में रंग भरती है, कल्पनाशील बनाती है और हमें ऐसी दुनिया प्रदान करती है जिसमें उड़ान भर सकते हैं. जब मैं पेंटिंग कर रही होती हूँ तब मुझे अंदर और बाहर शांति की अनुभूति होती है। मेरे लिए पेंटिंग एक जीवित भाषा है जो एहसास और भावनाओं को अभिव्यक्त करती है। मैं कोई महान चित्रकार नहीं हूँ लेकिन जो भी मैं पेंट करती करती हूँ वह सीधे मेरे दिल से आता है। दिल्ली में मेरे माता-पिता मेरी पेंटिंग की प्रदर्शनी लगाते हैं। आपको अपने जुनून को जिंदा रखना जरूरी है। § Read_More....

Read More »

मनमुताबिक करें स्किन की टोनिंग

फेस को केवल फेस वाश से धो लेना ही बहुत नहीं है। आपके फेस को चाहिये फेस की टोनिंग जिससे आपकी फेस स्किन निखरे और फेस स्किन का पी एच फैक्टर लेवल रहे।
आइये जानते है इसके बारे में ‘जन सामना’ की ब्यूटी एडवाइजर व सी डब्लू सी ब्यूटी एंड मेकअप स्टूडियो की सेलिब्रिटी ब्यूटी एंड मेकअप एक्सपर्ट शालिनी योगेन्द्र गुप्ता से।
टोनर के बारे में लोग मेरे हिसाब से इतना जानते है कि टोनर का यूज मेकअप को रिमूव और स्किन का तेलियपन को साफ करने के लिए किया जाता है पर टोनर के लिए मै कहती हूं TONER IS THE FIRST IMPRESSION OF THE FACE बस इसके लिए टोनर का सही प्रयोग और स्किन पर कौन सा टोनर सूट करेगा । ये जानना बहुत जरुरी है
टोनर लिक्विड फार्म में ज्यादा यूज किया जाता है इसमें अल्कोहल बहुत की कम मात्रा में होता है इसमें ऐसे एलीमेंट्स होते है जो स्किन को नम बनाये रखते हैं। टोनर स्किन की सफाई स्किन पर जमी हुई धुल स्किन के आॅयली पन और ड्राई नेस को खत्म करता है और स्किन में चमक पैदा करता है और सबसे बड़ा काम ये स्किन के ओपन पोर्सेस को संकुचित करता है और स्किन के पी एच को लेवल करता है और मेरे हिसाब से फेसिअल जब भी करें या करायें तो टोनर जरुर यूज करें फिर देखे फेसिअल का रिजल्ट अपने फेस पर।
टोनर कई प्रकार के होते हैं, जैसे-
स्किन फ्रेशनर्स
स्किन टानिक
एस्त्रजेंट § Read_More....

Read More »

बदलती ऋतु के केयर टिप्स

क्रेडिट रोल- भारती तनेजा, डायरेक्टर ऑफ ऐल्प्स ब्यूटी क्लिनिक एंड एकेडमी
ऋतु बदलने का सबसे ज्यादा प्रभाव आपके शरीर और त्वचा पर दिखाई देता है। ऐसे में यदि ठीक प्रकार से देखभाल न की जाए तो त्वचा को मौसम के बदलने का खामियाजा भुगतना पड़ता है। तो कैसे करें इस ऋतु में अपनी त्वचा की केयर, जानते हैं….सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस कॉस्मेटिक क्लीनिक की फांउडर डॉयरेक्टर भारती तनेजा जी से।
⇒तेज धूप और गर्म हवाएं त्वचा से उसका निखार ही नहीं बल्कि मॉयश्चर लेवल भी चुरा लेती है। इसके लिए ये जरूरी है कि आप अपनी त्वचा को प्रोटैक्ट करें। इसके लिए आप जब भी धूप में निकले, इससे पहले अपने फेस व बॉडी के अन्य खुले भागों पर सनस्क्रीन जरूर लगाएं। सनस्क्रीन का असर केवल 2 से 3 घंटे के लिए रहता है, इसलिए ये जरूरी है कि आप इसे थोड़ी-थोड़ी देर बाद बार-बार लगाते रहें।
⇒धूप के कारण त्वचा पर जलन सी महसूस होने लगती है। धूप से आने के बाद अपनी त्वचा को राहत पहुंचाने के लिए पैक जरूर लगाएं। इसके लिए एक चम्मच कैलेमाइन पाउडर में आधा चम्मच चंदन पाउडर, खीरे का रस और शहद मिलाकर अपने फेस पर लगाएं और सूखने पर पानी से धो दें। इस पैक में शामिल शहद, एक प्राकृतिक मॉयश्चराइजर है जिससे आपकी त्वचा मॉयश्चराइज होगी। इसके अलावा खीरे से त्वचा को ठंडक मिलेगी साथ ही निखार भी आएगा।
⇒क्लीनिकल तौर पर अपनी त्वचा को स्वस्थ बनाएं रखने के लिए 15 दिन या कम से कम माह में एक बार शाइन एंड ग्लॉसी फेशियल करवा सकती हैं। इस फेशियल में फ्रूट पल्प व ग्लिसरीन का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे त्वचा बेहद यंग व स्वस्थ नजर आने लग जाती है। § Read_More....

Read More »

न्यू आई मेकअप : लांच बाइ सेलेब्रिटी मेकअप आर्टिस्ट शालिनी योगेन्द्र गुप्ता

सनसेट का समय दिन का सबसे सही समय होता है। सबकुछ इतना सुन्दर लगता है और आकाश कई रंगों से भरा होता है। प्रकृति अपनी सुन्दरता से हमेशा हमें विस्मय में डालती है। यह कई कलाकार और प्रकृतिवादी लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत रहा है।
क्या ऐसा संभव है कि हम प्रकृति के इस जादू को फिर से उत्पन्न करें? जी हाँ, जन सामना की ब्यूटी एडवाईजर व सी डब्लू सी ब्यूटी एन मेकअप स्टूडियो की सेलेब्रिटी मेकअप आर्टिस्ट शालिनी योगेन्द्र गुप्ता आपके लिए लायी है सुन्दर रंगों से आपकी आईज को सनसेट आईज बनाने की टेक्निक।
आँखों के मेकअप में सनसेट आईज एक बिल्कुल नया ट्रेंड आपके लिए लायी हूँ बस थोड़ा सा मेरी बातों को फालो करिये
आॅई शैडो से लिए गए रंग बिलकुल सूर्यास्त के समय के रंगों की तरह होते हैं। नारंगी, पीला और थोड़ा बरगंडी रंग को लेकर सबको एक साथ मिलाया जाता है। अगर सही ढंग से लगाया जाए तो यह बहुत सुन्दर दिखता है।
सनसेट आईज पाने के लिए आपको इन चीजों की जरुरत होगीः
⇒आॅई शैडो पैलेट जिसमें नारंगी, पीला और बरगंडी शेड हों।
⇒आॅई शैडो पैलेट जिसमें न्यूड शेड हों।
⇒आॅई शैडो ब्रश
⇒प्राइमर
⇒लूज पाउडर
⇒लिक्वड लाइनर
⇒मस्कारा § Read_More....

Read More »

ब्यूटी विटामिन्स फॉर योर स्किन

क्रेडिट रोल- भारती तनेजा, डॉयरेक्टर ऑफ एल्पस ब्यूटी क्लीनिक एंड एकेडमी

विटामिन्स... जितने स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी होते हैं, उतने ही त्वचा की खूबसूरती के लिए भी….हर विटामिन खूबसूरत काया में अपना अहम रोल निभाता है। कौन सा विटामिन क्या फायदा पहुंचाता है आपकी त्वचा को, जानते हैं, सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस कॉस्मेटिक क्लीनिक की फांउडर डॉयरेक्टर भारती तनेजा जी से।
विटामिन ए- एजिंग की प्रक्रिया को रोकने में सहायक इस विटामिन का इस्तेमाल आमतौर पर नाइट क्रीम या फिर मेडीकेटेड लोशन में किया जाता है। दरअसल विटामिन-ए से उत्पन्न होने वाला पदार्थ रेटिनॉल, त्वचा की भीतरी सतह में पाए जाने वाले कोलाजन के बनने की प्रक्रिया को बढ़ाता है जिससे फाइन लाइन्स और ओपन पोर्स कम नजर आते हैं। विटामिन ए गाजर व पीले रंग की चीजें जैसे पपीता, आम व खूबानी आदि में पाया जाता है।
बी-कॉम्पलेक्स- विटामिन बी-1, बी-2, बी- 6 और बी-16, इन चारों को सम्मिलत रूप से बी-कॉम्पलेक्स कहा जाता है। बॉडी में यदि बी कॉम्पलेक्स की पूर्ति हो तो बाल मजबूत हो जाते हैं। इतना ही नहीं इसके अंदर पाया जाने वाला पैटोथैनिक एसिड सफेद बालों को काला करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बी-कॉम्पलेक्स की पूर्ति आप कई खाद्य पदार्थ जैसे बींस, ब्रोकली, शकरगंद, अंडा व मछली से कर सकते हैं।
विटामिन सी- विटामिन-सी….कोलाजन और त्वचा के लिए दूसरे प्रोटीन बनाने में सहायक होता है जिस कारण त्वचा में लचीलापन आता है। विटामिन सी हमें रसदार व खट्टे फलों जैसे संतरा, सेब, आंवला, नींबू आदि से मिलता है जिनके सेवन से हमारे शरीर का इंयून सिस्टम इंप्रूव होता है। इतना ही नहीं विटामिन-सी डैमेज सेल्स को रिपेयर करके एजिंग प्रक्रिया को बढ़ने से रोकता है। ये रिंकल्स व स्पाट्स को दूर करने में हेल्प करता है साथ ही सन डैमेज को भी रिपेयर करता है। यूं समझ लें कि बेदाग त्वचा के लिए विटामिन सी एक वरदान है, तभी तो पिग्मेंटेशन क्रीम या फेयरनेस लोशन में विटामिन-सी एक जरूरी हिस्सा होता है। § Read_More....

Read More »

काॅस्मेटोलाॅजी में बढ़ते रोजगार के अवसर -अनीता गौड़

क्रेडिट रोल- भारती तनेजा, डाॅयरेक्टर आॅफ एल्पस ब्यूटी क्लीनिक एंड एकेडमी
समृद्धि, संपन्नता और फैशन की लहर ने ब्यूटी इंडस्ट्री को काफी लोकप्रिय बना दिया है। आज महानगरों में ही नहीं बल्कि छोटे-छोटे शहरों में भी कई पर्सनाॅलिटी ग्रूमिंग और ब्यूटी सेंटर खुल गए हैं क्योंकि आज ये जरूरी होगया है, कि आप न सिर्फ अपने परिवार में बल्कि दूसरों की निगाहों में भी सुंदर दिखें। इसी जागरूकता के कारण ही ब्यूटी इंडस्ट्री में करियर भी इन दिनों काफी लोकप्रिय हो रहा है। ऐसा ही एक कामयाब करियर है, काॅस्मेटोलाॅजी की लाइन में। काॅस्मेटोलाॅजी में करियर केवल आपको ब्यूटी में ही नहीं बल्कि ब्यूटी, मेकअप व हेयर तीनों में एक्सपर्टाइज बनाएगा, जिसके चलते आप केवल एक ब्यूटी एक्सपर्ट नहीं बल्कि ब्यूटी डाॅक्टर भी कहलाएंगी। कैसे बने एक सफल काॅस्मेटोलाॅजिस्ट, जानते हैं….सुप्रसिद्ध काॅस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस काॅस्मेटिक क्लीनिक की फांउडर डाॅयरेक्टर भारती तनेजा जी से।
संपूर्ण करियर- एक सफल काॅस्मेटोलाॅजिस्ट बनने के लिए ये जरूरी है कि आपको ब्यूटी, हेयर एंड मेकअप की कंप्लीट जानकारी हो, क्योंकि आज के इस हाईटेक वल्र्ड में सिर्फ प्राॅब्लम के बेसिक जानना ही काफी नहीं बल्कि उन प्राॅब्लम्स की जड़ों तक पहुंचना और उन्हें ठीक करने के लिए नई तकनीकों का ज्ञान होना भी जरूरी है, जो आपको सिर्फ डी.बी.एच.एम यानि ब्यूटी, हेयर एंड मेकअप में डिप्लोमा करके प्राप्त हो सकता है। ये कोर्स आप एल्पस एकेडमी की किसी भी ब्रांच से कर सकते हैं।
कोर्स कंटेंट- हेल्दी और ग्लोइंग स्किन हमेशा से ही खूबसूरत चेहरे का राज रही है। स्किन कोहेल्दी रखने के लिए दो तत्वों की जरूरत होती है….पहला तेल और दूसरा नमी। इन दोनों की संपूर्ण पूर्ति किस प्रकार और कैसे करनी है… इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारी एकेडमी में स्टूडेंट्स को स्किन की एनाटाॅमी व फिजियोलाॅजी के बारे में बताया जाता है साथ ही उसे कैसे न्यूट्रीशियन देना है, इस बात की भी पूरी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा आईब्रोज की शेप बनाना, अपरलिप, फोरहेड और चिन के अनवांटेड हेयर्स को रिमूव करने के लिए थ्रेड और रेड वैक्स का इस्तेमाल करना, बाॅडी के अलग-अलग पार्ट्स पर वैक्सिंग करने की तकनीक, सावधानी और बारीकियों को समझाना और कब क्या नहीं करवाना या लेना है, इन सभी के बारे में पढ़ाया जाता है। इसके साथ ही उन्हें अनवांटेड हेयर कलर को लाइट करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ब्लीच और उसके अलग-अलग प्रकार के बारे में बताया जाता है। § Read_More....

Read More »

अंडर आम्र्स डार्क को कैसे करें दूर

अधिकांश महिलाएं टाॅपलेस गाउन या स्लीव लैस कपड़े पहना पसंद करती हैं, जब अंडर आर्म क्षेत्र में किसी भी तरह त्वचा टोनिंग या मैलापन हो तो इसे ढककर रखना ही सही है। अगर आप भी काले अंडर आर्म की समस्या से परेशान हैं, तो आइए जानते हैं ‘जन सामना’ की ब्यूटी एडवाइजर सी डब्लु सी ब्यूटी एन मेकअप स्टूडियो की सेलिब्रिटी मेकओवर एक्सपर्ट शालिनी योगेन्द्र गुप्ता से अंडर आर्म को गोरा करने के तरीके के बारे में, ताकि आप भी बिना किसी झिझक के खुल कर टाॅपलेस गाउन या स्लीव लैस कपड़े पहन सकें ।
अंडर आर्म के बालों को हटाने के लिए लोग रेजर का प्रयोग करते हैं। शेविंग करने से थोड़े बाल छूट जाते हैं, जो भद्दे भी लगते हैं जिस कारण से आपके अंडर आर्म डार्क होने लगते हैं। ठीक ऐसा ही बाल साफ करने वाली क्रीम के उपयोग से भी होता है। इसलिए बालों को साफ करने के लिए वैक्सीन करना उचित रहता है, क्योंकि इसमें बाल जड़ से साफ होते हैं और निशान भी नहीं रहता।
मृत कोशिकाओं के कारण डार्क अंडर आर्म, मृत कोशिकाओं के संचय का परिणाम भी हो सकता है। इसलिए अंडर आर्म में डार्क पपड़ी को लैक्टिक एसिड के साथ एक स्क्रब की मदद से धीरे से हटाना चाहिये।
प्रोडक्ट्स का जरूरत से ज्यादा उपयोग करनाः यह पाया गया है कि डियोड्रेंट में मौजूद रासायनिक यौगिकों डार्क अंडर आर्म का कारण बनते हैं। इनका अधिक उपयोग रंजकता ;पिग्मन्टैशनद्ध पैदा करता है, जो स्थायी रूप से गहरे रंग की बगल का कारण बनते हैं। इसलिए बगल की गंध के लिए कोई प्राकृतिक तरीके का प्रयोग करें या फिर संवेदनशील त्वचा वाले डियोड्रोंट प्रयोग करें। § Read_More....

Read More »

Responsive WordPress Theme Freetheme wordpress magazine responsive freetheme wordpress news responsive freeWORDPRESS PLUGIN PREMIUM FREEDownload theme freeDownload html5 theme free - HTML templates Free Top 100+ Premium WordPress Themes for 2017 Null24Món ngon chữa bệnhCây thuốc chữa bệnhNấm đông trùng hạ thảo